इम्यूनिटी को रातों-रात बढ़ाना चाहते हैं, तो पीएं सिर्फ ये ‘1’ हर्बल-टी

इम्यूनिटी को रातों-रात बढ़ाना चाहते हैं, तो पीएं सिर्फ ये ‘1’ हर्बल-टी

मुझे हर्बल चाय पीना काफी पसंद है। जब भी मैं खुद को अंदर से बहुत खुश महसूस कर रही होती हूं, तो मैं हर्बल-टी पीकर ही हर चीज का लुत्फ उठाती हूं। स्वादिष्ट हर्बल चाय कई लोगों के लिए एक पसंदीदा पेय बन गई हैं।

मुझे हर्बल चाय पीना काफी पसंद है। जब भी मैं खुद को अंदर से बहुत खुश महसूस कर रही होती हूं, तो मैं हर्बल-टी पीकर ही हर चीज का लुत्फ उठाती हूं। स्वादिष्ट हर्बल चाय कई लोगों के लिए एक पसंदीदा पेय बन गई हैं। वास्तव में लोग इनके स्वाद और अविश्वसनीय औषधीय गुणों के कारण सदियों से इनका सेवन करते आए हैं। पीने में स्वादिष्ट होने के साथ साथ यह पोषक तत्वों से भरी हुई है। यह न केवल आपके शरीर में तरल पदार्थ की पूर्ती करती हैं, बल्कि ये अतिरिक्त पोषक तत्वों के साथ भी भरी होती हैं। कॉफी के विपरीत इसमें कैफीन की मात्रा नहीं होती है जिसका सेवन विभिन्न प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं को जन्म देता है। 

herbal tea

हर्बल चाय बनाना बहुत ही आसान होता है और ये अनेकों स्वस्थ लाभ प्रदान करती हैं तो चलिए जानते हैं हर्बल चाय के फायदों के बारे में... तेजी से एक बार फिर लोगों का रूझान आयुर्वेद और प्राकृतिक चीजों की ओर बढ़ने लगा है। इस बदलते रुझान का असर हमारी जीवनशैली पर भी स्पष्ट नजर आने लगा है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण चाय के मामले में देखने को मिल रहा है। अब कई लोग अपनी पारंपरिक चाय में बदलाव ला रहे हैं और हर्बल चाय की ओर अपना रूझान कर रहे हैं। 

इसे भी पढे़ंः 2 आयुर्वेदिक हर्बल वॉटर, जो आपको अंदर से करे हील

आयुर्वेदिक चाय की चुस्की

बदलते जीवनशैली और फास्टफूड के जमाने में उसके फायदे - नुकसान और कई तरह की बीमारियों से परेशान लोगों को देखकर दूसरे लोग अपनी सेहत के प्रति सचेत होने लगे हैं। अस्पतालों और डॉक्टरों के चक्कर काटने से लेकर दिन रात दवा खाने की आदत से तंग आकर लोग अब अपनी सेहत को प्रति सतर्क हो गए हैं। तेजी से एक बार फिर लोगों का रूझान आयुर्वेद और प्राकृतिक चीजों की ओर बढ़ने लगा है। इस बदलते रुझान का असर हमारी जीवनशैली पर भी स्पष्ट नजर आने लगा है। इसका सबसे अच्छा उदाहरण चाय के मामले में देखने को मिल रहा है।

कई लोग अपनी पारंपरिक चाय में बदलाव ला रहे हैं। अब लोगों ने सामान्य चाय की जगह हर्बल टी को अपना लिया है। धीरे-धीरे इसे पीने वालों की संख्या भी बढ़ रही है। कोई वजन कम करने के लिए हर्बल चाय पी रहा है तो कोई अस्थमा जैसी अपनी सालों पुरानी बीमारी से छुटकारा पाने के लिए इस चाय की शरण में आया है। सेहत और स्वस्थ जीवनशैली के प्रति सतर्क रहने वाले लोगों की जिंदगी में तेज और कड़क या फिर पत्ती तेज या चीनी कम वाली चाय की जगह अब हर्बल टी ने ले ली है। पारंपरिक चाय की तरह हर्बल चाय कैमेलिया सिनेसिस बुश वाले पौधे से नहीं बनती। यह विभिन्न ताजे फूल,बीज,जड़ और औषधियों को सूखा कर बनाई जाती है।

इसे भी पढ़ेंः धूम्रपान छुड़ाने के जबरदस्‍त तरीके, असर केवल 5 मिनट में शुरू

रूबू हर्बल-टी से इस तरह बढ़ाएं इम्यूनिटी

ल्यूक कोतिन्हो, एम.डी. ऑल्टरनेटिव मेडिसिन एंड फाउंडर ऑफ प्योर न्यूट्रीशन का कहना है कि “हमारा शरीर रोज कई ऐसे गंदे टॉक्सिन निकालता है, जिन्हें हम फ्री रैडिक्लस के नाम से जानते हैं। यह एक व्यक्ति की इम्यूनिटी को कमजोर करते हुए कैंसर की ओर लेकर जाते हैं। लेकिन वहीं, अगर आप रोज अपनी डाइट में हर्बल टी का सेवन कर रहे हैं, तो कैंसर जोसी बीमारी को होने के खतरे को कम कर सकते हैं। रूबू हर्बल टी एक ऐसी चाय है, जिसमें पॉलीफिनॉल्स होते हैं। पॉलीफिनॉल्स में एंटी-ऑक्सिडेंट्स, एंटी-इंफ्लेमेट्री, एंटी-वायरल और एंटी-म्यूटोजेनिट गुण पाए जाते हैं। ये फ्री-रेडिकल्स को खत्म करते हुए बॉडी की इम्यूनिटी बढ़ाने में मदद करते हैं। साथ ही यह व्यक्ति को हर तरह के इंफेक्शन से मुक्त भी करती है”। 

इसके अलावा ल्यूक कोतिन्हो कहते हैं कि “अगर आप रूबू हर्बल टी का सेवन करते हैं, तो इससे एक्जिमा जोसी एलर्जी ठीक होती है। खून का दौरान बेहतर होता है। एजिंग धीमे होती है”।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Ayurveda Related Articles In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।