• shareIcon

दिल के लिए अच्‍छा नहीं गुस्‍सा

लेटेस्ट By ओन्लीमाईहैल्थ लेखक , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 10, 2012
दिल के लिए अच्‍छा नहीं गुस्‍सा

जानिए, कैसे ज्यादा गुस्सा करना आपके दिल के लिए खतरनाक हो सकता है।

dil ke liye acha nahi gussa

हाल ही में हुआ अध्‍ययन बताता है कि सामान्‍य लोगों के मुकाबले तुनकमिजाज लोगों को हृदयाघात की आशंका दोगुनी होती है। स्‍पेन के मैड्रिड स्थित सैन कार्लोस यूनिवर्सिटी के अध्‍ययन में यह बात सामने आयी है। इसके मुताबिक गुस्‍सैल और असंयमित व्‍यवहार करने वालों को स्‍ट्रोक होने की आशंका उतनी ही होती है, जितनी सिगरेट पीने वालों को।

 

इसे भी पढ़े: गुस्से को कैसे कहे बॉय

 

शोधकर्ता हृदयाघात के मरीजों और स्‍वस्‍थ लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य का तुलनात्‍मक अध्‍ययन के बाद इस नतीजे पर पहुंचे। ये सभी लोग एक ही क्षेत्र के रहने वाले थे। इनकी औसत आयु 54 साल थी। शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों की बेचैनी और डिप्रेशन की जांचकर उनमें तनाव का स्‍तर पता लगाया।

 

जानकारों ने पाया कि जिन प्रतिभागियों में तनाव का स्‍तर अधिक था, उन्‍हें स्‍ट्रोक होने की आशंका अधिक थी। इस टीम के प्रमुख डॉक्‍टर जोश एंटोनियो बताते हैं कि तुनकमिजाज और तनाव ग्रसत रहने वालो लोगों पर हृदयाघात का खतरा काफी ज्‍यादा होता है। इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि व्‍यक्ति की जीवनशैली क्‍या है और वह पुरुष है या फिर महिला।

 

इसे भी पढ़े: तनाव भगाने के दस आसान टिप्स

 

एंटोनयों ने यह भी कहा कि ऐसे लोगों को स्‍ट्रोक होने की आशंका चार गुना तक बढ़ जाती है जिन्‍होंने हाल-फिलहाल में किसी दुर्घटना का सामना किया हो। जैसे किसी करीबी की मौत या फिर कोई भयंकर रोग। इससे बचने के लिए स्‍वस्‍थ जीवनशैली अपनाने के साथ-साथ दिमाग को स्थिर रखने और स्‍वभाव में संयम बरतने की सलाह दी।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK