मार्शल आर्ट करते समय हाथों की गति को बढ़ाने के लिए करें ये 3 अभ्यास

Updated at: Nov 24, 2020
मार्शल आर्ट करते समय हाथों की गति को बढ़ाने के लिए करें ये 3 अभ्यास

मार्शल आर्ट व्यक्ति की सेहत के साथ उसे आत्मरक्षा भी सिखाता है, जो आज के समय में आत्मनिर्भर रहने के लिए जरूरी हो गया है।

Naina Chauhan
एक्सरसाइज और फिटनेसWritten by: Naina ChauhanPublished at: Nov 24, 2020

मार्शल आर्ट व्यक्ति को स्वस्थ रहने और आत्मरक्षा के लिए बेहतरीन माध्यम है। लेकिन मार्शल आर्ट करने वाले व्यक्ति के लिए हाथों की गति महत्व रखती है, फिर चाहे वह कराटे के लिए हो या फिर मय थाई का अभ्यास। हर किसी का मार्शल आर्ट करने का अलग कारण होता है कोई खेल के रूप में सीखता है, तो कोई व्यायाम के लिए लेकिन सवाल ये उठता है कि मार्शल आर्ट करते समय हाथों की गति को कैसे बढ़ाया जाए। उसके लिए आप इन आसान से तरीकों को अपनाकर अपने हाथों की गति बढ़ा सकते हैं जो मार्शल आर्ट के लिए जरूरी है।

 insidepushup

प्लायोमेट्रिक पुश-अप (क्लैपिंग पुश-अप)

व्यक्ति के शरीर में मसल्स (मांसपेशियां) दो तरह के फाइबर से बनी होती हैं। पहली स्लो ट्विच मसल्स (Slow Twitch Muscle) फाइबर, जो धीरे-धीरे सिकुड़ते हैं इसलिए आप किसी शारीरिक गतिविधि के दौरान यदि शरीर इनका इस्तेमाल करता है, तो थकान धीरे-धीरे महसूस होती है। दूसरे होते हैं फास्ट ट्विट मसल्स (Fast twitch muscles) फाइबर, जो तेजी से सिकुड़ते हैं। हाथों की मजबूती के लिए इन्हीं फास्ट ट्विच मसल्स (Fast twitch muscles)को मजबूत बनाने की जरूरत पड़ती है क्योंकि मार्शल आर्ट करते समय हाथों को शक्ति और गति के जरूरत होती है। इस काम के लिए प्लायोमेट्रिक पुश-अप एक बेहतरीन एक्सरसाइज है, जिसे करने से आपके हाथों में मजबूती आती है।

कैसे करें क्लैपिंग पुश-अप-

क्लैपिंग पुश-अप करने के लिए पहले अपने पेट के बल लेट जाएं। इसके बाद जैसे साधारण पुश-अप करते हैं वैसे करें। जब आप पुश अप करते हुए नीचे वापस आएं तो उस समय आपको अपने दोनों हाथों से क्लैपिंग (ताली बजाना)करनी है। इसे करते समय ध्यान रखें कि जब आप इस स्टेप को करें तो उस समय आपके पैर सीधें रहने चाहिए, क्योंकि आपकी बॉडी का सारा वेट आपके हाथ और पैर पर होता है।

इसे भी पढ़ें: Upper Back Pain: ऊपरी कंधे में दर्द के कारण नहीं कर पा रहे हैं आप अपना कोई भी काम? करें ये 5 एक्सरसाइज

insidebandpunching

रजिस्टेंस बैंड पंचिंग (Band Punching)

मार्शल आर्ट करते समय पंच का मजबूत होता जरूरी होता है, इसलिए रजिस्टेंस बैंड पंचिंग का अभ्यास आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। इस अभ्यास के दौरान जब आप पंच करते हैं, तो रजिस्टेंस बैंड आपके मसल्स को पीछे की तरफ खींचता है, जिससे आपकी गति में सुधार आता है और मसल्स मजबूत होती हैं। इसका नियमित अभ्यास आपकी पंचिंग स्पीड को बढ़ाने में मददगार हो सकता है।

कैसे करें बैंड पंचिंग-

बैंड पंचिंग करने के लिए आप अपनी हाइट के बराबर खिंचने वाला बैंड लगा लें। इसके बाद अपने दोनों हाथ से बैंड के एक-एक साइड को पकड़ लें और फिर अपनी मुट्ठी बंद करके पंचिंग करना शुरु करें जैसे आप शैडोबॉक्सिंग कर रहे हैं। इस तरह आप अपनी गति धीरे-धीरे बढ़ा सकते हैं।

insidespeedbag

स्पीड बैग प्रशिक्षण (Speed Bag Training)

स्पीड बैग प्रशिक्षण (Speed Bag Training) के नाम से ही आप समझ सकते हैं कि ये आपकी गति को बढ़ाने के लिए किया जाता है। स्पीड बैग पंच करने से हाथ की गति में सुधार होता है। इस प्रतिक्रिया को करने से आप न केवल तेज़ बल्कि अधिक सटीक निशाना लगा सकते हैं। 

कैसे करें स्पीड बैग प्रशिक्षण-

स्पीड बैग प्रशिक्षण करने के लिए अपनी सामने एक भारी बैग लटका लें। आप अपने हाथों को बैग से थोड़ा दूर रखें। इसके बाद पंच बना लें और अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाएं। अपने हाथों को बैग के पास रखें और बैग को मारना शुरू करें,शुरू में बैग पर धीरे-धीरे मारें, फिर अपनी गति बढ़ाते रहें।

 

इसे भी पढ़ें: जानिए 5 कारण जब आप बाहर काम करने के बाद अस्थिर महसूस कर सकते हैं

मार्शल आर्ट की किसी भी तरीके को करने के लिए हाथों की गति का ध्यान रखना जरूरी होता है। क्योंकि इसके सभी स्टेप में हाथों की ताकत चाहिए। इसलिए आप अपने व्यायाम में हाथों की क्रिया को जरूर शामिल करें।

Read More Article On Diet And Fitness In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK