महामारी के बीच दांतों के स्वास्थ्य का कैसे रखें ख्याल, जानें दांतों को हेल्दी रखने के आसान टिप्स

Updated at: Aug 31, 2020
महामारी के बीच दांतों के स्वास्थ्य का कैसे रखें ख्याल, जानें दांतों को हेल्दी रखने के आसान टिप्स

कोरोना महामारी के दौरान दातों की देखभाल कैसे करें, यह भी एक बड़ी समस्या बनकर उभरी है। आइए जानते हैं इससे जुड़ी जरूरी बातें। कोरोना महामारी के दौरान दा

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 31, 2020

कोरोना महामारी के चलते डेंटल समस्याओं के लिए डॉक्टर के पास जाना संभव नहीं हो पा रहा है।ऐसे में ओरल हेल्थ का कैसे ध्यान रखें। दांतों को कैसे स्वस्थ बनाए रखें कि कैविटी, मसूड़ों से खून आना जैसी अन्य समस्याओं से छुटकारा मिले। दरअसल दांतों का स्वास्थ्य इस बात पर भी निर्भर करता है कि आप क्या खाते हैं।ऐसे में जानिए कि दांतों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए क्या खाएं और क्या नहीं।

teeth

फूड्स को खाने चाहिए (Foods to eat)

1) चॉकलेट (chocolates)

चॉकलेट में अगर अतिरिक्त शुगर कंटेंट ना मिलाया जाए तो दांतों में कैविटी की परेशानी दूर होती है। क्योंकि यह ओरल बैक्टीरिया नहीं पनपने देती और दांतों पर प्लाक भी नहीं जमता है। दरअसल, कोको में पॉलीफेनोल होते हैं जो कैविटी बनाने वाले बैक्टीरिया को मार देते हैं और दांत और प्लाक के बीच बैरियर का काम करते हैं। 

2) डेयरी प्रोडक्ट (Dairy products)

चीज़, मक्खन विटामिन K2 से भरपूर होते हैं जो कि दांत को स्वस्थ बनाने में कारगर साबित होते हैं। इसके अलावा अंडे, चिकन, बीफ खाने से भी दांतों का स्वास्थ्य बढ़िया रहता है क्योंकि इनमें फास्फोरस पाया जाता है। 

इसे भी पढ़ेंः कीटाणुओं की वजह से जल्‍दी खराब होने लगते हैं बच्‍चों के दांत, जानिए कब और कैसे करें बच्‍चों के दांत साफ

3) फैटी फ़िश (fatty fish)

फ़िश में विटामिन डी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह पोषक तत्व शरीर के हर सिस्टम के लिए जरूरी होता है। साथ ही यह दांतों को टूटने से बचाता है। विटामिन डी विटामिन ए और K2 के साथ मिलकर दांतों में कैल्शियम पहुंचाता है और एनेमल (enamel) को अंदर से मजबूत करता है। फ़िश में ओमेगा 3s पाया जाता है जो कि मसूड़ों के स्वास्थ्य को बेहतर करता है और मसूड़ों में होने वाली परेशानियों को दूर करता है। 

4) हरी सब्जियां (Leafy greens)

हरी सब्जियों में प्री-बायोटिक्स होते हैं जिससे मुंह में हेल्दी ओरल बैक्टीरिया पनपते हैं। हाई कार्बोहायड्रेट फूड्स की अपेक्षा हरी सब्जियां खाने से मुंह में नाइट्राट- कम करने वाले बैक्टीरिया पनपते हैं। हरी सब्जियां जैसे पालक, मेथी आदि ना सिर्फ दांतों की क्लीनिंग में मददगार साबित होती हैं बल्कि यह स्वस्थ ओरल माइक्रोबायोम भी बनाती हैं। 

5)  खट्टे फल (Grapefruit and oranges)

अंगूर और संतरा दोनों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। जो मुंह के भीतर रक्त वाहिकाओं और संयोजी ऊतकों को मजबूत करता है। यह मसूड़ों में सूजन की गति को धीमा कर देता है, अन्यथा मसूड़ों की बीमारी का कारण बन सकता है।

इसे भी पढ़ेंः मसूड़ों से आने वाले खून को रोकने और दांतों को मजबूत बनाने में मदद करते हैं ये 5 घरेलू उपाय

tooth

क्या ना खाएं/पिएं

सूखे फल (Dried fruit)

फल स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं लेकिन सूखे फलों से सारा पानी निकल जाता है और चबाने के लिए बचता है केवल चिपचिपा कैरामल। जिससे ओरल माइक्रोबायोम में शक्कर पहुँचती है। और कैविटी बनने से दांतों में परेशानियां उत्पन्न होने लग जाती है। 

सोडा (Soda)

हाई शुगर कंटेंट के अलावा जीरो कैलोरी का दावा करने वाले सोडा में भी ज्यादा मात्रा में एसिड होता है जिससे दांत टूटने, मसूड़ों में जलन जैसी परेशानियां होने लगती है। अगर आप सोडा पीना चाहते हैं तो इसे कम समय के लिए पीजिये और फिर 45 मिनट बाद दांतों को ब्रश कर लीजिए ताकि इससे नुकसान ना पहुंचे। 

बीन्स और दाल (Beans and lentils)

बीन्स और दालों को स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना जाता है लेकिन इनमें मौजूद फायटिक एसिड से दांत टूटने की संभावना बढ़ जाती है।फायटिक एसिड कैल्शियम, फोस्फोरस, विटामिन डी और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्वों से मिल जाता है जिसे दांत अवशोषित नहीं कर पाते और नतीजतन कैविटी हो जाती है। दालों और बीन्स से फायटिक एसिड की मात्रा कम करने के लिए इन्हें रात भर भिगोने के बाद इस्तेमाल करें।स्प्राउट्स वाले अनाज में भी फायटिक एसिड की कम पाई जाती है।

Read More Article on Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK