• shareIcon

आंखों का रूखापन हो सकता है खतरनाक, इन 3 उपायों से करें दूर

घरेलू नुस्‍ख By Anurag Gupta , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jun 04, 2018
आंखों का रूखापन हो सकता है खतरनाक, इन 3 उपायों से करें दूर

क्या आपको भी आंखों में सूखापन यानि ड्राई आई सिंड्रोम की शिकायत रहती है? धूल और प्रदूषण वाले वातावरण और स्क्रीन वाले गैजेट्स के ज्यादा इस्‍तेमाल से आंखों की समस्‍या आम हो गई है।

क्या आपको भी आंखों में सूखापन यानि ड्राई आई सिंड्रोम की शिकायत रहती है? धूल और प्रदूषण वाले वातावरण और स्क्रीन वाले गैजेट्स के ज्यादा इस्‍तेमाल से आंखों की समस्‍या आम हो गई है। आंखों में सूखापन महसूस होना, खुजली व जलन का एहसास, हर वक्त इन्हें मलते रहने की जरूरत महसूस होना, ऐसा महसूस होना जैसे कि आंखों में कुछ गिर गया हो, बिना कारण आंखों से पानी निकलना, बिना कारण आंखों में थकान या सूजन व इनका सिकुड़ कर छोटा हो जाना दरअसल आंखों में सूखापन यानि ड्राई आई सिन्ड्रोम के लक्षण होते हैं। कंप्‍यूटर के अधिक प्रयोग के कारण वर्तमान में ड्राई आई सिंड्रोम की समस्‍यायें बढ़ रही हैं।

क्यों होता है आंखों में सूखापन

कंप्‍यूटर और एसी के अधिक प्रयोग के कारण आंखों में पर्याप्‍त मात्रा में आंसू नहीं बन पाते हैं। आंसू, आंखों के कार्निया एवं कन्जंक्टाइवा को नम और गीला रखता है जिससे आंखें सूखती नहीं। दरसअसल हमारी आंखों में टियर फिल्म पायी जाती है। इसकी सबसे बाहरी परत को लिपिड या ऑयली परत कहते हैं। लिपिड परत आंसू के अधिक बहने, गर्मी एवं हवा में आंसू के सूखने या उड़ने को कम करती है। लिपिड या तैलीय परत आंखों की पलकों को चिकनाई प्रदान करती है, जिससे पलकों को झपकाने में आसानी होती है। लेकिन अधिक देर तक कंप्यूटर पर काम करने, बहुत ज्यादा टीवी देखने और लगातार एसी में रहने से आंखों की टियर फिल्म प्रभावित होती है और आंखें सूखने लगतीं हैं, इसे ड्राई आई सिंड्रोम कहते हैं।

इसे भी पढ़ें:- गर्मी में अल्ट्रावायलेट किरणों से आंखों को होते हैं कई नुकसान, इस तरह रखें खयाल

गुलाबजल का प्रयोग

आंखों की थकान मिटाने के लिए और ड्राई आई से राहत पाने के लिए आप गुलाबजल का प्रयोग कर सकते हैं। गुलाबजल में विटामिन ए होता है जो आंखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इसके लिए सबसे पहले गुलाबजल को फ्रिज में रखकर ठंडा कर लें। अब कॉटन बॉल को गुलाबजल में डुबाकर बंद आंखों पर इसे 10 मिनट के लिए रख लें। फिर आंखों को ठंडे पानी से धो लें। दिन में 2-3 बार ऐसा करने से आपके ड्राई आई की समस्या समाप्त हो जाएगी।

एलोवेरा

एलोवेरा में एल्कलाइन गुण होते हैं। एलोवेरा जेल एक अच्छा मॉश्चराइजर है और इसमें एंटी-इंफ्लेमेट्री गुण भी होते हैं। इसके प्रयोग से आप आंखों की सूजन और आंखों में लाली की समस्या से राहत पा सकते हैं। इसके लिए एलोवेरा के ताजे पत्ते को तोड़कर जेल निकाल लें और इसे आंखों की पुतलियों में हल्के हाथों से लगाएं। 10 मिनट बाद गुनगुने पानी से आंखों को अच्छी तरह धो लें। आंखो को राहत मिलेगी।

इसे भी पढ़ें:- गर्मियों में आंखों के संक्रमण का अचूक इलाज है ये 11 सस्‍ते उपाय

कैसे करें बचाव

  • जिस कमरे में हो उसका तापमान कम रखें, वातावरण में थोड़ी नमी बनाए रखें।
  • पेय पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करें।
  • हरी सब्जियां, मौसमी फल व दूध का सेवन अधिक करें।एयरकंडीशनर की हवा सीधे आंखों पर न पड़ने दीजिए।
  • कंप्‍यूटर पर काम करते समय पलकों को झपकाते रहें, इससे आंख के आंसू जल्दी सूखते नहीं।
  • कंप्यूटर पर काम करते समय हर आधे घंटे के बाद पांच से दस मिनट के लिए अपनी नजर स्क्रीन से हटा लें।
  • टीवी देखते हुए या कंप्‍यूटर पर काम के दौरान एन्टीरिफ्लेक्टिव कोटिंग एंव एंटीरिफ्लेक्टिव चश्मे का प्रयोग करें।
  • शराब और धूम्रपान से बचें।
ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles On Eye Problems In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।