गर्भावस्‍था के दौरान ऊतकों के भीतर तरल पदार्थ के जमा होने से होता है शोफ

    गर्भावस्‍था के दौरान ऊतकों के भीतर तरल पदार्थ के जमा होने से होता है शोफ

    गर्भावस्‍था के दौरान शोफ यानी इडीमा एक सामान्‍य समस्‍या है, इसे बचने के लिए इन तरीकों को आजमायें।

    गर्भावस्‍था के दौरान शोफ यानी इडीमा की स्थिति ऊतकों के भीतर तरल पदार्थ के जमा होने से आती है। गर्भावस्‍था के दौरान यह एक सामान्‍य समस्‍या है।

    गर्भवती महिलाजब पानी हाथ, पांव में इकट्ठा हो जाता है जिसके कारण सूजन होती है। शोफ आमतौर पर हाथ, पैर, टखने और चेहरे में होता है। यह गर्भावस्‍था के दूसरे ट्राइमेस्‍टर के बीच में यानी पांचवें महीने में होता है। हालांकि इसके लिए कुछ हद तक हार्मोन भी जिम्‍मेदार होते हैं। आइए हम आपको शोफ से निपटने के तरीके के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

     

    शोफ से बचने के तरीके

    नमक कम खाइए

    सबसे पहले अपने खाने से नमक की मात्रा को घटाइये। नमक और नमकयुक्‍त खाद्य-पदार्थ खाने से परहेज कीजिए। नमक पानी को ज्‍यादा मात्रा में शरीर के अंदर संचित करता है। इसलिए गर्भावस्‍था के दौरान जंक फूड और समुद्री फूड बिलकुल मत खाइए, सी-फूड और जंक फूड में नमक ज्‍यादा मात्रा में होता है।

     

    पर्याप्‍त पानी पीजिये

    मायो क्‍लीनिक के अनुसार गर्भवती महिला को पानी का सेवन ज्‍यादा मात्रा में करना चाहिए। एक दिन में 8 ग्‍लास से ज्‍यादा पानी पीना चाहिए। हालांकि शरीर में अतिरिक्‍त तरल पदार्थ ही शोफ का कारण बनता है, लेकिन ज्‍यादा पानी पीने से टॉक्सिन्‍स बाहर निकलते हैं जिससे सूजन कम होती है।

     

    पैरों को आराम दीजिए

    अपने पैरों को ज्‍यादा से ज्‍यादा आराम दीजिए। बेड पर लेटकर तकिये को पैरों के नीचे रखिए। जब आपका पैरा ऊपर की तरफ रहेगा तो ग्रेविटी के कारण रक्‍त का संचार होगा और सूजन कम होगी। किसी भी जगह पर लगातार 10 से 20 मिनट तक बिलकुल खड़े मत हों।

     

    धूप में बिलकुल न जायें

    गर्भावस्‍था के दौरान शोफ की समस्‍या से ग्रस्‍त हों तो धूप में बिलकुल न निकलें। गरमी शोफ को भड़का देता है, इसलिए अगर बाहर भी जायें तो छतरी ले लें।

     

    कोल्‍ड कंप्रेसेज का प्रयोग

    सूजन को कम करने के लिए सूजन वाली जगह पर कोल्‍ड कंपेसेज का प्रयोग कीजिए, इससे सूजन कम होगी। अपने कोल्‍ड कंप्रेसेज को 10 से 15 मिनट तक सूजन वाले हिस्‍से पर रखिए।

     

    थोड़ा व्‍यायाम भी

    शोफ की समस्‍या से निजात पाने के लिए ही नही बल्कि गर्भावस्‍था के दौरान खुद को फिट रखने के लिए व्‍यायाम बहुत जरूरी है। लेकिन यह ध्‍यान रहे कि इस दौरान जिम इंस्‍ट्रक्‍टर के अनुसार ही व्‍यायाम कीजिए।

     

    स्‍वस्‍थ आहार

    गर्भावस्‍था के दौरान स्‍वस्‍थ और पोषणयुक्‍त आहार का सेवन कीजिए। ऐसे खाद्य-पदार्थ खाइए जिसमें पो‍टैशियम की मात्रा ज्‍यादा हो। पोटैशियम इडीमा के लक्षणों को कम करता है।

     

    गर्भावस्‍था के दौरा शोफ बहुत गंभीर समस्‍या नही है, लेकिन यदि इसके कारण आपको दिक्‍कत महसूस हो तो चि‍कित्‍सक से संपर्क अवश्‍य कीजिए।

     

     

    Read More Articles on Pregnancy Care in Hindi

     
    Disclaimer:

    इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।