• shareIcon

ये 3 चीजें खाने से दोबारा नहीं होती थायराइड की बीमारी, जानें थायराइड से खुद को दूर रखने का तरीका

अन्य़ बीमारियां By जितेंद्र गुप्ता , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 14, 2019
ये 3 चीजें खाने से दोबारा नहीं होती थायराइड की बीमारी, जानें थायराइड से खुद को दूर रखने का तरीका

मौजूदा वक्त में बहुत से लोग थायराइड की समस्या से परेशान हैं क्योंकि ये समस्या केवल उन्हें ही नहीं बल्कि उनकी पीढ़ी की भी परेशानी का कारण बन सकती है। हालांकि इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि थायराइड कोई बीमारी नहीं है।

मौजूदा वक्त में बहुत से लोग थायराइड की समस्या से परेशान हैं क्योंकि ये समस्या केवल उन्हें ही नहीं बल्कि उनकी पीढ़ी की भी परेशानी का कारण बन सकती है। हालांकि इस बात का ध्यान रखना बेहद जरूरी है कि थायराइड कोई बीमारी नहीं, बल्कि एक ग्रंथि है, जो हमारे गले में आगे की तरफ होती है। तितली के आकार की यह ग्रंथि हमारे शरीर की कई जरूरी गतिविधियों को नियंत्रित करती है। थायराइड की समस्या इसलिए भी गंभीर है क्योंकि यह शरीर के बहुत से अंगों को नुकसान पहुंचाती हैं। दरअसल थायराइड ग्रंथि भोजन को ऊर्जा में बदलने के साथ-साथ कई हार्मोन का भी निर्माण करने में मदद करती है। ये हार्मोंस हमारी सांस, ह्रदय गति, पाचन तंत्र और शरीर के तापमान को सीधा प्रभावित करते हैं। इन हार्मोंस के असंतुलित होने पर शरीर का वजन कम या ज्यादा होने लगता है, जिसे थायराइड की समस्या कहते हैं।

थायराइड होने के बहुत से कारण हैं। शरीर में आयोडीन की कमी के कारण थायरइड ग्रंथि द्वारा थायराइड हार्मोन बनाना कम कर देना और ऑटोइम्यून डिजीज के कारण भी थायराइड हो सकता है। इतना ही नहीं थायराइड ग्रंथि में सूजन की वजह से भी थायराइड होता है। थायराइड की समस्या होने पर डॉक्टर द्वारा सलाह कर दी गई दवाईयां भी थायराइड को बढ़ा सकती हैं। अगर आप भी थायराइड की समस्या और दवाईयां खा-खाकर परेशान हो चुके हैं और प्राकृतिक तरीकों से इस समस्या से छुटकारा पाना चाहते हैं तो हम आपको ऐसी तीन चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके जरिए आप ऐसा करने में सफल हो सकते हैं। 

थायराइड की समस्या से छुटकारा पाने में मदद करेंगी ये तीन चीजें

एलोवेरा

एलोवेरा थायराइड ग्रंथि को डिटॉक्सीफाई करता है और शरीर की कोशिकाओं से विषाक्त पदार्थ को बाहर निकालने का काम करता है। एलोवेरा के पौधे में 8 अलग-अलग प्रकार के एमिनो एसिड्स और 12 प्रकार के विटामिन होते हैं, जो थायराइड की समस्या को दूर करने में फायदेमंद होते हैं। इसलिए सुबह उठकर सबसे पहले एलोवेरा का सेवन आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।

इसे भी पढ़ेंः शरीर के इन 4 अंगों को नुकसान पहुंचाती है थायराइड की समस्या, जानें बचाव का तरीका

अलसी

अलसी में पाया जाने वाला लिनोलेनिक एसिड शरीर की सूजन को कम कर देता है। इसके साथ ही यह अंसतुलित हार्मोन्स के बैलेंस को भी सही कर देता है। इन दोनों कारणों से यह पदार्थ थायराइड के लिए बेहतर माना जाता है। अलसी के लगातार सेवन से थायराइड में सुधार होता है। अलसी में पाए जाने वाले मैग्नीशियम और विटामिन बी 6 थायराइड को सुधारने का काम भी करते हैं। अलसी का नियमित रूप से सेवन थायरॉइड ग्रंथि को सुचारू रूप से काम करने में मदद करता है, जिस कारण थायराइड ग्रंथि सामान्य होने लगती है। खाने से एक घंटे पहले अलसी का सेवन करने से बेहतर परिणाम सामने आते हैं।

इसे भी पढ़ेंः लकवे से पहले शरीर में दिखाई देने लगते हैं ये 6 संकेत, समय पर उपचार से बच सकती है जान

मुलेठी

मुलेठी थायराइड ग्रंथि से हार्मोन्स के रिसाव को बढ़ाती है और शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को ठीक करती है। मुलेठी का नियमित सेवन थायराइड की समस्या को दूर करने में मदद करता है। हालांकि थायराइड ठीक होने के बाद भी आप मुलेठी का सेवन जारी रखें क्योंकि ऐसा करने से हमेशा हार्मोन का संतुलन बरकरार रहेगा। इतना ही नहीं मुलेठी आपके लिवर का भी ख्याल रखती है और पेट की जलन को भी शांत करती है।

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

 

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।