स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत फायदेमंद है अश्‍वगंधा

Updated at: Jun 11, 2015
स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से बहुत फायदेमंद है अश्‍वगंधा

अश्वगंधा भारतीय जिनसेंग के रूप में जाना जाता है यह सैकड़ों वर्ष से एक हर्बल उपचार के रूप में उपयोग में लाई जाती है। अश्वगंधा चाय पौधो की जड़ों और पत्तियों से बनी होती है और स्वास्थ्य लाभ के लिए भी उपयोग में लाई जाती है।

Pooja Sinha
घरेलू नुस्‍खWritten by: Pooja SinhaPublished at: Jun 10, 2015

अश्वगंधा सैकड़ों वर्ष से एक हर्बल उपचार के रूप में उपयोग में लाया जाता है। न केवल भारत में, बल्कि नेटिव अमेरिकिन और अफ्रीकन भी सूजन और बुखार का इलाज और संक्रमण के खिलाफ संरक्षण के रूप में इसका उपयोग कर रहे है।

अश्वगंधा भारतीय जिनसेंग (औषधीय पौधा जो दक्षिण एशिया और उत्तर अमेरिका में पाया जाता है) के रूप में जाना जाता है और इसका उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में किया जाता है जैसे कि एशियन जिनसेंग पारंपरिक चीनी चिकित्सा में प्रयोग किया जाता है। अश्वगंधा चाय पौधो की जड़ों और पत्तियों से बनी होती है और स्वास्थ्य लाभ के लिए भी उपयोग में लाई जाती है। यह चाय आसानी से एक पोने घंटे के लिए पानी में सूखी जड़ी बूटी को उबालने और फिर इसको छानने के द्वारा घर पर आसानी से बनाई जा सकती है। पौधे की जड़ बड़े पैमाने पर वजन में कम से कम तीन ग्राम होनी चाहिए, और यह मात्रा तीन से चार कप चाय बनाने के लिए चाहिए।

ashawgandha in hindi

क्‍या है अश्वगंधा

अश्वगंधा टमाटर के रूप में एक ही संयंत्र परिवार से एक झाड़ी (पौधा) है। इसमें फ्लेवोनॉइड और एंटीऑक्सीडेंट की तरह कई लाभकारी तत्व है। अनुसंधान से पता चलता है कि यह मस्तिष्क में न्यूरोलॉजिकल ट्रांसमिशन में सुधार लाने में मदद करता है। स्कूल जाने वाले बच्चों नें याददाश्त में सुधार आने जैसे लाभो के बारे में कहा है और हर सुबह नियमित रूप से अश्वगंधा चाय के सेवन द्वारा ज्ञान को स्वीकार किया है। आइए जानें अश्‍वगंधा आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए कैसे फायदेमंद है।


एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर

अश्वगंधा के एंटीऑक्सीडेंट गुण जाहिरा तौर पर एलडीएल ऑक्सीकरण में कमी लाते है, जिससे हृदय रोग के विकास के जोखिम में कमी आती है यदि नियमित रूप से यह लिया जाता है। अश्वगंधा के एक अन्य लाभ मधुमेह रोगियों के लिए मोतियाबिंद को रोकना है। मोतियाबिंद दुनिया में अंधापन का एक प्रमुख कारण हैं, और भी मधुमेह रोगियों के लिए एक विकलांगता के प्रमुख स्रोत हैं। जिनसेंग और जिनसेंग की तरह अश्वगंधा जड़ी बूटी ओस्सिडेटिव प्रक्रियाओं को रोकती है जोकि मोतियाबिंद को विकसित करने का कारण हो सकता है। अश्वगंधा में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट कैंसर को रोकने में भी मदद कर सकता है, हालांकि एक डॉक्टर के परामर्श के बिना कभी भी सप्लीमेंट नही लिया जाना चाहिए।

alzhemier in hindi

अल्‍जाइमर रोग का उपचार करें

यह अल्जाइमर रोग के उपचार में भी सहायक पाया गया है। फिलिस बाल्च के अनुसार, एक प्रमाणित पोषण विशेषज्ञ के मुताबिक, यह जड़ी बूटी मस्तिष्क उपयोगी एक्टेल्कोलाइन, जो एक रसायन है संशोधित करने के द्वारा सही समृति हानी में मदद करता है, जो तंत्रिका कोशिकाओं के बीच संदेश पहुंचाता है। यह आश्चर्यजनक जड़ी बूटी अपनी ही कोशिकाओं को नष्ट करने से मस्तिष्क को बचाने की मदद करता है, स्मृति हानि और संज्ञानात्मक हानि को रोकता है।


गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद 

गर्भवती माताओँ को इसके सेवन के लिए अत्यधिक सिफारिश की गई है। यह मां के रक्त को शुद्ध करने और उसकी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के लिए भी जाना जाता है पारंपरिक आयुर्वेदिक दवाइयों को प्रसव के दौरान अश्वगंधा चाय का उपयोग करते है क्योंकि यह एक गर्भाशय शामक है।


मन को शांत करें

अश्वगंधा को एक हल्के शामक के रूप में भी जाना जाता है चूंकि यह मन को शांत करता है और आरामदायक नींद को बढ़ावा देते है। यह एक टॉनिक के रूप में आयुर्वेदिक चिकित्सा में तनाव को रोकने और सहनशक्ति को बढ़ाता है।

anti ageing in hindi


एंटी-एजिंग भी है अश्‍वगंधा  

इसमें एंटी-एजिंग लाभ भी है चूंकि यह ऊतको के पुनर्जनन को बढ़ावा देता है और उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। 2,500 से अधिक वर्षों के लिए, अश्वगंधा को एक एडेपटोजेन के रूप में उपयोग किया जाता है, जिसका अर्थ है कि यह दिमाग औऱ शरीर को तनाव से उभरने में मदद रकता है। यह फिर से युवा, संतुलन, मजबूत और तंत्रिका तंत्र को शांत करने के लिए उपयोग किया जाता है।


स्वाभाविक रूप से अश्वगंधा में स्टेरॉयड होता है जो विभिन्न स्थितियों में लाभकारी है जैसे कि गठिया और कार्पन टनेल सिंड्रोम के उपचार में लाभकारी है। ये प्राकृतिक स्टेरॉयड ऐसे इनफ्लेम्मेटरी स्थितियों के साथ जुड़े दर्द को कम करने में विशेशरूप से लाभकारी हो सकती है। हालांकि, यहां इस जड़ीबूटी के के लिए स्वास्थ्य लाभो का समर्थन करने के लिए कई शोध किये गए है, यह उचित होगा कि अश्वगंधा चाय के साथ किसी भी गंभीर चिकित्सा स्थिति के उपचार से पहले चिकित्सक से परामर्श करें।


Image Source : Getty

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK