घर में इंफेक्शन और बीमारियों का कारण आपका हैंडबैग तो नहीं? जानें इंफेक्शन को रोकने के 10 उपाय

Updated at: Jan 20, 2021
घर में इंफेक्शन और बीमारियों का कारण आपका हैंडबैग तो नहीं? जानें इंफेक्शन को रोकने के 10 उपाय

गंदे हैंडबैग से आपको कई तरह के इंफेक्‍शन और बीमार‍ियां हो सकती है। इससे बचने के ल‍िये बैग को साफ रखने ट‍िप्‍स जान लें।  

Yashaswi Mathur
विविधWritten by: Yashaswi MathurPublished at: Jan 20, 2021

हम में से ज्‍यादातर लोग हर द‍िन हैंडबैग या पर्स का इस्‍तेमाल करते हैं पर क्‍या आपको पता है क‍ि आपके गंदे हैंडबैग से भी इंफेक्‍शन या बीमार‍ियां फैल सकती हैं? जीं हां आपका हैंडबैग क‍िसी टॉयलेट की सीट ज‍ितना गंदा हो सकता है। हम अक्‍सर बैग की सफाई करने से बचते हैं ज‍िसके चलते उस पर धूल-म‍िट्टी जमती है ज‍िससे बैक्‍टेर‍िया और वायरस अटैक करते हैं और हमारे छूने से वो हमारे बॉडी में ट्रांसफर हो जाते हैं। इस तरह से हमारी बॉडी में केवल एक हैंडबैग से स्‍क‍िन इंफेक्‍शन, सर्दी, बुखार जैसी बीमार‍ियां हो सकती हैं। इससे बचने के ल‍िये आपको अपना बैग और हाथ दोनों की सफाई जरूर करनी चाह‍िये। हैंडबैग को साफ रखने के तरीके और बीमार‍ियों से बचने के उपाय जानने के ल‍िये हमने बात की ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से कुछ काम के ट‍िप्‍स ल‍िये। 

handbag can cause infection

गंदे हैंडबैग में छुपे होते हैं बैक्‍टेर‍िया? (How dirty is your handbag)

अक्‍सर लोगों को ये भ्रम रहता है क‍ि बैग को साफ जगह पर रखने से पर्स या हैंडबैग गंदा नहीं हो सकता। इस बात में कोई सच्‍चाई नहीं है। आप जहां भी बैग रखते हैं वहां छोटे बैक्‍टेर‍िया मौजूद होते हैं जो आपके बैग पर च‍िपक जाते हैं और सफाई न होने के कारण हो मल्‍टीप्‍लाई होते जाते हैं। इस तरह जब आप बैग को टच करते हैं तो ई-कोलाई नाम का बैक्‍टेर‍िया और अन्‍य छोटे बैक्‍टेर‍िया आपके शरीर में बीमारी फैलाते हैं। इससे बचने के ल‍िये बैग की सफाई जरूरी है। 

इसे भी पढ़ें- स्कार्फ या टाई देर तक पहनने से हो सकता है इंफेक्शन का खतरा, इन्हें रेगुलर पहनते हैं तो बरतें ये 10 सावधानियां 

क‍िन चीज़ों से गंदा हो सकता है बैग? (Handbag contains germs)

आप बैग में खाने का सामान रखते हैं तो आपको रोजाना बैग को साफ करना चाह‍िये। ऐसा न करने से फंगल इंफेक्‍शन हो सकता है। कई लोग मेकअप प्रोडक्‍ट्स को अच्‍छी तरह बंद क‍िये बगैर ही बैग में डाल लेते हैं इससे बैग और प्रोडक्‍ट दोनों में जर्मस होने की आशंका बढ़ जाती है। एक शोध में ऐसा कहा गया है क‍ि मेन वॉलेट की तुलना में लेडीज़ बैग ज्‍यादा गंदा रहता है। आपको बैग में ज्‍यादा सामान भरने से बचना चाह‍िये। इसके साथ ही जो चीज़ें बैग में हमेशा रखी रहती हैं उन्‍हें भी हफ्ते में कम से कम एक बार जरूर साफ करें। 

हैंडबैग से होने वाली बीमारियां (Dirty purse can cause diseases)

अगर आप बैग को साफ नहीं करेंगे तो उससे आपके शरीर में कई बीमार‍ियां हो सकती हैं। अगर आपकी त्‍वचा में कोई क्रैक है तो स्‍क‍िन से जुड़ी बीमारी गंभीर रूप ले सकती है। नोट‍िस करें क‍ि हैंडबैग को छूने के कुछ समय बाद आपके शरीर के क‍िसी ह‍िस्‍से या हाथों पर खुजली, जलन या लाल रंग के चकते तो नहीं बन रहे। अगर ऐसा है तो समझ जाइये इसका कारण इंफेक्‍शन है। ऐसा होने पर डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट से संपर्क करें और दाने या रैशेज पर एंटीसेप्‍ट‍िक क्रीम लगा लें। गीले बैग से भी इंफेक्‍शन फैलता है इसल‍िये बैग में कुछ भी ल‍िक्‍व‍िड रखने के बाद उसे अच्‍छी तरह पोंछ दें और कि‍सी गीली सतह पर बैग रखने से बचें। अगर बैग क‍िसी ऐसे व्‍यक्‍त‍ि के हाथ में है ज‍िसे सर्दी है तो उससे इंफेक्‍शन आपके बैग पर भी ट्रांसफर हो सकता है इसल‍िये सतर्क रहें। इन सब बातों का ध्‍यान रखकर आप बीमारी से बच सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें- रोजाना नेलपॉलिश-लिपस्टिक लगाने की आदत कहीं आपको बीमार न बना दे, एक्सपर्ट से जानें किस समस्या का होता है खतरा

इंफेक्‍शन से बचने के उपाय (How to prevent infection from handbag)

prevent infection from handbag

  • 1. हैंडबैग से होने वाले इंफेक्‍शन से बचने का सबसे सरल उपाय है आप बैग को समय-समय पर साफ करते रहें। इसके ल‍िये गरम पानी में ल‍िक्‍व‍िड साबुन को म‍िला लें। सोप बार हार्ड होते हैं इसल‍िये उनका इस्‍तेमाल न करें। बार की जगह आप शैम्‍पू का इस्‍तेमाल भी कर सकते हैं। सोप म‍िश्रण को बैग के बाहरीऔर अंदरूनी ह‍िस्‍से पर ब्रश रगड़ते हुए साफ करें। 
  • 2. बैग को धूप जरूर द‍िखायें। बैग को साफ करने के बाद तुरंत सामान न भरें। उसको धूप में सुखायें। ऐसा करने से बैग में मौजदू सभी क‍ीटाणु मर जायेंगे। अगर बैग के कोने में कुछ गंदगी अटकी है तो टूथप‍िक की मदद से उसे न‍िकाल सकते हैं। 
  • 3.बैग में मेकअप का सामान रखने से आपको बचना है। मह‍िलायें तैयार होने के ल‍िये मेकअप को बैग में रख लेती है पर ये गलत है। कई बार मेकअप प्रोडक्‍ट खुलकर बैग में फैल जाता है। अगर कुछ सामान रखना है तो उसे पाउच में करके रखें। बैग में लंबे समय से रखी पुरानी लिप्‍सट‍िक में भी बैक्‍टेर‍िया पनपने लगते हैं  जो पूरे बैग में फैल जाते हैं इसलि‍ये चीज़ों को बैग से न‍िकालते रहना चाह‍िये। 
  • 4.हैंडबैग से होने वाले इंफेक्‍शन से बचना चाहते हैं तो बैग में खाने का सामान रखने की गलती न करें। अगर आप लंच या कुछ ले जा रहे हैं तो ध्‍यान रखें क‍ि खाने का कंटेनर अच्‍छी तरह बंद हो। अगर खाना का एक टुकड़ा भी बैग में ग‍िर जायेगा तो बैग में बैक्‍टेर‍िया पनपने लग जायेंगे। इसल‍िये बैग में साफ और एयरटाइट कंटेनर ही रखें। 
  • 5. बैग को कैरी करने से पहले उसके मटेर‍ियल पर ध्‍यान दें। लैदर बैग में कॉटन या वूलन बैग के मुकाबले ज्‍यादा बैक्‍टेर‍िया हो सकते हैं। अगर चमड़े से बना बैग कैरी कर रहे हैं तो साफ-सफाई का खास ख्‍याल रखें। 
  • 6. बैग को साफ करने के ल‍िये आप उसे महीने में 2 बार ड्रायक्‍लीन भी करवा सकते हैं। ड्रायक्‍लीन करवाने से बैग में मौजूद जर्मस अच्‍छी तरह खत्‍म हो जायेंगे। हैंडबैग को ड्रायक्‍लीन करवाने से वो लंबे समय तक चलते भी हैं। 
  • 7.बैग को साफ जगह पर रखें। अगर आपको बैग को क‍िसी सतह पर रखना है तो बैग रखने से पहले पेपर ब‍िछा लें और उसके ऊपर बैग को रखें। इसके साथ ही बैग में ज्‍यादा सामान भरने से बचें। बैग में जितना कम सामान रखेंगे बैग उतना ही साफ रहेगा। 
  • 8. आप हमेशा वाटरप्रूफ बैग ही कैरी करें क्‍योंक‍ि इससे बार‍िश के द‍िनों में आपके बैग में रखा सामान गीला नहीं होगा और बैक्‍टेर‍िया भी नहीं पनप पायेंगे। आपको ध्‍यान रखना है क‍ि बैग में क‍िसी भी तरह मॉइश्‍चर न इकट्ठा हो। 
  • 9.बैग को इस्‍तेमाल करने के बाद प्‍लास्‍ट‍िक के बैग में रखने से बचें। बैग को सुरक्षित और जर्मस फ्री रखने के ल‍िये उसे कॉटन बैग में रख सकते हैं। 
  • 10. ज‍िस समय आप बैग का इस्‍तेमाल न कर रहे हों तो उसका सारा सामान न‍िकालकर उसमें ट‍िशू पेपर डालकर रखें। ऐसा करने से बैग में धूल-म‍िट्टी नहीं जमेगी और बीमार‍ियां नहीं फैलेंगी। आपको इस बात का भी ध्‍यान रखना है क‍ि बैग को हमेशा  ऊंची जगह पर रखें। इससे वो कम गंदा होगा।  

इन बातों का ध्‍यान रखकर आप अपने हैंडबैग को साफ और बीमार‍ियों को दूर रख सकते हैं। 

Read more on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK