पीरियड्स के दौरान चक्कर आने के पीछे हो सकते हैं ये 6 कारण, जानें इससे बचने के आसान उपाय

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को हैवी ब्लीडिंग और क्रैम्प्स आदि समस्या के कारण चक्कर आ सकते हैं, जानें इससे बचने के उपाय।

Prins Bahadur Singh
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 27, 2021
Updated at: Jul 27, 2021
पीरियड्स के दौरान चक्कर आने के पीछे हो सकते हैं ये 6 कारण, जानें इससे बचने के आसान उपाय

पीरियड्स यानि मासिक धर्म (Menstruation) के दौरान महिलाओं को कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इस दौरान महिलाओं को सिरदर्द, कमर दर्द, थकान, पेट से जुड़ी समस्याएं और डायरिया आदि का सामना करना पड़ता है। लेकिन क्या आपने भी पीरियड्स के दौरान चक्कर आने का अनुभव किया है? जी हां, यह समस्या काफी लोगों में देखने को मिलती है। कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या (Dizziness During Periods) का सामना करना पड़ता है। हालांकि यह कोई सामान्य लक्षण नहीं है। पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या को पीरियड्स के साइड इफेक्ट्स कहकर भी नहीं टाला जा सकता है। कुछ महिलाओं में यह देखा गया है कि उन्हें पीरियड्स शुरू होते ही लेटने, बैठने और चलने पर चक्कर आने लगते हैं। इसकी वजह से शरीर का संतुलन बिगड़ने पर चोट लगने की भी संभावना बनी रहती है। पीरियड्स के दौरान हल्के फुल्के चक्कर आना तो सामान्य माना जाता है लेकिन अगर आपको इस दौरान चक्कर आने की समस्या का लगातार सामना करना पड़ रहा है तो इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं।

पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या (Dizziness During Periods)

Dizziness-During-Periods

पीरियड्स के दौरान सिरदर्द, ऐंठन और थकान की समस्या ज्यादातर महिलाओं को होती है। इन समस्याओं की वजह से आप खुद को हल्का महसूस कर सकती हैं और इसकी वजह से आपको चक्कर आदि की समस्या हो सकती है। ज्यादातर महिलाओं में हल्के फुल्के चक्कर और हल्का महसूस करने के लक्षण सामान्य माने जाते हैं। लेकिन इसके अलावा चक्कर आने की समस्या के पीछे खून की कमी, ब्लीडिंग और कई अन्य गंभीर कारण भी हो सकते हैं। अगर आपको भी पीरियड्स के दौरान चक्कर की समस्या अधिक हो रही है तो इसे हल्के में नहीं लेना चाहिए। 

पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या के कारण (Dizziness During Periods Causes)

पीरियड्स के दौरान महिलाओं को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। शरीर में अत्यधिक दर्द और थकान की वजह से कमजोरी हो जाती है, जिससे तमाम महिलाओं को चक्कर आने की समस्या होती है। लेकिन कुछ महिलाओं में इस दौरान बहुत ज्यादा चक्कर आने की समस्या होती है जो सामान्य नहीं है। इस समस्या के पीछे कई कारण हो सकते हैं। आइये जानते हैं इनके बारे में।

1. प्रोस्टाग्लैंडिंस हॉर्मोन की वजह से (Prostaglandins Hormone)

हॉर्मोन में उतार चढ़ाव की वजह से ही महिलाओं को पीरियड्स की समस्या का सामना करना पड़ता है। प्रोस्टाग्लैंडिंस हार्मोन ही शरीर में पीरियड्स को नियंत्रित करते हैं। इसलिए इस दौरान प्रोस्टाग्लैंडीन का उत्पादन भी बढ़ सकता है। जिसकी वजह से शरीर में ऐंठन, दर्द और कमजोरी बढ़ जाती है। इसके अलावा कुछ प्रोस्टाग्लैंडीन आपके शरीर में रक्त वाहिकाओं को भी संकुचित कर सकते हैं, जिसकी वजह से सिरदर्द और चक्कर आने की समस्या तेजी से हो सकती है।

Dizziness-During-Periods

इसे भी पढ़ें : हेल्दी और रेगुलर पीरियड्स के लिए महिलाएं रोजाना करें ये 4 योगासन, सेहत को मिलेंगे कई फायदे

2. शरीर में खून की कमी या एनीमिया (Blood Loss or Anemia)

शरीर में खून की कमी हैवी ब्लीडिंग की वजह से हो सकती है। पीरियड्स के दौरान कुछ महिलाओं को हैवी ब्लीडिंग की समस्या से गुजरना पड़ता है। जिसकी वजह से शरीर में खून की कमी यानि एनीमिया की समस्या उत्पन्न हो सकती है। शरीर में लाल रक्त कणिकाओं की कमी में एनीमिया की समस्या होती है। जिसकी वजह से महिलाओं को चक्कर आने और शरीर का संतुलन खोने जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है। वहीं कुछ महिलाओं में आयरन की कमी से एनीमिया की समस्या होती है और ऐसे में पीरियड्स के दौरान अधिक ब्लीडिंग होने से उनमें यह समस्या और गंभीर हो जाती है।  इस दौरान चक्कर आने पर आपको किसी चिकित्सक की सलाह जरूर लेनी चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : पीरियड्स के आलावा वेजाइनल ब्लीडिंग के हो सकते हैं ये 10 कारण, जानें उपाय

3. पीरियड्स क्रैम्प्स (Period Cramps)

पीरियड्स के दौरान ऐंठन (क्रैम्प्स) की समस्या की वजह से भी महिलाओं को चक्कर आने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। पीरियड्स के समय गर्भाशय सिकुड़ने लगता है जिसकी वजह से गंभीर रूप से क्रैम्प्स का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि पीरियड्स यानि मासिक धर्म के दौरान ऐंठन सामान्य मानी जाती है लेकिन यह एंडोमेट्रियोसिस जैसी स्थिति की वजह से गंभीर रूप भी ले सकती है। इसकी वजह से भी आपको पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। 

4. भूख और प्यास की वजह से (Hunger or Thurst)

प्यास लगने या भूख की वजह से भी चक्कर आने की समस्या हो सकती है। चूंकि पीरियड्स के दौरान क्रैम्प्स और पेट से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए ज्यादातर महिलाएं कुछ ही खाने पीने से बचने की कोशिश करती हैं। इस दौरान पेट खराब होने के डर से ज्यादातर महिलाएं पर्याप्त रूप से भोजन नहीं करती हैं जिसकी वजह से भूख और प्यास लगने लगती है। समय पर भोजन और पानी न पीने की वजह से आपको चक्कर की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

इसे भी पढ़ें : पीरियड्स में खून के थक्के (ब्लड क्लॉटिंग) की समस्या से राहत पाने के 6 घरेलू उपाय

Dizziness-During-Periods

5. पीरियड से जुड़े माइग्रेन की वजह से (Period-Related Migraine)

पीरियड की वजह से तमाम महिलाएं माइग्रेन की समस्या से पीड़ित होती हैं। एक आंकड़े के मुताबिक लगभग 60 प्रतिशत महिलाओं को पीरियड्स की वजह से होने वाली माइग्रेन की समस्या का सामना करना पड़ता है। यह समस्या शरीर में एस्ट्रेजन में उतार-चढ़ाव की वजह से भी होती है। इस दौरान अगर आप पीरियड्स से जुड़े माइग्रेन का अनुभव कर रही हैं तो इसकी वजह से भी चक्कर आने की समस्या का सामना करना पड़ सकता है। 

इसे भी पढ़ें : पीरियड्स में ब्राउन ब्लड आना कितना सामान्य है? जानें एक्सपर्ट से

6. प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्फोरिक डिसऑर्डर - पीएमडीडी (Premenstrual Dysphoric Disorder-PMDD)

प्रीमेंस्ट्रुअल डिस्फोरिक डिसऑर्डर (पीएमडीडी) की वजह से भी आपको पीरियड्स यानि मासिक धर्म के दौरान कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हालांकि इस समस्या के कई कारण हो सकते हैं और अभी तक इसके सटीक कारण का पता नहीं चल पाया है। लेकिन ज्यादातर एक्सपर्ट्स का यह मानना है कि ये समस्याएं हार्मोनल परिवर्तन की वजह से होती हैं। इनकी वजह से भी आपको गंभीर चक्कर का सामना करना पड़ सकता है। चक्कर की समस्या अधिक होने पर आपको किसी योग्य चिकित्सक की सलाह जरूर लेनी चाहिए। 

पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या के बचाव (How to Stop Dizziness During Period)

पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या कई वजहों से होती है। चूंकि पीरियड्स के दौरान आपके शरीर को पहले से ही कई तकलीफ झेलनी पड़ती है और इन सबके पीच कुछ परिस्थितियों की वजह से चक्कर आने समस्या अधिक हो जाती है। इस समस्या से बचने के लिए आप बातों का ध्यान जरूर रखें।

  • ऐंठन के लिए हीटिंग पैड या गर्म पानी की बोतल का इस्तेमाल करें।
  • खानपान और जीवनशैली में बदलाव करें।
  • पीरियड्स के दौरान कैफीन और शराब आदि का सेवन न करें।
  • पीरियड्स के दौरान पर्याप्त नींद लें।
  • पीरियड्स के दौरान पानी का पर्याप्त सेवन करें। 
  • समय से और संतुलित व पौष्टिक भोजन का सेवन करें। 
  • शरीर की कमजोरी से बचने के लिए आहार में प्रोटीन शामिल करें। 
  • मछली, मांस, हरी सब्जियां, टोफू, ब्रोकली जैसे आयरन युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें। 
  • पीरियड्स से पहले और उसके दौरान मल्टीविटामिन का सेवन करें। 
Dizziness-During-Periods
 

पीरियड्स के दौरान चक्कर आने की समस्या तेज होने पर चिकित्सक से जरूर संपर्क करें। आप चिकित्सक से पीरियड्स के दौरान होने वाली अत्यधिक ब्लीडिंग की समस्या पर भी सुझाव लें। इसके अलावा खानपान और जीवनशैली में बदलाव आपके लिए लाभदायक हो सकता है।  पीरियड्स के दौरान और उससे पहले योग और व्यायाम का सहारा लें। 

Read More Articles on Womens Health in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK