कर रही हैं मां बनने की प्लानिंग? डॉक्टर से जानें प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी सवालों के जवाब

हेल्दी प्रेग्नेंसी प्लान करने के लिए डॉ प्राची बेनारा से जानें प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी जरूरी सवालों के जवाब।

Prins Bahadur Singh
महिला स्‍वास्थ्‍यReviewed by: डॉ. प्राची बेनारा, गायनेकोलॉजिस्ट और इंफर्टिलिटी स्पेशलिस्टPublished at: Jul 27, 2021Written by: Prins Bahadur Singh
Updated at: Jul 27, 2021
कर रही हैं मां बनने की प्लानिंग? डॉक्टर से जानें प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी सवालों के जवाब

मां बनने का सपना हर महिला जरूर देखती है। गर्भ में पल रहे बच्चे का पोषण करना और अंत में उसे जन्म देना अपने आप में बहुत बड़ा अनुभव है। औसतन 9 महीने गर्भ में बच्चे का पोषण और विकास होता है जिसके बाद आखिरी माह में गर्भवती महिला बच्चे को जन्म देती है। हर महिला का ये सपना होता है कि उसके आंगन में बच्चे की किलकारियां गूंजे। इसके लिए पहले से ही महिलाएं तमाम तैयारी शुरू कर देती हैं। अगर आप भी मां बनने की तैयारी कर रही हैं और जल्द ही प्रेग्नेंट होना चाहती हैं तो यह लेख आपके लिए है। अगर आप प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रही हैं तो सबसे पहला सवाल यह उठता है कि क्या आप इसके लिए शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से तैयार हैं? अगर आप प्रेग्नेंसी के लिए मानसिक और शारीरिक रूप से तैयार हैं तो इसका लाभ मिलता है। आप आप ही कर रही हैं मां बनने की प्लानिंग तो आइये डॉ प्राची बेनारा, गायनेकोलॉजिस्ट एंड आईवीएफ स्पेशलिस्ट से जानते हैं प्रेगनेंसी के पहले मन में उठने वाले सभी सवालों के जवाब।

स्त्री रोग विशेषज्ञ (गायनेकोलॉजिस्ट) से ज्यादातर पूछे जाने वाले सवाल (Most Commonly Asked Questions To a Gynaecologist)

डॉ प्राची के मुताबिक प्रेग्नेंसी की प्लानिंग करने से पहले अधिकांश महिलाओं के मन में ये सवाल जरूर रहते हैं। डॉ प्राची ने बताया कि उनके अनुभव में ज्यादातर महिलाओं ने प्रेग्नेंसी की प्लानिंग करने से पहले उनसे ये सवाल जरूर पूछे हैं।

1. अगर मैं प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रही हूं तो मुझे क्या खाना चाहिए?

2. गर्भवती होने की कोशिश करते समय मुझे क्या नहीं करना चाहिए?

3. गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने का सही समय कब है?

4. प्रेग्नेंट होने से पहले मुझे कौन से परीक्षण करने चाहिए?

5. मुझे कैसे पता चलेगा कि मैं गर्भवती (प्रेग्नेंट) हूं?

6.  गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने में दिक्कत होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

Healthy-Pregnancy-Expert-Tips

आइये जानते हैं इन सवालों के जवाब 

1. अगर मैं प्रेग्नेंसी की प्लानिंग कर रही हूं तो मुझे क्या खाना चाहिए? ( What Should I Eat if I am Planning a Pregnancy?)

प्रेग्नेंसी की प्लानिंग करने से पहले आपको प्रेग्नेंसी के दौरान किन चीजों का सेवन करना चाहिए इसके बारे में जानकारी होनी चाहिए। इस दौरान स्वस्थ और संतुलित आहार लेना बहुत जरूरी है। आपको इस दौरान कैलोरी का एक बड़ा हिस्सा फल, हरी पत्तेदार सब्जियां, फलियां, लीन प्रोटीन, डेयरी उत्पाद और साबुत अनाज से लेना चाहिए।

  • बिना पाश्चुरीकृत दूध, कच्चा मांस और बिना धुले फलों और सब्जियों से दूर रहें।
  • बीएमआई अनुपात के हिसाब से शरीर होने पर प्रेग्नेंट होना आसान हो जाता है। यह मधुमेह, उच्च रक्तचाप और मुश्किल प्रसव होने की संभावना को कम करने का काम करता है।
  • दौड़ना, तैरना और योग जैसे व्यायाम का नियमित अभ्यास भी फायदेमंद होता है। यह हैप्पी हार्मोन को बढ़ाने और तनाव को कम करने में भी मदद करते हैं।
  • फोलिक एसिड हर उस महिला के लिए जरूरी है जो प्रेग्नेंसी प्लानिंग कर रही है। 
  • प्रेग्नेंसी की प्लानिंग के दौरान फोलिक एसिड की गोलियां लेना फायदेमंद होता है।

Healthy-Pregnancy-Expert-Tips

2. गर्भवती होने की कोशिश करते समय मुझे क्या नहीं करना चाहिए? (What Should I Avoid While Trying to Get Pregnant?)

प्रेग्नेंसी प्लान करते समय आपको धूम्रपान और शराब आदि का सेवन नहीं करना चाहिए। गर्भावस्था में धूम्रपान गर्भपात, बच्चे के विकास में दिक्कत और समय से पहले प्रसव का कारण हो सकता है। गर्भावस्था के पहले तीन महीनों में शराब के सेवन से गर्भपात हो सकता है। इससे बच्चे में विकास में भी दिक्कत हो सकती है। मां द्वारा शराब के सेवन से भ्रूण अल्कोहल स्पेक्ट्रम बच्चे में सीखने और विकास संबंधी विकारों का कारण बन सकता है। इसके अलावा प्रेग्नेंसी की प्लानिंग से पहले यह जान लेना जरूरी है कि प्रेग्नेंट होने के बाद पालतू जानवरों के मल से दूर रहना चाहिए। इस दौरान पालतू जानवरों के कूड़े को साफ करने से खतरनाक बग, टोक्सोप्लाज्मा के संपर्क में आ सकती हैं जिसकी वजह से कई दिक्कतें हो सकती हैं। गर्भवती होने के बाद खुद से किसी भी प्रकार की दवा का सेवन करने से बचें, किसी भी दवा का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

इसे भी पढ़ें : ओवुलेशन के बाद प्रेग्नेंसी के लक्षण: जानें शरीर में कौन से बदलाव देते हैं प्रेग्नेंट होने का संकेत

Healthy-Pregnancy-Expert-Tips

3.  गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने का सही समय कब है? (When is The Right Time to Try to Get Pregnant?)

गर्भवती होने की कोशिश करते समय आपको सबसे पहले अपने मासिक धर्म (पीरियड्स) के बारे में जानना चाहिए। अपने पीरियड्स के शुरू और खत्म होने के दिनों को रिकॉर्ड करना शुरू करें। एक माहवारी की शुरुआत और अगले महीने की शुरुआत के बीच के दिनों की संख्या ही आपका फर्टाइल पीरियड होता है। फर्टाइल पीरियड आम तौर पर आपके पीरियड्स के चक्र के 10 दिन से 18 तक होते हैं। याद रखें, इस दौरान पहला दिन आपके मासिक धर्म (पीरियड्स) का पहला दिन है। फर्टाइल पीरियड के दौरान गर्भ धारण करने की सबसे अधिक संभावना होती है, और आपको इन दिनों निश्चित रूप से प्रयास करना चाहिए। यदि आपके पीरियड्स अनियमित हैं तो आप पर यह नियम लागू नहीं होगा। ऐसी स्थिति में अपने फर्टाइल दिनों को समझने के लिए स्त्री रोग विशेषज्ञ से सलाह लें।

इसे भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी के लिए क्यों जरूरी है प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन? जानें इसे बढ़ाने के 4 नेचुरल उपाय

4. प्रेग्नेंट होने से पहले मुझे कौन से परीक्षण करने चाहिए? (What Tests Should I Do Before Planning a Pregnancy?)

प्रेग्नेंट होने से पहले आपको अपने शरीर के स्वास्थ्य की सामान्य जांच जरूर करा लेनी चाहिए। इस जांच में ब्लड ग्रुप टेस्ट, थायरॉइड और शुगर लेवल आदि शामिल होते हैं। इसके अलावा पेग्नेंसी प्लान करने से पहले रूबेला प्रतिरक्षा स्थिति और थैलेसीमिया जैसे रोगों की जांच भी करा]नी चाहिए। रूबेला एक वायरल संक्रमण है जो जन्म के बाद बच्चे में कई स्थितियां पैदा कर सकता है। इसलिए संक्रमण के प्रति अपनी प्रतिरक्षा का परीक्षण करना और रूबेला टीकाकरण जरूरी होता है। थैलेसीमिया एक ऐसी स्थिति है जहां शरीर में रक्त निर्माण में दिक्कतें आती है। इसलिए इन परीक्षणों के माध्यम से इस बात की जांच जरूर की जानी चाहिए कि क्या ये समस्याएं मां से बच्चे में जा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें : प्रेग्नेंसी में पिस्ता खाने के फायदे और नुकसान, न्यूट्रीशनिस्ट से जानें एक दिन में कितना पिस्ता खा सकती हैं आप

Healthy-Pregnancy-Expert-Tips

5. मुझे कैसे पता चलेगा कि मैं गर्भवती (प्रेग्नेंट) हूं? (How Will I Get to Know When I am Pregnant?)

आमतौर पर, गर्भावस्था (प्रेग्नेंसी) का पहला संकेत पीरियड्स न आना होता है। इस दौरान अगर आपके पीरियड्स मिस हो जाते हैं, तो यूरिन प्रेग्नेंसी टेस्ट करें। इसके लिए आप बाजार से किट खरीद सकती हैं। डॉ प्राची के मुताबिक इस टेस्ट को करने के लिए सुबह के पहले यूरिन का इस्तेमाल करें। इस टेस्ट में दो गुलाबी रेखाएं आने का मतलब प्रेग्नेंसी का संकेत होना होता है। हालांकि, डॉक्टर गर्भावस्था हार्मोन (सीरम β एचसीजी) के स्तर की पुष्टि करने के लिए रक्त परीक्षण की सलाह देते हैं। पीरियड मिस होने के अलावा, गर्भावस्था के कुछ शुरुआती लक्षणों में शरीर के तापमान में वृद्धि, मतली, सुस्ती, सामान्य से अधिक पेशाब आदि शामिल हो सकते हैं। लेकिन रक्त परीक्षण हमेशा गर्भावस्था की पुष्टि करने का सही तरीका होता है।

6. गर्भवती (प्रेग्नेंट) होने में दिक्कत होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए? (When to See a doctor in my pregnancy journey?)

अगर आपको प्रेग्नेंट होने में किसी भी प्रकार की कठिनाई आ रही तो स्त्री रोग विशेषज्ञ चिकित्सक से संपर्क जरूर करना चाहिए। गर्भ धारण करने के लिए अनुकूल दवाओं के सेवन की सलाह भी दी जाती है। डॉ प्राची के मुताबिक डॉक्टर को दिखाने के 12 महीने के भीतर लगभग 80 प्रतिशत महिलाएं जिन्हें गर्भवती होने में परेशानी हो रही थी उनकी समस्या दूर हो जाती है। प्रेग्नेंसी से जुड़ी किसी भी समस्या से स्त्री रोग विशेषज्ञ की सलाह जरूरी होती है।

Read More Articles On Women Health In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK