डिहाइड्रेशन ही नहीं, बल्कि इन 7 कारणों से भी सूख सकता है आपका मुंह, जानिए इसके लक्षण और बचाव के तरीके

Updated at: Jan 20, 2021
डिहाइड्रेशन ही नहीं, बल्कि इन 7 कारणों से भी सूख सकता है आपका मुंह, जानिए इसके लक्षण और बचाव के तरीके

सिर्फ प्यास लगने की वजह से ही नहीं, बल्कि कई कारणों से हमारा मुंह सूख सकता है। आइए जानते हैं उन कारणों के बारे में।

Kishori Mishra
घरेलू नुस्‍खWritten by: Kishori MishraPublished at: Jan 20, 2021

स्वस्थ शरीर के लिए संतुलित आहार की जरूरत होती है। शरीर को तंदरुस्त रखने के लिए हमें ऐसे आहार की जरूरत होती हैं, जिससे हमारे शरीर को संपूर्ण पोषक तत्व मिलें। तरल पदार्थों के सेवन से ना सिर्फ हमारा शरीर स्वस्थ रहता है। बल्कि डिहाइड्रेशन की शिकायत भी दूर रहती है। डिहाइड्रेशन की शिकायत होने पर शरीर को कई तरह की परेशानियां होने लगती हैं। खासतौर पर मुंह सूखने की समस्या। ऐसे में अगर आप अपने शरीर को तरल पदार्थों की जरूरत होती है। हालांकि, मुंह सूखना कोई गंभीर परेशानी नहीं होती है। अगर काफी सावधानियां बरतने के बावजूद भी आपको मुंह सूखने की परेशानी हैं, तो आइए जानते हैं मुंह सूखने के और भी कारणों के बारे में और इससे किस तरह छुटकारा पाएं।

सुमित्रा हॉस्पिटल के डॉक्टर अंकित गुप्ता बताते हैं कि जब हमारे मुंह में पर्याप्त मात्रा में लार ना बनने की वजह से ही माउथ ड्राई हो जाती है। मुंह सूखने की समस्या किसी भी व्यक्ति को हो सकती है। लेकिन अगर आपको काफी समय से मुंह सूखने की परेशानी है, तो इसके कारण बैचेनी जैसी परेशानी हो सकती है। ऐसे में अगर आपका मुंह सूखता है, तो जरूरी उपाय जरूर अपनाएं। आइए जानते हैं मुंह सूखने के क्या कारण होते हैं?

मुंह सूखने के कारण (Causes of Dry Mouth)

  • मुंह सूखने का सबसे प्रमुख कारण डिहाइड्रेशन होता है।
  • इसके अलावा सिर और गर्दन से जुड़ी थैरेपी लेने से भी आपकी लार ग्रंथियों को नुकसान पहुंच सकता है।
  • लार का उत्पादन करने वाली नसों में किसी तरह की परेशानी उत्पन्न होने पर आपको यह परेशानी हो सकती है।
  • कुछ लोगों को कीमोथेरेपी की वजह से भी मुंह सूखने की परेशानी होती है। इसकी वजह है कि कीमोथेरेपी के कारण लार ग्रंथि में लार का उत्पादन प्रभावित होता है।
  • स्जोग्रेन सिंड्रोम (ऑटोइम्यून की समस्या), एचआईवी/एड्स,  मधुमेह और अल्जाइमर जैसे रोगियों को मुंह सूखने की परेशानी हो सकती है। 
  • संक्रमण या ट्यूमर की समस्या होने पर।
  • तंबाकू, ड्रग्स, शराब जैसे नशीले पदार्थ का सेवन करने से मुंह सूखने की परेशानी होती है। 

मुंह सूखने के लक्षण (Symptoms of Dry Mouth)

  • होंठों का फटना
  • खाने-पीने की चीजों का स्वाद पता ना लगना। 
  • गले में खराश
  • जीभ का सूखा और खुरदरा महसूस होना।
  • हमेशा प्यास लगना।
  • बोलने में परेशानी
  • मुंह में जलन 
  • मुंह में झुनझुनी जैसा अनुभव होना
  • चबाने और निगलने में परेशानी
  • मुंह में छाले

मुंह सूखने के लिए घरेलू उपाय (Home Remedies For Dry Mouth)

मुंह सूखने की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए दवाईयों के बजाय, घरेलू उपाय अपनाना ज्यादा बेहतर होता है। आपको ऐसी चीजों को सेवन करना चाहिए, जिससे आपके मुंह में नमी बनी रहे। आइए जानते हैं कुछ ऐसे घरेलू उपाय, जिससे मुंह सूखने की परेशानी होगी दूर। 

1. अदरक 

आवश्यक सामग्री

  • अदरक - 1 इंच
  • पानी - एक कप
  • शहद - आवश्यकतानुसार

कैसे करें इस्तेमाल

  • अदरक को छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर उसे घिस लें।
  • इसके बाद इसे पानी में डालकर उबालें।
  • कुछ देर पानी उबलने के बाद इसे एक कप में छान लें। 
  • अब इसमें स्वादानुसार शहद मिलाकर इसे पी जाएं।
  • इसके अलावा आप बचे हुए अदरकर को चबाकर खा सकते हैं।
  • दिन में करीब 2 बार ऐसा करने से मुंह सूखने की परेशानी से राहत मिलेगी।

कैसे है फायदेमंद

अदरक के सेवन से आप मुंह सूखने की परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं।  हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबिकअदरक का इस्तेमाल करने से जेरोस्टोमिया (मुंह सूखने की बीमारी) के लक्षणों को दूर किया जा सकता है। ्दरअसल, अदरक में जिंगिबर ऑफिसिनेल होता है, जो लार ग्रंथि में लार उत्पादन को बढ़ाता है। इससे मुंह सूखने की परेशानी को काफी हद तक कंट्रोल कर सकते हैं।

2. ग्रीन टी

आवश्यक सामग्री

  • ग्रीन टी पाउडर - 1 चम्मच ग्रीन
  • पानी - 1 कप
  • शहद - वैकल्पिक

कैसे करें इस्तेमाल

  • एक पैन में पानी को अच्छे से उबालें। 
  • अब इस पानी में ग्रीन टी पाउडर को डालकर करीब 3 मिनट तक उबालें। 
  • इसके बाद इसे एक कप में छाल लें। 
  • अब अपने स्वादानुसार शदह डालकर ग्रीन टी का सेवन करें।
  • आप दिन में दो बार ग्रीन टी का सेवन कर सकते हैं।

कैसे है फायदेमंद:

मुंह सूखने की परेशानी को दूर करने के लिए आप ग्रीन टी का इस्तेमाल कर सकते हैं। ग्रीन टी के सेवन से आप कई परेशानियों से भी छुटकारा पा सकते हैं। कई लोग वजन को कंट्रोल में रखने के लिए ग्रीन टी का सेवन करते हैं। ग्रीन टी में पॉलीफेनोल्स और एपिगैलोकैटेचिंगलेट (EGCG) जैसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो गंभीर से गंभीर परेशानियों  से छुटकारा दिलाते हैं। ग्रीन टी में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी के गुण, स्जोग्रेन सिंड्रोम (मुंह सूखने की परेशानी) से काफी हद तक राहत मिल सकती है।

3. सौंफ

आवश्यक सामग्री

सौंफ - 1 चम्मच 

कैसे करें इस्तेमाल

भोजन के बाद सौंफ को अच्छे से चबाएं। प्रतिदिन दोपहर और रात के भोजन के बाद ऐसा करने से मुंह सूखने की परेशानी को कंट्रोल किया जा सकता है। 

कैसे है फायदेमंद

सौंफ का सेवन हमारे शरीर के लिए फायदेमंद होता है। इससे आप मुंह सूखने की परेशानी से भी राहत पा सकते हैं। दरअसल, सौंफ में भरपूर रूप से कैल्शियम होता है, जो मुंह में लार के उत्पादन को बढ़ाने में मददगार साबित होता है। इससे मुंह सूखने की परेशानी दूर रहती है। 

4. अनीस बीज

आवश्यक सामग्री

अनीस का बीच - एक चम्मच

सौंफ - एक चम्मच (वैकल्पिक)

इसे भी पढ़ें - स्वस्थ शरीर के लिए गहरी और अच्छी नींद है जरूरी, इन 5 घरेलू उपायों से अनिद्रा की परेशानी को करें दूर

कैसे करें इस्तेमाल

  • सबसे पहले सौंफ और अनीस के बीजों को मिला लें।
  • इस मिश्रण को भोजन करने के बाद इसका सेवन करें।
  • दोपहर के खाने के बाद प्रतिदिन इसका सेवन करने से मुंह सूखने की परेशानी दूर होती है।

कैसे है फायदेमंद

अनीस के बीजों का सेवन करने से मुंह सूखने की परेशानी से राहत मिलती है। इसमें लार बनाने की क्षमता होती है। इसके साथ ही सौंफ मिक्स करके खाने से यह हमारे लिए और ज्यादा लाभकारी साबित होता है।  

Read More Articles On Ayurved In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK