लंबे समय तक जोरदार कसरत करना कर सकता है आपके जीवनल को कम, शोध में हुआ खुलासा

Updated at: Jun 23, 2020
लंबे समय तक जोरदार कसरत करना कर सकता है आपके जीवनल को कम, शोध में हुआ खुलासा

हाल में हुए नई रिसर्च में पाया गया कि अधिक व्‍यायाम करना आपको कमजोर बना सकता है और इससे समय से पहले मौत का खतरा बढ़ता है। 

Sheetal Bisht
लेटेस्टWritten by: Sheetal BishtPublished at: Jun 23, 2020

इस बात में कोई शक नहीं है कि व्‍यायाम करना आपकी सेहत के लिए कई तरीके से फायदेमंद होता है। यह आपके शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बेहतर बनाने में मदद करता है। लेकिन हर सिक्‍के के दो पहलू की तरह व्‍यायाम के भी दो पहलू हैं। व्‍यायाम का एक पहलू ये है कि यह आपकी कई शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं में मदद कर सकता है और शरीर को फिट और एक्टिव रखता है। वहीं, दूसरी ओर अधिक व्‍यायाम करना आपके लिए खतरनाक हो सकता है। जी हां, यदि आपको भी वर्कआउट करना पसंद है, तो आप इसे अधिक या बड़े पैमाने पर न करें, अन्यथा यह आपके जीवन काल को कम कर सकता है। हाल में हुए एक अध्ययन से पता चलता है कि अधिक व्‍यायाम आपको कमजोर बना सकतेा है और आपके जीवन काल को कम कर सकता है। यह विशेष रूप से उन लोगों के लिए है, जो हाई इंटेंसिटी एक्‍सरसाइज करते हैं और वह भी अधिक समय तक। यह अभ्यास आपको एक टोंड और मजबूत शरीर दे सकता है, लेकिन यह आपके जीवन से कुछ वर्षों को कम करने में भी एक जोखिम कारक है। इसलिए शोधकर्ताओं द्वारा मॉडरेशन में व्यायाम करने का सुझाव दिया जाता है। आइए यहां आगे अध्‍ययन में जानें क्‍या है पूरी रिसर्च?

एक्‍सरसाइज के फायदे और नुकसान 

Too Much Exercise Side Effects

हम सभी रोजाना व्यायाम करने के फायदे जानते हैं। यह आपको फिट और एक्टिव रहने में मदद करने के साथ कई बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। यदि व्यायाम न किया जाए, तो किसी भी तरह की शारीरिक गतिविधि जैसे हर दिन पैदल चलना, साइकिलिंग और खेलना-कूदना शरीर के लिए अच्छा होता है। यह शारीरिक, मानसिक और मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य को कई लाभ प्रदान करता है। कुछ लोग एक मजबूत और मसल शरीर बनाने के लिए गहन कसरत करते हैं। असल में, व्यायाम करने से कई तरह के लाभ होते हैं। लेकिन इस कहानी में एक छुपा हुआ मोड़ है जो एक अध्ययन में सामने आया है।

इसे भी पढ़ें: दिल की बीमारियों और समय से पहले मौत के खतरे को दोगुना बढ़ाता है डिप्रेशन, शोध में हुआ खुलासा

अधिक वर्कआउट पहुंचा सकता है नुकसान 

जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज सही नहीं है, ठीक इसी प्रकार ज्‍यादा वर्कआउट करना सेहत के लिए बुरा हो सकता है। यह आपके जीवनकाल को कम करने समेत कु नुकसानों से जुड़ा है। कुछ लोग वर्कआउट से इतने अधिक प्रभावित होते हैं कि वे बहुत अधिक व्यायाम करते हैं, जो कि दिन में 5-6 घंटे तक हो सकता है। जबकि उनका एक फिट और टोन्‍ड बॉडी पाने के लिए अधिक व्‍यायाम करना जीवन काल को छोटा कर रहा है। 'पालग्रेव कम्युनिकेशंस' पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि प्रतिदिन अधिक व्यायाम करने से दीर्घायु पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

जोरदार व्यायाम और दीर्घायु

जापानी लोगों पर किए गए एक अध्ययन के अनुसार, जो प्रोफेशनल काबुकी अभिनेता हैं, जो एक ऐसी कला है जिसमें जोरदार मूवमेंट को शामिल किया जाता है और कम उम्र जीने के लिए करते हैं। शोधकर्ताओं ने एक गतिहीन जीवन जीने वाले लोगों के साथ इस कड़ी गतिविधियों में शामिल लोगों के जीवन काल की तुलना की। यह उन लोगों के लिए एक आश्‍यर्चचकित करने वाली बात के रूप में सामने आया कि जिन्होंने सोचा था कि शारीरिक गतिविधियों से उनके जीवन की गुणवत्ता और मात्रा में वृद्धि होगी। इस शोध से पता चलता है कि मध्यम व्यायाम करने से स्वास्थ्य लाभों का एक बड़ा सेट जुड़ा होता है, लेकिन दूसरी ओर अधिक व्यायाम करने व्‍यक्ति का जीवन काल प्रभावित होता है।

Excessive Exercising Can Cut Short Your Life

इसे भी पढ़ें: पार्किंसन रोग के कारण आने वाले झटकों का पता लगाने और रोकने में कारगर है नई MRI तकनीक: वैज्ञानिक

हालांकि, व्यायाम के ऐसे कोई इष्टतम घंटे नहीं हैं, जिनका व्यक्ति अनुसरण कर सकता है। हर किसी की एक अलग क्षमता होती है और उन्हें इसका पालन करना चाहिए। अभी आप समस्याओं को महसूस नहीं कर सकते हैं, लेकिन जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, तो आपके जोड़ों में दर्द और मांसपेशियों की नाजुकता संकेत होगा कि आपने कितना व्यायाम किया है।

मध्‍यम तीव्रता वाले व्यायाम करना हमेशा बेहतर होता है, यह आपके स्वास्थ्य या जीवन पर किसी भी नकारात्मक प्रभाव के बिना आपको लाभ देने में मदद करते हैं लेकिन वहीं यदि आप उच्च तीव्रता वाले व्यायाम करते हैं, तो मॉडरेशन में करें।

Read More Article On Health News In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK