ग्लूट (हिप्स) और जांघों की मसल्स को मजबूत बनाते हैं ये एक्सरसाइज, यासमीन कराचीवाला से जानें करने का सही तरीका

Updated at: Jun 23, 2020
ग्लूट (हिप्स) और जांघों की मसल्स को मजबूत बनाते हैं ये एक्सरसाइज, यासमीन कराचीवाला से जानें करने का सही तरीका

सेलेब्रिटी फिटनेस ट्रेनर यासमीन कराचीवाला इंस्टाग्राम पर अक्सर हेल्दी टिप्स शेयर करती हैं। इस बार उन्होंने ग्लूट को मजबूत बनाने का तरीका शेयर किया है।

Pallavi Kumari
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Pallavi KumariPublished at: Jun 23, 2020

चाहे आप ऑफिस जा रहे हों या घर से काम कर रहे हों, समग्र स्वास्थ्य के लिए खुद को फिट रखना बेहद जरूरी है। वास्तव में, शारीरिक गतिविधि की कमी न केवल आपको जीवनशैली से जुड़ी बीमारियों के जोखिम में डालती है, बल्कि शरीर को चलने-फिरने जैसी गतिविधियों के लिए भी कमजोर कर देती है। अरअसल शारीरिक गतिविधियों को कम करने से आपके शरीर को बहुत नुकसान होता है। शरीर की मांसपेशियां और हड्डियां कमजोर होने लगती हैं और पीछे की तरफ या ग्लूट की मांसपेशियों को भी कमजोर करती है, जो नितंबों को आकार में रखने और स्थिर गति के साथ मदद के लिए जिम्मेदार होती हैं। इसलिए अगर आप अपने ग्लूट्स (हिप्स) को मजबूत बनाए रखना चाहते हैं, तो आपको ग्लूट्स एक्सरसाइज रोजाना करना चाहिए। पिलेट्स ट्रेनर यासमीन कराचीवाला ने हाल ही में तीन सरल ग्लूट-स्ट्रेंथिंग एक्सरसाइज अपने इंस्टा पर शेयर किए हैं, जिन्हें किसी उपकरण के बिना आप अपने घर में कर सकते हैं।

insideyasminkarachiwala

ग्लूट्स को मजबूत बनाने की आवश्यकता क्यों है?

सेलेब्रिटी फिटनेस ट्रेनर यासमीन कराचीवाला इंस्टाग्राम पोस्ट में बताया क्यों ग्लूट्स को मजबूत बनान बेहद जरूरी है। दरअसल ग्लूट की मांसपेशियां शरीर को स्थिर बनाने, संतुलन और शक्ति के साथ मदद करती हैं। मजबूत ग्लूट्स आपको बेहद एक्टिव बनाती है और शरीर को एक स्थिरता देती है। इसके अलावा शरीर के निचले हिस्से को मजबूत बनाती है और आपके घुटनों और पीठ के निचले हिस्से को अनावश्यक तनाव से बचाती है। 

 
 
 
View this post on Instagram

Here's a fun fact: Your glute muscles actually help with hip stabilization, balance and power. Strong medial glutes guide you through every step, stabilizing you, propelling you, and protecting your knees and lower back from unnecessary strain by taking on much of the workload involved in lower body movement. That includes any side-to-side action that you might take in an agility workout�� These 3 exercises will help with glute activation, glute activation, hip strengthening, as well as shoulder and torso stability. How to: Position yourself on all fours, making sure the wrist are in line with shoulders and knees hip width apart. 1. Straight Leg Lift and Lower : 3 sets x 15 reps. 2. Bent Knee Lift (Doggy Lift) - 3 sets x 15 reps. 3. Straight Leg Circles 3 sets x 10 reps on each direction. #WorkoutFromHome #GlutesExercises

A post shared by Yasmin’s Body Image (@yasminsbodyimage) onMay 5, 2020 at 2:38am PDT

इसे भी पढ़ें : बैली फैट को कम करने में कारगार है Bird Dog Exercise, जानें क्या है और इसे करने का सही तरीका

सेलेब्रिटी फिटनेस ट्रेनर यासमीन कराचीवाला ने बताया ये 3 एक्सरसाइज (Hip Strengthening Exercises) 

स्ट्रेट लेग लिफ्ट एंड लोअर (Straight Leg Lift and Lower)

ये एक्सरसाइद विशेषतौर पर शरीर के निचले हिस्से को मजबूत बनाने के लिए ही है। इससे न सिर्फ आप का हिप मजबूत बनते हैं बल्कि आपके जांघों की मांसपेशियों को भी मजबूती मिलती है। इसे करने के लिए

  • -अपने आप को पैर और हाथ की मदद से ऊपर उठा लें।
  • -सुनिश्चित करें कि कलाई कंधों और घुटनों के साथ-साथ कूल्हे की चौड़ाई के अनुरूप हों।
  • - फिर एक पैर को एक सीधी रेखा में इस तरह उठाएं कि वह जमीन के समानांतर हो और उसे नीचे कर दें।
  • - इसे दूसरे पैर के साथ भी करें।
  • - इसके 3 सेट करें।

डॉगी लिफ्ट (Bent Knee Doggy Lift)

इससे शरीर को ताकत मिलती है और काम करने की क्षमता बढ़ती है। इसे नियमित करने से ऊर्जा का स्तर और प्रतिरोधक क्षमता दोनों में इजाफा होता है। यह स्टेमिना बढ़ाने में भी मददगार हैं। इसे करने के लिए

  • -अपने आप को पैर और हाथ की मदद से ऊपर उठा लें।
  • - सुनिश्चित करें कि कलाई कंधे और घुटनों की कूल्हे-चौड़ाई के साथ अलग हों।
  • - एक पैर उठाएं और इसे घुटनों पर मोड़ें जैसे कि यह जमीन पर 90 डिग्री पर है। 
  • -मुड़े हुए पैर को हवा में ऊपर उठाएं। दूसरे पैर से दोहराएं।

इसे भी पढ़ें : ये 3 प्रोटीन शेक वर्कआउट के बाद है जरूरी, जानें घर पर बनाने का आसान तरीका

सर्किल एक्सरसाइज 

ये एक्सरसाइज करने से आपके हाथ, कंधे, पैर और कोर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। साथ ही ग्लूट्स में दर्द, हाथ-पैरों में होने वाले दर्द और ऐंठन को कम करने में भी ये फायदेमंद होता है। इसे करने के लिए

  • -अपने आप को पैर और हाथ की मदद से ऊपर उठा लें और सुनिश्चित करें कि कलाई कंधे व घुटने अलग हों।
  • - एक पैर को एक सीधी रेखा में इस तरह उठाएं कि वह जमीन के समानांतर हो और पैर को सक्रिन बनाते हुए घुमाएं।-इसी तरह पैरों को कभी एंटी क्लॉक वाइस तो कभी क्लॉक वाइस घुमाएं।

Read more articles on Exercise-Fitness in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK