• shareIcon

रोजमर्रा के आहार में पाये जाने वाले ये 5 केमिकल बढ़ा सकते हैं वजन

एक्सरसाइज और फिटनेस By Aditi Singh , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 06, 2015
रोजमर्रा के आहार में पाये जाने वाले ये 5 केमिकल बढ़ा सकते हैं वजन

हम जो रोज आहार खाते हैं और जो बर्तन प्रयोग करते हैं उनमें पाये जाने वाले केमिकल न केवल हानिकारक होते हैं बल्कि मोटापा बढ़ने का कारण भ बनते हैं, यहां हम आपको उन केमिकल और उनके स्रोतों के बारे में बताते हैं।

वजन सही तरीके से बढ़ाया जाय तो कोई समस्‍या नहीं होती है, लेकिन अगर वजन बढ़ने के लिए ऐसे कारक जिम्‍मेदार हों जो अनहेल्‍दी होते हैं तो बाद में इनके कारण कई समस्‍यायें हो सकती हैं। हम कई बार ऐसे आहार का सेवन करते हैं जिनमें मौजूद केमिकल वजन बढ़ने का कारण होता है। ऐसे में जरूरी है उन आहारों में पाये जाने वाले केमिकल की पहचान की जाये और इनसे दूर रहा जाये। इसके बारे में विस्‍तार से जानने के लिए यह लेख पढ़ें।

बिस्‍फेनॉल-ए (बीपीए)

हॉवर्ड और ब्रॉउन यूनिवर्सिटी द्वारा किये गये शोध की मानें तो कंटेनर वाले आहार और डिब्‍बाबंद आहार में बीपीए केमिकल पाया जाता है जिसके कारण वजन बढ़ता है। दूसरे शोधों की मानें तो शरीर में बीपीए की मात्रा अधिक होने से फैटी कोशिकाओं की संख्‍या बढ़ती है इसके अलावा शरीर में इंसुलिन भी अनियमित हो जाता है। इसके कारण मोटापा बढ़ता है।

Triflumizole

ट्रिफ्लूमाइजोर (Triflumizole)

ऑर्गेनिक तरीके से पकाये गये पौधे खासकर पत्‍तेदार सब्जियों के सेवन से मोटापा बढ़ता है, क्‍योंकि इनमें ट्रिफ्लूमाइजोर केमिकल होता है। इंवायरनमेंटल हेल्‍थ पर्सपेक्टिव नाम पत्रिका में छपे एक शोध की मानें तो आर्गेनिक फूड के सेवन से वजन बढ़ता है, खासकर गर्भावस्‍था के दौरान अगर इसका सेवन मां ने किया है तो बच्‍चे को बाद में मोटापा बढ़ने का खतरा अधिक होता है।

Emulsifiers

इमल्सिफायर्स (Emulsifiers)

प्रोसेस्‍ड फूड वैसे भी सेहत के लिहाज से अनहेल्‍दी माना जाता है, लेकिन फिर भी कुछ लोग इसका सेवन करते हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं प्रोसेस्‍ड फूड में इमल्सिफायर्स नामक केमिकल होता है जो मोटापा बढ़ाने में मददगार है। नेचर नामक पत्रिका में छपे एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ।

 

एंटीबॉयटिक्‍स और हॉर्मोंस

जो लोग रेड मीट के दीवाने हैं उनके लिए यह खबर अच्‍छी नहीं होगी, क्‍योंकि रेड मीट में पाया जाने वाला एंटीबॉयटिक्‍स और दूसरे हार्मोंस वजन बढ़ने का कारण बनते हैं। दरअसल इन एंटीबॉयटिक का प्रयोग जानवरों के उपचार के लिए किया जाता है। जो कि वजन बढ़ने का कारण बनता है। न्‍यूयॉर्क यूनिवर्सिटी द्वारा किये गये रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ।

Perfluoroctanoic acid-PFOA)

पर्फ्लूरोक्‍टेनाएक एसिड (Perfluoroctanoic acid-PFOA)

अगर आप खाना पकाने के लिए नॉन स्टिक बर्तनों का प्रयोग कर रहे हैं तो आप खुद अपनी सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं और वजन बढ़ने का कारण भी बना रहे हैं। डेनमार्क द्वारा किये गये रिसर्च की मानें तो नॉन स्टिक बर्तनों के खाने को अगर गर्भवती महिलायें खाती हैं तो इससे उनके बच्‍चों में मोटापा बढ़ने की संभावना होती है, ऐसा पीएफओए केमिकल के कारण होता है।

स्‍वस्‍थ और निरोग रहने के लिए जरूरी है आप जो भी हर रोज खाते हैं उसके बारे में आपको सही जानकारी हो, नहीं तो मोटापे के साथ दूसरी बीमारियों के होने की संभावना बढ़ जाती है।

 

ImageCourtesy@gettyimages

Read More Article on Diet and Nutrition

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK