चेहरे पर हल्दी लगाकर नहीं घूमना चाहिए बाहर, होता है उल्टा असर

Updated at: Feb 28, 2017
चेहरे पर हल्दी लगाकर नहीं घूमना चाहिए बाहर, होता है उल्टा असर

चेहरे पर हल्दी लगाने से त्वचा की रंग साफ होती है। लेकिन अगर आप हल्दी लगाकर बाहर घूमती हैं को इसका उल्टा असर होता है। इस लेख में विस्तार से जानें।

Gayatree Verma
तन मनWritten by: Gayatree Verma Published at: Feb 28, 2017

आप अगर हल्दी लगाकर बाहर घूमती हैं तो थम जाएं। क्योंकि इसका उल्टा असर हो सकता है।


कुछ लोग चेहरे का रंग साफ करने के लिए चेहरे पर हल्दी लगाते हैं। लेकिन जब आप हल्दी लगाकर धूप में बाहर निकलती हैं तो इसका उल्टा असर होता है। खासकर ऐसा दुल्हनों के साथ होता है। इसके बारे में विस्तार से इस लेख में पढ़ें।


हिंदू परंपरा में हल्दी लगाना काफी शुभ माना जाता है। यहां तक की शादी के कार्ड भी जब बांटे जाते हैं तो उन्हें भी सबसे पहले भगवान को चढ़ाकर उनमें हल्दी लगाई जाती है। हिंदु परंपरा में हल्दी को काफी शुभ माना जाता है इसलिए इसका इस्तेमाल हर शुभ कामों से पहले किया जाता है। शादी के पहले तो हर दुल्हा-दुल्हन को पूरे शरीर में हल्दी लगाई जाती है।

 

सौंदर्य है कारण

बुजुर्ग इस परंपरा को बुरी आत्माओं से दूर रखने के लिए निभाते हैं तो घर के अन्य लोग इसे रंग निखारने के लिए निभाते हैं। वैसे भी हमारे बड़े-बूढ़ों को हम से ज्यादा तज़ुर्बा है जिसके आधार पर आपको वो ये बता सकते हैं कि किस घरेलू चीज को अपनाने से आपको क्या फायदा होगा और यही हल्दी के साथ है।

 

  • हल्दी लगाने से शरीर की सुंदरता बढ़ती है और रंग निखरता है।
  • हल्दी के गुण से हर तरह के चर्म रोग व तन की दुर्गंध से निजात मिल जाती है।

धार्मिक मान्यता

शादी के दौरान हल्दी लगने के बाद दुल्हा-दुल्हन को बाहर निकलने की मनाही होती है। आपने कई बार सुना होगा की दूल्हा या दुल्हन को हल्दी लगने के बाद उन्हें बार निकलने दिया जाता है और उन्हें अकेला भी नहीं छोड़ा जाता। इसके पीछे लोग तरक् देते हैं कि इससे दुल्हा-दुल्हन पर बुरी आत्माओं का साया नहीं पड़ता। दरअसल हल्दी में एक विशेष तरह की गंध होती है। जिसके कारण वातावरण में उपस्थित सभी तरह की नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जाएं उस व्यक्ति की तरफ तेजी से आकर्षित होती है। ऐसे में मानसिक तौर पर कमजोर व्यक्ति आसानी से नकारात्मक ऊर्जा से प्रभावित हो जाता है। जिससे उसकी सोच में नेगेटीविटी आ सकती है।

इसे भी पढ़ें- कुत्‍ता पालेंगे तो घर में नही आएंगी ये परेशानी!

वैज्ञानिक कारण

ये तो रही धार्मिक मान्यता। अब विचार करते हैं वैज्ञानिक मान्यता पर। क्योंकि हल्दी लगाकर बाहर ना निकलने की हिदायत विज्ञान में दी गई है। दरअसल हल्दी रंग निखराने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन जब आप हल्दी लगाकर बाहर निकलते हैं तो हल्दी के गुण धूप से रिएक्ट कर आपकी त्वचा को काला कर देते हैं। साथ ही, इसका त्वचा पर भी बुरा असर पड़ता है। इसलिए यह परंपरा बनाई गई है कि दूल्हा या दुल्हन ह्लदी लगाकर घर से बाहर न निकले। जिससे कि हल्दी अपना पूरा काम कर पाए और उनके सौंदर्य में निखार आए।

 

Read more articles on Healthy living in hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK