• shareIcon

फटी एड़ियों से बचाव के उपाय

फैशन और सौंदर्य By अन्‍य , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Nov 28, 2012
फटी एड़ियों से बचाव के उपाय

फटी और रुखी एड़ि‍यां आपके पैरों की खूबसूरती को तो कम करती ही हैं साथ ही साथ वे काफी तकलीफदेह भी होती हैं। कुछ उपायों को अपनाकर आप इन तकलीफों से बचे रह सकते हैं।

पैरों में रूखापन और खुजली काफी परेशानी दे सकती है। इनसे पैरों की खूबसूरती तो कम होती ही है साथ ही इससे एड़ियां फट भी सकती हैं। और यह सब दर्द का सबब भी बन सकता है।

फटी एडि़यों का इलाज

फिल्‍म 'पाकीज़ा' का एक मशहूर डायलॉग है, 'आपके पैर बहुत हसीं हैं, जिन्‍हें जमीं पर मत रखिए मैले हो जाएंगे।' लेकिन, हम अक्‍सर अपने पैरों की सफाई और खूबसूरती को लेकर सजग नहीं रहते। नतीजा, फटी एड़‍ियां और उनमें पनपता संक्रमण। अगर आप भी फटी एड़‍ियों से परेशान हैं तो ये उपाय आपके लिए काफी मददगार हो सकते हैं।

फटी एड़‍ियों से बचाव

  • अपने पैरों में जरूरी नरमी बनाए रखें। एक अच्छा माश्‍चराइज़र लगाने के बाद सूती मोज़े पहनें। इससे पैरों में जरूरी नमी बरकरार रहती है। आप चाहें तो वनस्पति तेल भी लगा सकती हैं। 
  • आरामदेह जूते पहनें। आपके जूते न तो अधिक टाइट होने चाहिए और न ही बहुत अधिक ढीले। सख्‍त जूते आपके पैरों के दर्द को बढ़ा सकते हैं। 
  • पैरों को साफ करने के लिए एंटी-सेप्टिक युक्‍त साबुन का इस्‍तेमाल करें। इससे आपके पैरों की सूखी त्‍वचा को तो आराम मिलेगा ही साथ ही कीटाणुओं से भी पैरों की रक्षा होगी।

  • त्‍वचा की मृत कोशिकाओं को हटाने के लिए प्युमैस स्‍टोन का प्रयोग करें। यह ऐसी सख्‍त त्‍वचा को हटाने का काम करता है जो बाद में टूट सकती है। इसे इस्‍तेमाल करते हुए इस बात का ध्‍यान रखें कि आप इतनी जोर से न रगड़ें कि दर्द होने लग जाए।
  • पैरों पर कटा नीबू रगड़ने से वे नरम बने रहते हैं। हफ्ते में कम से कम एक बार अपने पैरों को नींबू से साफ करें। आप अपने पैरों को गर्म पानी के टब में भी डुबो सकते हैं जिसमे की 1 कप इप्सम नमक मिला हुआ हो।
  • अपने पैरों को गीला न रखें। पैरों को अच्‍छी तरह सुखाने के बाद उन पर कुछ लोशन लगाएं। जिससे आपके पैर मुलायम बने रहें।
  • अपनी सूखी त्वचा को कैंची से काटने को कोशिश न करें। इससे आसपास की त्‍वचा भी निकल सकती है। ऐसा करना कई बार काफी तकलीफदेह भी होता है। और साथ ही इससे त्‍वचा में संक्रमण होने का खतरा भी होता है।
  • रोजाना कम से कम आठ से दस‍ गिलास पानी पिएं। इसके साथ ही कैफीन और एल्‍कोहल से भी परहेज करें क्‍योंकि इनका अधिक सेवन शरीर में जल की मात्रा को कम कर देता है।

कभी वक्‍त की कमी तो कभी किसी अन्‍य कारण के चलते आप अपनी सूखी त्‍वचा का सही प्रकार से उपचार नहीं कर पाते हैं। कई बार यह सब करने के बाद भी अपेक्षाकृत परिणाम नहीं मिलते हैं। तो ऐसे में आपको चाहिए कि आप किसी त्‍वचा रोग विशेषज्ञ से संपर्क करें।

 

Read More Article On- Beauty personal care in hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK