कहीं आपके हैंड सैनिटाइजर में भी तो मेथनॉल (Methanol) नहीं? FDA की चेतावनी जानलेवा हो सकता है इसका प्रयोग

Updated at: Jun 26, 2020
कहीं आपके हैंड सैनिटाइजर में भी तो मेथनॉल (Methanol) नहीं? FDA की चेतावनी जानलेवा हो सकता है इसका प्रयोग

सैनिटाइजर खरीदने से पहले जांच लें कहीं उसमें मेथनॉल तो नहीं? FDA ने मेथनॉल वाले सैनिटाइजर्स को जानलेवा बताया है। जानें कौन से सैनिटाइजर्स हैं सुरक्षित

Anurag Anubhav
लेटेस्टWritten by: Anurag AnubhavPublished at: Jun 26, 2020

कोरोना वायरस महामारी के आने के बाद से हैंड सैनिटाइजर्स का महत्व बढ़ गया है। WHO सहित दुनियाभर के हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि 60% एल्कोहल वाले हैंड सैनिटाइजर के प्रयोग से वायरस को मारा जा सकता है और कोरोना वायरस को फैलने से रोका जा सकता है। यही कारण है कि अचानक से मार्केट में हैंड सैनिटाइजर्स के हजारों नए ब्रांड आ गए हैं, जो मुनाफे के चक्कर में नियमों को ताक पर रखकर लोगों की सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। दरअसल कुछ कंपनियां हैंड सैनिटाइजर्स में एल्कोहल के नाम पर एल्कोहल का ऐसा रूप मिला रही हैं, जो खतरनाक होता है और जानलेवा भी हो सकता है। यही कारण है कि U.S. Food and Drug Administration (FDA) ने ऐसे हैंड सैनिटाइजर्स के इस्तेमाल के खिलाफ चेतावनी जारी की है। फिलहाल FDA ने मैक्सिको में बने 9 हैंड सैनिटाइजर्स के ब्रांड्स को मेथनॉल के प्रयोग के लिए चेतावनी भेजी है।

आप भी हैंड सैनिटाइजर्स को लेकर सचेत हो जाएं और इन्हें खरीदने से पहले इसके पीछे यह जरूर पढ़ लें कि इसमें किस तरह के एल्कोहल का किस मात्रा में प्रयोग किया गया है।

using hand sanitizer

क्यों खतरनाक हैं मेथनॉल वाले हैंड सैनिटाइजर्स?

National Institutes of Health (NIH) के अनुसार मेथनॉल एल्कोहल का एक ऐसा रूप है, जो बहुत ज्यादा जहरीला होता है। इसका इस्तेमाल आमतौर पर रेसिंग गाड़ियों के ईंधन में और एंटीफ्रीज के तौर पर किया जाता है। FDA ने बताया है कि मेथनॉल इतना खतरनाक हो सकता है कि इसे त्वचा पर लगाने से ये सीधे त्वचा के भीतर चला जाता है और गंभीर मामलों में ये जानलेवा भी हो सकता है। हाथ पर इस सैनिटाइजर को लगाने से जहरीला प्रभाव फैल सकता है। ऐसे एल्कोहल को सूंघना भी खतरनाक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: CDC ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिया सुझाव, महामारी के दौरान घर से निकलें तो ये 3 चीजें जरूर रखें अपने साथ

कितना खतरनाक हो सकता है मेथनॉल वाला हैंड सैनिटाइजर?

FDA ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि मेथनॉल वाले हैंड सैनिटाइजर्स के प्रयोग से ये समस्याएं या खतरे हो सकते हैं।

  • चक्कर आना
  • उल्टी आना
  • सिर दर्द होना
  • आंखों से धुंधला दिखाई देना
  • हमेशा के लिए अंधापन
  • शरीर में कंपकंपी
  • कोमा में भी जा सकता है व्यक्ति
  • नर्वस सिस्टम परमानेंट डैमेज हो सकता है
  • व्यक्ति की मौत हो सकती है

कौन से हैंड सैनिटाइजर्स हैं इस्तेमाल के लिए सुरक्षित?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने एक प्रश्न के जवाब में बताया है कि अभी तक प्राप्त साक्ष्यों के आधार पर एथेनॉल (Ethanol) और आइसोप्रोपेनॉल (Isopropanol)- सिर्फ यही हो एल्कोहल ऐसे हैं, जो हैंड सैनिटाइजर के लिहाज से सुरक्षित हैं। इसके अलावा WHO यह भी कहता है कि सभी तरह के एल्कोहल ज्वलनशील होते हैं, यानी इनमें तुरंत आग पकड़ती है। इसलिए हैंड सैनिटाइजर का प्रयोग करने वाले व्यक्ति को सैनिटाइजर के प्रयोग के तुरंत बाद आग से दूर रहना चाहिए। खासकर ऐसे लोग जो धूम्रपान (Smoking) करते हैं, वो सैनिटाइजर्स के प्रयोग को लेकर जरूर सावधानी बरतें, वर्ना आग का खतरा रहता है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस के सामान्य लक्षण अचानक कैसे गंभीर लक्षणों में बदल जाते हैं? ये 4 लक्षण दिखें तो न करें लापरवाही

hand sanitizers uses warning

फर्जी दावों वाले सैनिटाइजर्स से रहें सावधान

FDA की रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि हैंड सैनिटाइजर्स मौजूदा वक्त की जरूरत हैं। इसलिए कुछ लोग फर्जी दावे करके अपने प्रोडक्ट को बेचकर ज्यादा मुनाफा कमाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अगर कोई सैनिटाइजर ऐसा दावा करता है कि उसका प्रोडक्ट इस्तेमाल के बाद 24 घंटे तक सुरक्षा देगा, तो ये दावा पूरी तरह निराधार है। फिलहाल हैंड सैनिटाइजर्स सिर्फ तत्काल प्रयोग करने पर ही कारगर पाया गया है।

अगर आपके आसपास भी ऐसा फर्जी दावे वाले प्रोडक्ट्स बिक रहे हैं या आप ऐसे हैंड सैनिटाइजर्स पाते हैं, जिनमें मेथनॉल का प्रयोग है, तो इसकी सूचना तत्काल 1800-11-4000 या 1800-11-4424  टोल फ्री नंबर पर दें।

Read More Articles on Health News in Hindi


Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK