FB QNA : वजन घटाने, पैरों में सूजन और पीरियड्स से जुड़े फेसबुक पर पूछे गए आपके सवाल और एक्‍सपर्ट के जवाब

Updated at: Jun 24, 2020
FB QNA : वजन घटाने, पैरों में सूजन और पीरियड्स से जुड़े फेसबुक पर पूछे गए आपके सवाल और एक्‍सपर्ट के जवाब

यहां onlymyhealth के पाठकों द्वारा पूछे गये सवालों के जवाब हैं, जिसमें पैरों में सूजन, वजन घटाने और पीरियड्स से जुड़े सवाल शामिल हैं। 

Sheetal Bisht
अन्य़ बीमारियांWritten by: Sheetal BishtPublished at: Jun 24, 2020

onlymyhealth पिछले कई सालों से अपने पाठकों के बीच एक लोकप्रिय हेल्‍थ और वैलनेस पोर्टल है। जिसमें आपको स्‍वस्‍थ, लंबे जीवन जीने के साथ कई बीमारियों से बचाव के लिए टिप्‍स और जानकारी प्रदान की जाती हैं। हर सप्‍ताह ओन्‍लीमायहेल्‍थ अपने रीडर्स के फेसबुक पर पूछे गए सवालों के जवाब अपने हेल्‍थ एक्‍सपर्ट्स के माध्‍यम से देने का प्रयास करता है। जिसमें हमारा पूरा प्रयास होता है कि रीडर्स तक सही और सटीक जानकारी पहुंचाई जाए। 

इस सप्‍ताह FB QNA यानि फेसबुक के सवाल-जवाबों में कुछ रीडर्स के सवाल और एक्‍सपर्ट के जवाब शामिल हैं। आइए यहां आप इस सप्‍ताह पूछे गए सवाल और एक्‍सपर्ट्स के जवाब जानें और यदि आप अपने सवाल भेजना भूल गए हैं, तो आप भी अपने सवाल भेजें, उन्‍हें अगले FB QNA में शामिल किया जाएगा। 

सवाल 1 -  पैरों में सूजन या स्‍वैलिंग के उपाय 

रूपांशी शर्मा पूछते हैं- पैरों में आने वाली सूजन या स्‍वैलिंग के उपाय बताइए। 

एक्‍सपर्ट का जवाब: एक्‍सपर्ट बताते हैं कि पैरों में सूजन के कई कारण हो सकते हैं। पैरों व टखनों की सूजन के कुछ आम कारण हो सकते हैं, जिसमें सर्दी या ठंड, प्रेग्‍नेंसी, चोट, इंफेक्‍शन, दिल, लिवर या किडनी में समस्‍या और दवाओं के साइड इफेक्‍ट्स आदि के कारण भी पैरों में सूजन हो सकती है। कई मामलों में पैर की सूजन हड्डी की चोट या एडिमा के कारण भी हो सकती है। एडिमा शरीर में तरल पदार्थ भरने के कारण होता है। ऐसे में बेहतर है कि आपको यदि समस्‍या लंबे समय से बनी है, तो आप पहले पैरों में सूजन का असल कारण जानें। ऐसा इसलिए सुझाव दिया जाता है ताकि आप समस्‍या का समाधान बेहतर तरीके से करें। यदि आपके पैरों में सूजन का कारण एडिमा है, तो इसके कारण और घरेलू उपाय यहां दिए गए हैं, जानने के लिए इसे भी पढ़ें: शरीर के विभिन्‍न अंगों में होने वाली सूजन हो सकती है एडिमा, इन 4 घरेलू उपायों से पाएं राहत

Feet Swelling Remedies

कुछ महिलाओं में गर्भावस्‍था के दौरान पैरों में सूजन होना आम बात है। क्‍योंकि गर्भावस्‍था के दौरान शरीर में कई हार्मोनल बदलाव आते हैं। इसके अलावा, गर्भाशय बढ़ने के कारण भी पैरों में सूजन आ सकती है। यहां जानिए कि पैरों की सूजन के कारण क्‍या हैं और इनसे कैसे निपटा जा सकता है। 

इसे भी पढ़ें: गर्भावस्था के दौरान सूजन कम करने के उपाय

सवाल 2 - वजन कम करने के उपाय 

मौहम्‍मद फैजान खान और जैकी चौधरी पूछते हैं- वजन कम करने के कुछ असरदार उपाय बताएं। 

एक्‍सपर्ट का जवाब: डॉक्‍टर प्रीती नंदा सिब्‍बल, जो कि एक डायटीशियन हैं, बताती हैं कि हमें अपने वजन को कम करने के लिए अपने खानपान और एक्‍सरसाइज पर सबसे अधिक ध्‍यान देना चाहिए। लेकिन सवाल ये उठता है कि वजन कम करने के लिए हमें क्‍या खाना चाहिए या खाने में क्‍या बदलाव लाने चाहिए? बहुत छोटी-छोटी चीजें हैं, जिनका आप ध्‍यान रखेंगे, तो आपका वजन भी कम होगा और आप हेल्‍दी भी महसूस करेंगे। ऐसा इसलिए क्‍योंकि मोटापा आपको कई बीमारियों के जोखिम में डाल देता है जैसे- डायबिटीज, पीसीओडी, हाइपरटेंशन, हृदय रोग, डिप्रेशन आदि। इसलिए अपने वजन को कंट्रोल करने के लिए आप कुछ छोटी-छोटी बातों का ध्‍यान रखें। प्रीति नंदा बताती हैं कि वजन घटाने के लिए आपको खाने में कॉम्‍प्‍लेक्‍स कार्बोहाइड्रेट्स, साबुत अनाज, जैसे रागी को अपनी डाइट में शामिल करना है। रागी एक कॉम्‍प्‍लेक्‍स कार्बोहाइड्रेट्स फूड है, जो लो-ग्‍लासेमिक इंडेक्‍स और कैल्शियम से भरपूर है। शुगरी ड्रिंक्‍स और स्‍वीट्स में कटौती के साथ गुड फैट लेने चाहिए। इसके अलावा कुछ घरेलू उपाय भी हैं, जो आपको वजन घटाने में काफी मददगार हैं, जैसे- नींबू, एप्‍पल साइडर विनेगर, तेजपत्‍ता आदि। वजन घटाने के घरेलू नुस्‍खों के बारे में जाननें के लिए इस वीडियो को देखें। 

सवाल 3 - पीरियड्स या मासिक धर्म में 3 से 4 महीने का गैप क्‍यों होता है। 

सिंकंदर राज पूछते हैं- अनियमित पीरियड्स या पीरियड्स में 3 से 4 महीने का गैप क्‍यो होता है।

एक्‍सपर्ट के जवाब:  डॉक्‍टर अरूणा, स्‍त्री एंव प्रसूति रोग विशेषज्ञ बताती हैं, अनयिमित पीरियड्स के कई कारण हो सकते हैं। वैसे तो आमतौर पर देखा जाए, तो यह हार्मोनल बदलावों और असंतुलन के कारण होता है। लेकिन महीने में 2 बार पीरियड्स आना या फिर 3 से 4 महीनों तक पीरियड्स न आने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। ए‍क महीने में 2 बार पीरियड्स आना या फिर 3 से 4 महीने तक पीरियड्स न होना पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम या पीसीओएस का कारण हो सकता है। इसके अलावा, यह समस्‍या उन महिलाओं के साथ भी हो सकती है, जो मेनोपॉज की उम्र के करीब हैं। पीरियड्स से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी के लिए आप यहां दिए गए वीडियो को देखें। 

सवाल 4 - सफेद बालों को नेचुरल तरीके से काला करने के उपाय 

रानी करन पूछती हैं- सफेद बालों को नेचुरल तरीके से कैसे काला करें?

एक्‍सपर्ट के जवाब: यदि आपके बाल समय से पहले सफेद हो रहे हैं, तो एक्‍सपर्ट यही एडवाइज देते हैं कि सबसे पहले आप अपने खानपान और लाइफस्‍टाइल पर ध्‍यान दें। इसके अलावा आप सफेद बालों को नेचुरल तरीके से काला करने के लिए यहां दिए गए घरेलू उपाय अपनाएं। 

1- आप अपने बालों पर प्‍याज का रस लगा सकते हैं। आप प्‍याज को छीलकर पीस लें और उसके पेस्‍ट को बालों पर लगाएं। इससे आपके बालों का झड़ना और सफेद बालों की समस्‍या दूर होगी। 

इसे भी पढ़ें: सफेद बालों को काला करने के लिए रामबाण इलाज है आलू का छिलका, जानें हेयर पैक बनाने की विधि

2- आप अपने सफेद बालों को काला करने के लिए अपने बालों में आलू का हेयर पैक बनाकर भी लगा सकते हैं। कच्‍चा आलू आपके बालों को सफेद होने से रोकेगा और इस समस्‍या से छुटकारा दिलाएगा। आप आलू के छिलकों को उबालकर पीस लें, फिर आप इसमें तिल का तेल, लौंग और कपूर को पीसकर डाल लें। इस हेयर मास्‍क को लगाने से आपके सफेद बाल काले हो जाएंगे। 

3- आप सफेद बालों को काला करने के लिए आप 2 चम्‍मच आंवला पाउडर के साथ आधा कप दही 1 चम्‍मच काली मिर्च और नारियल तेल डालकर अपने बालों में लगाएं। यह हेयर पैक बालों के सफेद होने से लेकर बालों के झड़ने तक की समस्‍या को दूर करने में मदद करेगा। 

Read More Article On Other Diseases In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK