• shareIcon

नस चढ़ने पर तेज दर्द और सूजन से राहत दिलाते हैं ये आसान घरेलू उपाय, मिनटों में होगा असर!

अन्य़ बीमारियां By शीतल बिष्ट , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jul 05, 2017
नस चढ़ने पर तेज दर्द और सूजन से राहत दिलाते हैं ये आसान घरेलू उपाय, मिनटों में होगा असर!

नस चढ़ने के कारण आपको असहनीय दर्द झेलना पड़ता है और तो और कई बार नस चढ़ने पर कोई दवा या मलहम भी काम नहीं करता। ऐसे में हम आपको एक ऐसा जादुई नुस्‍खा बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से नस तुरंत उतर जायेगी और आपको दर्द से राहत मिलेगी।

नस चढ़ना एक आम समस्‍या है। बहुत से लोगों के साथ अक्‍सर होता है कि रात को सोते समय या फिर बैठे-बैठे अचानक पैर या कमर में नस पर नस चढ़ जाती है। लेकिन कई बार इस स्थिति में लगता है मानोग आपकी जान ही निकल जाएगी। अचानक नस चढ़ने से कई बार आप समझ नहीं पाते कि आपको क्‍या करना चाहिए और क्‍या नहीं। कई बार तो आपके साथ उस वक्‍त कोई मलहम लाने वाला भी मौजूद नहीं होता। ऐसे में आप कई प्रयास करते हैं कि आप उठ पाएं। जिसके लिए आप पैर को मलना शुरू कर देते हैं या उठने की कोशिश करते हैं पर आपकी सभी कोशिशें नाकाम रहती हैं। आइए हम आपको बताते हैं कि ऐसे में आपको क्‍या करना चाहिए। 

muscle spasm in hindi

इसे भी पढ़ें : जानें नसों में दर्द होने का क्‍या है मतलब

नस पर नस चढ़ना

जी हां जब नस पर नस चढ़ती है तो उसे ठीक करने के लिए हम तरह-तरह की तकनीक अपनाते हैं। हालांकि नस पर नस क्‍यों चढ़ती है इसका कारण कोई नहीं जानता। यह समस्‍या किसी भी व्यक्ति को किसी न किसी कारण से और कभी भी हो सकती है। नस पर नस चढ़ने पर पैरों में ऐठन भी हो जाती है। टांगों और पिंडलियों में हल्का–हल्का दर्द भी होता है। इसके आलावा पैरों में दर्द के साथ, जलन, झनझनाहट और सूई चुभने जैसा एहसास होता है। कुछ लोग इस दर्द को कम करने के लिए गोलियों का सहारा भी लेते है तो कुछ लोग घरेलू तरीका अपनाकर इसे ठीक करते है। आज हम आपको नस पर चढ़ी नस को उतारने का ऐसा तरीका बताने जा रहे है, जिसकी मदद से तुरंत नस से नस उतार जाती हैं।


नस पर चढ़ी नस को तुरंत उतारता है ये उपाय

कुछ समय पहले एक दिन ऐसे ही बैठे-बैठे मेरे पैर की नस चढ़ गई, संयोगवश उस दिन मेरे सामने मेरी मम्‍मी बैठी थी, उन्‍होंने तुरंत मेरे बाएं हाथ की उंगली मेरे बाएं कान के नीचे की तरफ रखी और कहा कि अब हल्‍के से उंगली को थोड़ा ऊपर और नीचे दबा। ये प्रक्रिया मेरी मम्‍मी ने मुझे 10 सेकेंड तक करने के लिए कहा।
 
ऐसा करने के कुछ देर के अंदर ही मेरा पैर बिल्‍कुल ठीक हो गया। मैंने अपनी मम्‍मी को धन्‍यवाद दिया और पूछा ऐसा कैसे हुआ तब मेरी मम्‍मी ने बताया कि जिस भाग में नस चढ़ी हो उसके विपरीत भाग के कान के निचले जोड़ पर उंगली से दबाते हुए उंगली को हल्‍का सा ऊपर और नीचे की तरफ 10 सेकेंड तक बार-बार करने से नस उतर जाती है।

साथ ही उन्‍होंने यह भी बताया कि ऐसा होने पर ऐंठन के दर्द को कम करने के लिए थोड़ा सा नमक हथेली पर लेकर उसे चाटने से भी नस उतर जाती है। नमक तुम्‍हारे शरीर में कम इलेक्ट्रोलाइट को पूरा करने में मदद करता है। यह उपाय लोकप्रिय है क्योंकि नमक आसानी से किसी भी घर में उपलब्ध होता है। इसके अलावा तुम नस चढ़ने पर केला भी खा सकती है क्‍योंकि कई बार पोटैशियम की कमी के चलते भी नस पर नस चढ़ जाती है, ऐसे में एक केला खाने से पोटैशियम के स्‍तर में वृद्धि होती है और नस उतर जाती है।

इसे भी पढ़ें : नसों की सूजन के कारण, लक्षण और उपचार

अन्‍य उपाय

  • सोते समय अपने पैरों को थोड़ा ऊंचा उठा कर रखें। इसके लिए पैरों के नीचे तकिया रख लें।
  • प्रभावित हिस्‍से पर बर्फ की ठंडी सिकाई करें।
  • अगर गर्म-ठंडी सिकाई 3 से 5 मिनट की करें तो इस समस्या और दर्द–दोनों से राहत मिलेगी।
  • शराब, सिगरेट, नशीले तत्वों का सेवन नहीं करें।
  • अपना वजन कम करें। इसके लिए रोजाना सैर पर जाएं या जॉगिंग करें।
  • फाइबर युक्त भोजन करें और रिफाइंड फूड का सेवन न करें।
  • 5-10 बादाम और किशमिश, 2-3 अखरोट की गिरि और 2-5 पिस्ते का रोजाना सेवन करें।

लेकिन ध्‍यान रहें कि अगर आपको ज्‍यादा तकलीफ होती है तो डॉक्‍टर से संपर्क करें।
Read More Articles on Other Diseases in Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK