ब्रोकली और गोभी के सेवन से रहेगा दिल स्‍वस्‍थ और हार्ट अटैक का खतरा होगा कम: शोध

Updated at: Aug 21, 2020
ब्रोकली और गोभी के सेवन से रहेगा दिल स्‍वस्‍थ और हार्ट अटैक का खतरा होगा कम: शोध

शोध से पता चलता है कि ब्रोकोली, ब्रसेल्स स्प्राउट्स और गोभी जैसी सब्जियां आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छी होती हैं।

Sheetal Bisht
लेटेस्टWritten by: Sheetal BishtPublished at: Aug 21, 2020

क्‍या आपको हरी सब्जियां खाना पसंद नहीं है, अगर हां, तो अब पसंद कीजिए। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं, कि अगर तो आप ब्रोकली, ब्रसेल्‍स स्‍प्राउट्स और गोभी जैसी हरी  सब्‍जियों को खाते हैं, तो आप ऐसा करके अपने दिल को स्‍वस्‍थ्‍ा रख सकते हैं। यह सब्जियां पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं, जो कि आपको दिल के दौरे समेत अन्‍य कई दिल संबंधी बीमारियों के खतरे को कम कर सकती हैं। इसलिए अगर आप अपने आप को प्‍यार करते हैं, तो इन ब्रोकली या हरी गोभी जैसी सब्जियों के स्वाद को नहीं गुणों को देखें। आइए इस रिसर्च को आगे पढ़कर जानें कि कयों और कैसे ब्रोकली ब्रसेल्स स्प्राउट्स और गोभी जैसी सब्जियां आपके दिल की समस्याओं को रोकती हैं।

Eating Cabbage And Broccoli Good For Heart Health

ब्‍लड वेसेल्‍स डिजीज यानि रक्‍त वाहिका रोग रोकने में मददगार 

ब्रोकोली, गोभी और ब्रसेल्स स्प्राउट्स यह सभी सब्जियां आपके समग्र स्वास्थ्य के लिए अच्‍छी सब्जियां मानी जाती हैं। हाल ही में, हुए एक अध्‍ययन में पाया गया कि ये दिल के दौरे के जोखिम को कम करने के लिए एडवांस ब्‍लड वेसेल्‍स डिजीज को रोकने में मददगार हैं। इतना ही नहीं, यह आपके फेफड़े के स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद मानी जाती हैं। एडवांस ब्‍लड वेसेल्‍स डिजीज यह एक ऐसी स्थिति है, जो रक्त वाहिकाओं को काफी हद तक प्रभावित करती है और शरीर में रक्त परिसंचरण में बाधा डालती है। कम रक्त प्रवाह रक्त वाहिकाओं में कैल्शियम और वसा जमा का कारण बन सकता है जो बाद में दिल का दौरा पड़ने का कारण बन सकता है। 

इसे भी पढ़ें: बहुत अधिक एंटीबायोटिक दवाएं लेना बन सकता है इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम का कारण : शोध

क्‍या कहती है रिसर्च?

ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन ने हाल ही में एक शोध प्रकाशित किया, जिसमें पाया गया कि जो महिलाएं रोजाना ब्रोकली, ब्रसेल्‍स स्‍प्राउट्स और गोभी जैसी सब्जियों का सेवन करती हैं उनमें अन्य महिलाओं की तुलना में एडवांस ब्‍लड वेसेल्‍स डिजीज की संभावना कम होती है। यह शोध पश्चिमी ऑस्ट्रेलिया विश्वविद्यालय और ईसीयू के स्कूल ऑफ मेडिकल एंड हेल्थ साइंसेज द्वारा आयोजित किया गया था। इस अध्‍ययन में टीम ने पाया कि जो महिलाएं अपने आहार में बड़े पैमाने पर इन सब्जियों को शामिल करती है, उनमें आंतरिक रक्त वाहिकाओं में फैटी, कैल्शियम बिल्डअप की संभावना कम होती है। 

अध्‍ययन के प्रमुख शोधकर्ता डॉ. लॉरेन ब्लेकेनहर्स्ट ने कहा,  “हमारे पिछले अध्ययनों में, हमने इन सब्जियों के अधिक सेवन से उन लोगों की पहचान की, जिनमें हृदय रोग या दिल का दौरा पड़ने जैसे नैदानिक हृदय रोग होने का जोखिम कम था, लेकिन हमें यकीन था कि क्यों। इस नए अध्ययन से हमारे निष्कर्ष संभावित तंत्रों में अंतर्दृष्टि प्रदान करते हैं। "

“अब हमने पाया है कि हर दिन अधिक मात्रा में क्रूस वाली सब्जियों का सेवन करने वाली वृद्ध महिलाओं को अपने महाधमनी पर व्यापक कैल्सीफिकेशन होने की संभावना कम होती है। एक विशेष घटक जो इन सब्जियों में प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, वह विटामिन K है, जो हमारे रक्त वाहिकाओं में होने वाली कैल्सीफिकेशन प्रक्रिया को रोकने में शामिल हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: यूं ही टहलने से नहीं कोई फायदा, अगर लक्ष्य तय करके टहलते हैं तो शरीर को मिलते हैं ज्यादा स्वास्थ्य लाभ: रिसर्च

Healthy Vegetables

ब्रोकोली और गोभी खाते समय बरतें ये साधानियां 

यदि आप ब्रोकली या गोभी जैसी इन सब्जियों को खाते हैं, तो ध्‍यान दें कि इन सब्जियों को संभलकर और सावधानीपूर्वक खाएं। ऐसा इसलिए क्‍योंकि इनमें एक ही रंग के कीड़े होते हैं, जो आसानी से दिखते या पहचाने नहीं जाते। इसलिए आप इन्‍हें खाने से पहले इन सब्जियों को अच्‍छे से गुनगुने पानी से धो लें और कीड़ों का ध्‍यान रखें। यहां उपाय दिए गए हैं कि कैसे इन सब्जियों को साफ और सुरक्षित तरीके से खाएं। 

  • आप इन्‍हें बहते पानी के नीचे रखें। सुनिश्चित करें कि कीड़े हटाने के लिए पानी का बहाव या दबाव सही हो। 
  • इसके बाद आप कुछ देर के लिए इन्‍हें गर्म पानी में डुबो दें और इनके बीच में जगह बनाकर गोभी और ब्रोकली को अच्छी तरह से साफ करें। 
  • आप सिरके के पानी में भी गोभी को डुबो सकते हैं क्योंकि यह प्रभावी रूप से कुछ बैक्टीरिया और फफूंदी को मारता है। 

इस तरह आपको अपनी सब्जियों को साफ करके खाने से उसके भरपूर स्‍वास्‍थ्‍य लाभ मिलेंगे। आप अन्य फलों और सब्जियों को भी इसी तरह साफ करके खा सकते हैं। 

Read More Article On Health News In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK