पित्ताशय की थैली निकलवाने के बाद कैसी हो आपकी डाइट? जानें खान पान से जुड़ी जरूरी सावधानियां

Updated at: Jul 21, 2020
पित्ताशय की थैली निकलवाने के बाद कैसी हो आपकी डाइट? जानें खान पान से जुड़ी जरूरी सावधानियां

पित्ताशय की थैली में पथरी होने पर डॉक्टर पित्ताशय को हटाने की सलाह देते हैं, वैसे तो सर्जरी के बाद पाचन में कोई समस्या नहीं होती, पर ये चीजें ध्यान दे

Monika Agarwal
स्वस्थ आहारWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jul 21, 2020

आपके पित्ताशय की थैली में किसी तरह की कोई परेशानी है जैसे पथरी या किसी तरह का कोई इंफेक्शन तो डॉक्टर आपको पित्ताशय की थैली निकलवाने की सलाह देते हैं। यदि आप पित्ताशय की थैली को सर्जरी के माध्यम से निकलवा भी लेते हैं तो इससे वैसे तो कोई ज्यादा दिक्कत नहीं होती है क्योंकि आपका शरीर पित्ताशय की थैली के बिना भी जीवित रह सकता है। परन्तु आपके शरीर को पित्ताशय की थैली के बिना एडजस्ट करने में कुछ दिन का समय लग सकता है। ज्यादातर लोगों को इस सर्जरी के बाद खाने का पाचन करने मे कोई तकलीफ़ नहीं होती है। परंतु यदि आपको होती है तो आपको कुछ चीजों को खाने से बचना चाहिए। पित्ताशय के निकलने के बाद आपको किन किन खानों से बचना चाहिए  जिससे आपको किसी तरह का कोई नुकसान न हो जानिये।

insidegolbladderremoval

क्या है पित्ताशय की थैली ?

पित्ताशय की थैली एक छोटा सा अंग है जो लिवर के नीचे होती है।इसका मुख्य कार्य पित्त को स्टोर करना, कंसंट्रेट करना और लिवर द्वारा बनाये गये तरल को स्रावित करना है। जो वसायुक्त खाद्य पदार्थों को पचाने में मदद करता है। यदि आप किसी कारण वश  पित्ताशय की थैली को हटवाने के लिए सर्जरी करवाते हैं, तो आपका लिवर अभी भी सामान्य पाचन के लिए पर्याप्त पित्त का उत्पादन करेगा। लेकिन आपके पित्ताशय में संग्रहित होने के बजाय,  सीधे  छोटी आंत में प्रवाहित होगा।

इसे भी पढ़ें : गॉलब्‍लैडर में स्‍टोन हो सकता है आपके लिए खतरनाक, जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके

यह चीजे आपको नहीं खानी चाहिए (Dietary Adjustments After Gallbladder Surgery)

जब तक आपकी बॉडी पित्ताशय के बिना रहने में एडजस्ट नहीं होती है ,तब तक आपको उन चीजों को खाना छोड़ देना चाहिए, जिनमें फैट की मात्रा अधिक होती है। जैसे

अत्याधिक फैट युक्त ( Fats)

तली हुई चीजें जैसे फ्रेंच फ्राई व चिप्स , फैट में अधिक मीट जैसे बैकन, सॉसेज, बीफ  डेयरी उत्पाद जिनमें फैट की मात्रा अधिक होती है, जैसे बटर, चीज, आइस क्रीम, क्रीम, दूध  पिज्जा,घी या बटर से बने हुए उत्पाद। 

हाई फाइबर (Rich Fiber diet)

फैट से युक्त होने के साथ साथ हाई फाइबर उत्पादों से भी आपको थोड़ी बहुत दिक्कत हो सकती है।  आपको इन चीजों को खाने से बचना चाहिए। जैसे-अनाज व ब्रेड,बादाम ,किसी भी प्रकार के बीज,फलियां,अंकुर,ब्रॉक्ली,पत्ता गोभी,फूल गोभी आदि।

insidehealthydiet

थोड़ी मात्रा में खाये़ (Eat less)

इनकी बजाए आप वह चीज खा सकते हैं जिनमें सॉल्युबल फाइबर होता है जैसे ओट्स या जौ। आपको बहुत अधिक खाना नहीं खाना चाहिए क्योंकि अब आपके शरीर में पहले कि तरह ज्यादा खाना नहीं पच पाएगा। इसकी बजाए थोड़ी थोड़ी मात्रा में कई बार खाने से आपका खाना अच्छी तरह पच पाएगा। 

इसे भी पढ़ें : आपके मूत्राशय की 3 स्थितयां बता सकती हैं आपके स्वास्थ्य का हाल, जानें क्या हैं ये

मिर्च मसालेदार (spicy food)

यदि आप ज्यादा मिर्च मसालों वाला खाना खाएंगे तो आपके पाचन तंत्र में भी इससे दिक्कत हो सकती है। यदि आप को किसी चीज को खाने से अपने शरीर में कहीं भी दिक्कत महसूस होती है तो आप उसको एक डायरी  में नोट कर लेना चाहिए ताकि आप दुबारा उस चीज को न खाएं। आप अपने डॉक्टर से भी अपने लिए डाइट प्लान बनवा सकते हैं।

पित्ताशय निकलने के बाद कुछ ध्यान देने योग्य बातें ( Things to remember after surgery)

अपने पित्ताशय के निकलने के बाद आपको अपने डॉक्टर की सभी बातों का सावधानी पूर्वक व सख्ती से पालन करें। यदि आप अस्पताल में हैं तो आपके डॉक्टर आपको पहले केवल तरल पदार्थ देंगे। फिर जब आपका शरीर खाद्य पदार्थो को अच्छे से पचाने लगेगा तब ही आपको खाद्य पदार्थ दिए जाएंगे।

परंतु यदि आप घर पर ही ठीक हो रहे हैं तो आपको अपनी सेहत का पूरा ध्यान रखना होगा। आपको भी धीरे धीरे खाद्य पदार्थो को अपनी डाइट में लाना होगा। शुरुआत तरल पदार्थो से कर सकते हैं और एक दम से अधिक खाना बिल्कुल न खाएं अन्यथा आपको डायरिया या उल्टियां हो सकती है।

Read more articles on Diet-Tips in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK