• shareIcon

त्योहार का मजा तो सबके साथ है

त्‍यौहार स्‍पेशल By अनुराधा गोयल , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 03, 2011
त्योहार का मजा तो सबके साथ है

त्याहोरों को मनाने के लिए परिवार के बिना अधूरापन रहता है। आइए जानें कैसे त्योहार का मजा सबके साथ है।

इंसान की स्वाभाविक प्रवृति है कि वह अपनी खुशियां दूसरों के साथ बांट कर खुश होता है। व्यक्ति जब अपने परिवार के साथ होता है तो यही खुशी उसकी दुगुनी हो जाती है। और जब मौसम त्योहारों का होता है तो व्यक्ति त्योहारों को मनाने के लिए परिवार के बीच में ही रहना अधिक पसंद करता है, ऐसे में वह न सिर्फ त्यो्हारों का मजा दुगुना करता है बल्कि त्योंहारों में रंग भरते हुए अपनापन महसूस करता है। त्याहोरों को मनाने के लिए परिवार के बिना अधूरापन रहता है। आइए जानें कैसे त्योहार का मजा सबके साथ है।

 

  • रंगों भरी रंगोली की जरह ही त्याहार पूरे परिवार को जोड़ने और एक करने का काम करता है त्योहार एक ऐसा मौका होता है जब सब एकसाथ मिल-बैठकर एक दूसरे से अपने मन की बातें शेयर करते हैं। नवरात्र के नौ दिन हो या फिर कोई और मौका, ऐसे मौकों पर ही सब मिलकर त्योहार का जश्न मनाते हैं और सेलीब्रेट करते हैं।
  • त्योहार की रौनक में व्यक्ति का मन भी खुश रहता है, ऐसे में भाईचारा बढ़ता है और आपस में प्रेम बढ़ता है। ऐसे में आपको चाहिए कि त्योहार के मौके पर अपने दोस्तों , परिवार और अन्य लोगों से गिले-शिकवे और मनमुटाव दूर करें।
  • त्यो‍हार खुशियों की ऐसा सौगात है जहां हर और उमंग और उल्लास होता है और परिवार के हर सदस्य‍ में जोश और उत्साह होता है। सभी इन दिनों खूब एन्जॉय करते हैं। ये त्योहार पूरे परिवार को एक साथ इकट्ठा कर देते हैं,तभी घर में रौनक दिखाई देती है।
  • त्योहार के समय घर का माहौल ऐसा खुशनुमा रखना चाहिए जिससे हर कोई आपके घर में आना पसंद करें और आपकी कंपनी को पसंद करें।
  • त्योहार के समय में सब अपने परिवारवालों के साथ अधिक से अधिक वक्त बिताते हैं और वर्किंग कपल को एक-दूसरे के साथ ढेर सारा वक्त एकसाथ गुजारने का मौका मिलता है। ऐसे में आपको चाहिए अपने कामों से फुर्सत निकालकर अपने पार्टनर को भी आपके साथ वक्त बिताने का भरपूर मौका मिलें।
  • सिर्फ त्योहार भर नहीं, बल्कि परिवार को साथ रखने और उनमें आपसी साझेदारी बढ़ाने का एक संस्कार भी है। यानी ये मधुर संबंधों की सौगात है।
  • ऐसे समय में लोग शॉपिंग करके न सिर्फ अपने आपको फ्रेश करते हैं बल्कि मानसिक रूप से भी तनावमुक्त होते हैं।
  • त्योहार का मौसम आते ही लोग अपनी सभी परेशानियां भूल परिवार के साथ घूमने-फिरने जाते हैं जिससे वे तनावमुक्त हो सकें और जीवन में कुछ नयापन लाकर कुछ खट्टी-मीठी यादों का अनुभव पा सकें।
  • त्योहार के अवसर पर यूं भी परिवार के सभी सदस्य एकजुट हो जाते हैं। नवरात्र के दिनों में भी कई ऐसे मौके होते हैं जब घर के सभी सदस्यों को साथ बैठने और कई काम करने का मौका मिल जाता है। व्रत की तैयारी, खान-पान, पूजा-पाठ और कन्या पूजन इत्यादि इन सबमें परिवार के सभी सदस्यों का होना भी जरूरी होता है।
  • त्योहार के समय में ही लोग अपने पुराने दिनों की याद ताजा करते हैं और एक-दूसरे को तोहफे इत्यादि देकर कर खूब सारी शुभकामनाएं देते हैं, इसीलिए सभी बेसब्री से त्योहार के मौसम का इंतजार करते हैं।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK