पुरुष हो या महिलाएं चेहरे की सुंदरता बढ़ाती है जॉलाइन, डॉ. गीता ग्रेवाल से जानें फेस फैट कम करने के तरीके

Updated at: Sep 08, 2020
पुरुष हो या महिलाएं चेहरे की सुंदरता बढ़ाती है जॉलाइन, डॉ. गीता ग्रेवाल से जानें फेस फैट कम करने के तरीके

हर कोई चाहता है कि वह आज के समय में सुंदर दिखे लेकिन ऐसा नहीं होता है। एक्सपर्ट से जानें फेस फैट घटाने का तरीका। 

 

Jitendra Gupta
फैशन और सौंदर्यReviewed by: डॉ. गीता ग्रेवाल, कॉस्‍मेटिक सर्जन -ग्रूमिंग Published at: Sep 08, 2020Written by: Jitendra Gupta

21 वीं सदी या यूं कहें कि मौजूदा वक्त एक ऐसी स्थिति में है, जहां आपको सोशल मीडिया ऐप जैसे स्नैपचैट, इंस्टाग्राम, जूम मीटिंग, पार्टी और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अपनी उपस्थिति दर्ज करानी होती है। 21वीं सदी की सबसे बड़ी चुनौती, जिसे हम  COVID-19 के रूप में भी जानते हैं, इस महामारी का मतलब सिर्फ घर के अंदर रहना, आत्म-देखभाल, व्यायाम आदि से नहीं है बल्कि समय की जरूरत है कि आप अपने प्रियजनों के संपर्क में रहें और उन्हें  नैतिक समर्थन दें और ऐसा सोशल मीडिया के माध्यम से किया जा सकता है। इसके अलावा, सोशल मीडिया स्वास्थ्य, मनोरंजन और सभी अपडेट के लिए एक स्टॉप समाधान है। वीडियो कॉल पर हर किसी से बात करने की आदत के कारण लोग चेहरे की सुंदरता की ओर बहुत तेज गति से बढ़ा रहे हैं और सबसे ज्यादा युवाओं में अपने चेहरे के स्वास्थ्य को बनाए रखने का क्रेज है। डॉ। गीता ग्रेवाल, कॉस्मेटिक सर्जन एंटी-एजिंग, ब्यूटी एंड वेलनेस एक्पर्ट आपको इस लेख के जरिए बताएंगी कि कैसे सोशल मीडिया ट्रेंड ने दुनिया का ध्यान फेस फैट की ओर केंद्रित किया है और इसे कम करना आपके लिए कितना जरूरी हो गया है। 

face

सोशल मीडिया ने उन लोगों के आत्मसम्मान को भी प्रभावित करने में एक बड़ी भूमिका निभाई है, जो अपने शरीर पर काम करने के लिए ट्रेनिंग ले रहे हैं। हर कोई चाहता है कि उसकी शार्प जॉलाइन हो, और जबड़े के आसपास कोई डबल चिन फैट या यहां तक कि ढीली त्वचा न हो। इसके विपरीत, बहुत से लोग उम्र बढ़ने के कारण अपनी स्किन की कसावट खो बैठते हैं, जिससे निचले चेहरे के आसपास फैट जमा हो जाता है और त्वचा ढीली हो जाती है। 

शार्प जॉलाइन पुरुषों के बीच मर्दानगी का संकेत है वहीं नुकीली-पतली जॉलाइन महिलाओं के चेहरे की खूबसूरती में चार चांद लगाती हैं। तेजी से उम्र बढ़ने पर चेहरे के अलग-अलग हिस्सों पर प्रभाव पड़ता है, जिसके पीछे कारण हो सकते हैं जैसे कि हम अस्वस्थ हो,  थके हुए हो,  उदास या सही से नींद न ले रहे हों। लेकिन एक डिसेंट, कसा चेहरा और डिफ्लेशन जैसे कुछ कारक आपके फेस के निचले हिस्से को प्रभानित करते हैं और आपको जवां दिखाने में मदद करते हैं। 

इसे भी पढ़ेंः बढ़ती उम्र के साथ आपके होंठ भी हो रहे हैं पतले? जानें किन कारणों से होता है ऐसा और क्या है बचाव

नॉन-इनवेसिव फैट-मेल्टिंग एनर्जी

जॉलाइन और सबमेंटल (डबल चिन) के चारों ओर फैट डिपॉजिट को कम करने के लिए कम से कम इनवेसिव प्रक्रियाओं के साथ नॉन-इनवेसिव नॉन-सर्जिकल ट्रीटमेंट का प्रयोग किया जा सकता है। नॉन-इनवेसिव फैट मेल्टिंग एनर्जी एक ऐसी प्रक्रिया पर आधारित है, जिसमें उपकरण आपके चेहरे के फैट को पिघलाते हैं, जो स्वाभाविक रूप से हमारे शरीर से बाहर निकल जाते हैं। इसमें आपको किसी प्रकार का कोई दर्द नहीं होता है, कोई ज्यादा समय भी नहीं लगता है।  इस प्रक्रिया को कई सेशन में किए जाने की आवश्यकता होती है लेकिन ये इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी जेब कितनी बड़ी है। 

fat

एंटी फैट इंजेक्शन या लाइपोलिसिस

एंटी-फैट इंजेक्शन या लिपोलिसिस इंजेक्शन शानदार काम करते हैं, जिससे वसा कोशिकाओं का ब्रेक करने का काम किया जाता है। आमतौर पर, 3-4 सप्ताह के अंतराल पर इस प्रक्रिया को किया जाता है, जिसमें एक पतली नीडल को आपके फैट वाले हिस्से में लगाया जाता है और वांछनीय परिणाम प्राप्त करने में 3 से 4 हफ्ते तक लग सकते हैं। 

फेस फैट कम करने के लिए डॉ. गीता  ग्रेवाल के टिप्स

थ्रेड लिफ्ट

ढीली त्वचा को कसावट भरी बनाने के लिए थ्रेड लिफ्ट का प्रयोग किया जाता है, जिसमें कुछ पतले-पतले थ्रेड्स गहराई से स्किन के अंदर डाले जाते हैं, जो चेहरे के एनेस्थेटिक को बनाए रखते हैं। इस प्रक्रिया के तहत फेस के निचले हिस्से पर लिफ्टिंग प्रभाव पड़ता है, जिससे फैट कोशिकाओं की लसीका भी हो जाती है और इस तरह जॉलाइन में शार्प बनाने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ेंः इस तरह अपनी त्वचा और बालों पर करें कॉफी का रोजाना इस्तेमाल, मिलेंगे कई फायदे

lip

मिनी लिपोसक्शन

मिनी लिपोसक्शन ठोड़ी और जॉलाइन के आसपास जमा अतिरिक्त फैट कोशिका को बाहर निकालने में मदद करता है। इस प्रक्रिया के लिए अव्वल दर्जे की कुशलता चाहिए होती है और इसमें कम से कम इनवेसिव सर्जिकल प्रक्रिया का प्रयोग किया जाता है। जिन रोगियों में हड्डी समर्थन की कमी होती है या जिनके पास ठोड़ी और जबड़ा नहीं होता हैं, उनमें इस स्थान को इंजेक्शन से भरने के साथ मजबूत समर्थन को फिर से बनाने के लिए काम किया जाता है। इस प्रक्रिया में भले ही गहरा भराव होता हो लेकिन दर्द नहीं होता है। तुरंत परिणाम के साथ आप इस प्रक्रिया के जरिए फेस फैट से छुटकारा पा सकते हैं। 

नीडल्स भी मदद कर सकती है मदद

चेहरे की चर्बी को कम करने के लिए कई नॉन-सर्जिकल तरीके भी हैं और इसे नॉन-इनवेसिव प्रक्रिया की तरह प्रयोग किया जा सकता है। इसमें ऊर्जा-आधारित उपकरणों का उपयोग किया जाता है जैसे रेडियोफ्रीक्वेंसी तकनीक, अल्ट्रासोनिक cavitation आदि। इस प्रक्रिया के तहत जहां फैट कोशिकाएं टूटने के कारण सिकुड़ जाती हैं इस प्रक्रिया में उन कोशिकाओं को मजबूत किया जाता है। सामान्य तौर पर, फैट की जिद्दी चर्बी जेब का इलाज करते समय अल्ट्रासाउंड तकनीक त्वचा के लिए बहुत कोमल होती है। इसमें बहुत कम या कोई असुविधा नहीं होती है, और कई सत्रों की आवश्यकता होती है।

Read More Article On Fashion And Beauty In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK