होर्मोनल असंतुलन से भी आता है हाथों में पसीना, जानें हाथों में पसीना आने के कारण और बचाव के लिए घरेलू उपाय

Updated at: Sep 14, 2020
होर्मोनल असंतुलन से भी आता है हाथों में पसीना, जानें हाथों में पसीना आने के कारण और बचाव के लिए घरेलू उपाय

हाथों में पसीना आने के कारण बहुत से लोगों को काम करने में भी परेशानी का अनुभव होता है। ऐसे में ये घरेलू नुस्खे आपकी मदद कर सकते हैं।

Pallavi Kumari
घरेलू नुस्‍खWritten by: Pallavi KumariPublished at: Sep 14, 2020

पसीना निकलना शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है। पर एक हद से ज्यादा पसीना आना स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ चिंताओं का संकेत हो सकता है। किसी को भी नॉनस्टॉप पसीना आता है ये उसके हाथ और पैर हमेशा पसीने से तर रहते हैं, तो ऐसे लोगों को हाइपरहाइड्रोसिस हो सकता है। हाइपरहाइड्रोसिस के मामले में, स्वेट ग्लैंड्स ओवरएक्टिव हो जाते हैं और इससे शरीर में अत्यधिक पसीना आता है। इस प्रतिक्रिया का इनडोर या आउटडोर तापमान या आपके शारीरिक गतिविधि के स्तर से कोई लेना-देना नहीं होता है। पर हाइपरहाइड्रोसिस के अलावा भी ऐसे कई कारण हो सकते हैं, जिसकी वजह से आपके हाथों में पसीना (sweating in hands) आता है। तो, आइए पहले जानते हैं इन्हीं कारणों को और फिर जानेंगे इसे कम करने के लिए कुछ घरेलू नुस्खों को।

insidesweating

हाथों में पसीना आने के कारण (Causes of sweaty hands)

जीवन शैली जुड़े कारक

एक खराब आहार पसीने से तर हथेलियों को जन्म दे सकता है। लहसुन, प्याज और मसालेदार भोजन जैसे खाद्य पदार्थ पसीने की ग्रंथियों को ट्रिगर करते हैं। इसके अलावा, ज्यादा कॉफी पीने और धूम्रपान करने से भी पसीने की ग्रंथियों को उत्तेजित होती हैं, जिसमें आपकी हथेलियां भी शामिल हैं।

हार्मोनल असंतुलन

हार्मोनल असंतुलन आपके मूड और पीरियड्स को प्रभावित करने के अलावा, यह तंत्रिका अंत को भी प्रभावित कर सकता है जो आपके पसीने की ग्रंथियों को उत्तेजित करता है। इसलिए, यदि आपको थायरॉयड विकार, पीसीओएस या किसी अन्य हार्मोनल मुद्दे हैं, तो यह पसीने से तर हथेलियों का कारण हो सकता है।

insidecleaninghands

इसे भी पढ़ें : क्या आपको भी दूसरों से ज्यादा गर्मी लगती है और पसीना निकलता है? जानें इसके 5 संभावित कारण

स्वास्थ्य से जुड़े कारक

कुछ लोगों को मामूली चिंता में भी हाथ से पसीना निकल आता है। यद्यपि यह स्थिति हमेशा एक गंभीर समस्या का संकेत नहीं देती है पर कभी-कभी ये कुछ गंभीर स्वास्थ्य से जुड़ी स्थितियों का लक्षण होता है, जैसे कि

  • -डायबिटीज
  • -मेनोपॉज
  • -लो ब्लड शुगर
  • -ओवरएक्टिव थायराइड
  • -दिल का दौरा
  • -तंत्रिका तंत्र की समस्याएं
  • -संक्रमण
  • -भावनात्मक चिंता, तनाव और घबराहट। 

हाथों में पसीना आने पर इस्तेमाल करें ये घरेलू नुस्खे (Home remedies for sweaty hands)

1. बेकिंग सोडा

पसीने को कम करने के लिए बेकिंग सोडा एक त्वरित और सस्ता तरीका है। ज्यादातर लोगों के पास अपने किचन या बाथरूम में बेकिंग सोडा का डिब्बा होता है। ये बेकिंग सोडा एक एंटीपर्सपिरेंट और डिओडोरेंट के रूप में काम करता है। दरअसल बेकिंग सोडा क्षारीय है, यह पसीने को कम कर सकता है और पसीने को जल्दी से वाष्पित कर सकता है। इसके लिए बेकिंग सोडा से एक पेस्ट बना लें और फिर इसे हाथों पर लगा लें। पेस्ट को लगभग पांच मिनट तक अपने हाथों पर रगड़ें और फिर अपने हाथों को धो लें। रेगुलर इसका इस्तेमाल करने से हाथों से पसीने की परेशानी कम हो जाएगी।

insidebakingsoda

इसे भी पढ़ें : खून में कोलेस्‍ट्रॉल बढ़ने का संकेत है सांस फूलना और पसीना आना, जानें क्‍यों खतरनाक है इसका बढ़ना

2. एप्पल साइडर सिरका

अगर आ हाइपरहाइड्रोसिस से पीड़ित हैं, तो कार्बनिक एप्पल साइडर सिरका आपके पसीने वाले हथेलियों को आपके शरीर में पीएच स्तर को संतुलित करके सूखा रख सकता है। इसके अलावा आप अपनी हथेलियों को एप्पल साइडर विनेगर से पोंछ सकते हैं। सर्वोत्तम प्रभाव के लिए इसे रात भर हाथों पर लगा कर छोड़ सकते हैं। वहीं आप अपने दैनिक आहार में 2 बड़े चम्मच एप्पल साइडर सिरका भी शामिल कर सकते हैं। आप इसे शहद और पानी के साथ या फ्रूट जूस के साथ ले सकते हैं।

वहीं आप अपने जीवनशैली को ठीक करके और इन उपचारों को अपना कर इस परेशानी से बच सकते हैं। साथ ही अगर ये परेशानी तब भी आपको लगातार रहती है, तो आपको अपने डॉक्टर के पास जाना चाहिए और फूल बॉडी चेकअप करवाना चाहिए।

Read more articles on Home-Remedies in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK