Fatty Liver: इन 5 प्राकृतिक तरीकों से करें फैटी लिवर का उपचार, हमेशा सलामत रहेगा आपका Liver

Updated at: Aug 27, 2020
Fatty Liver: इन 5 प्राकृतिक तरीकों से करें फैटी लिवर का उपचार, हमेशा सलामत रहेगा आपका Liver

फैटी लिवर रोग का कोई खास उपचार नहीं है, मगर जीवनशैली में बदलाव कर प्राकृतिक तरीकों से फैटी लिवर का उपचार किया जा सकता है। आइए जानते हैं।

Atul Modi
अन्य़ बीमारियांWritten by: Atul ModiPublished at: Aug 27, 2020

फैटी लिवर रोग, लिवर की कोशिकाओं में फैट (वसा) जमा होने के बाद की स्थिति है, यह लिवर में सूजन भी उत्‍पन्‍न करता है। फैटी लिवर डिजीज आमतौर पर शराब के अत्‍यधिक सेवन से होने वाली बीमारी है, जिसे एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग कहते हैं। मगर यह कई बार शराब न पीने के बावजूद हो सकती है, जिसे नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग कहा जाता है। यानी हम ये कह सकते हैं कि, अधिकांश मामलों में खराब जीवनशैली ही फैटी लिवर का कारण बनती है। फैटी लिवर की वजह आनुवंशिक या दवाओं का अत्‍यधिक सेवन भी सकता है। फैटी लिवर, गंभीर स्थितियों में लिवर सिरोसिस और लिवर कैंसर में भी तब्‍दील हो सकता है। फैटी लिवर 

आमतौर पर फैटी लिवर का विशेष उपचार नहीं है। एक्‍सपर्ट लक्षणों के अनुसार, उपचार करते हैं। मगर कुछ प्राकृतिक तरीके हैं, जिनकी मदद से समय रहते फैटी लिवर का उपचार किया जा सकता है। जिसके बारे में हम आपको यहां विस्‍तार से बता रहे हैं।

-fatty-liver

शराब से दूर बनाएं - Avoiding Alcohol

यदि आप एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग है तो आपको शराब बिल्‍कुल भी नहीं पीना चाहिए। लगातार शराब पीने से आपको सिरोसिस या एल्‍कोहॉलिक हेपेटाइटिस हो सकता है। शराब पीना नॉन-एल्‍कोहॉलिक फैटी लिवर रोग (NAFLD) में भी यह नुकसानदायक है। इसके अलावा, सॉफ्ट ड्रिंक्‍स जैसे मीठे पेय से दूर रहना चाहिए। इनमें शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है। जो मोटापा का कारण बनता है। ऐसे पेय पदार्थ लिवर को नुकसान पहुंचाते हैं।

वजन नियंत्रित करें - Weight Management

फैटी लिवर की बीमारी वाले लोगों के लिए वजन कम करना आसान नहीं है, इसलिए डॉक्टर या डाइटिशियन द्वारा डाइट प्‍लान का सेवन करना चाहिए। धीरे-धीरे वजन कम करना महत्वपूर्ण है। हालांकि, अचानक वजन कम होना स्थिति को बदतर बना सकता है। 

एक्‍सरसाइज करें - Exercising 

यहां तक कि अगर यह सीधे वजन घटाने में परिणाम नहीं करता है, तो यह बहुत ही सार्थक है क्योंकि फैटी लीवर रोग के एक प्रमुख कारक इंसुलिन प्रतिरोध को कम करने के लिए व्यायाम दिखाया गया है। दोनों एरोबिक व्यायाम और प्रतिरोध प्रशिक्षण, जैसे कम प्रभाव भार प्रशिक्षण, मदद करेंगे।

इसे भी पढ़ें: फैटी लिवर के संकेत हैं हर समय थकान और कमजोरी, इससे बचने के लिए डाइट में ये 4 बदलाव

ब्‍लड शुगर नियंत्रित रखें - Control Blood Sugar

शुगर लेवल का बढ़ना कई रोगों को ट्रिगर कर सकता है। हाई ब्‍लड शुगर शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। ऐसे में अगर आपको फैटी लिवर है और डायबिटीज के पेशेंट हैं तो अपने ब्‍लड शुगर को नियंत्रित रखें।

इसे भी पढ़ें: पेट का हमेशा फूले रहना लिवर में सूजन का है संकेत, जानें कारण और निदान के उपाय

उच्च कोलेस्ट्रॉल का इलाज करें - Treating high cholesterol 

आपका डॉक्टर आहार और जीवनशैली में बदलाव के अलावा आपके कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए दवाओं का सुझाव दे सकता है। उच्‍च कोलेस्‍ट्रॉल लिवर को नुकसान पहुंचा सकता है। 

फैटी लिवर में ऐसी दवाओं से बचना चाहिए जो लिवर को प्रभावित कर सकते हैं, जैसे कि कुछ स्टेरॉयड। ऐसी दवाएं न लें जो आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित नहीं की गई हैं। फैटी लिवर की बीमारी के इलाज के लिए कई दवाएं बताई गई हैं, हालांकि इन पर शोध जारी है। इन्हें कभी-कभी विशेष मामलों में डॉक्टरों द्वारा निर्धारित किया जाता है।

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK