अब ब्लड टेस्ट से हो सकेगी फेफड़ों के कैंसर की पहचान

Updated at: Sep 19, 2013
अब ब्लड टेस्ट से हो सकेगी फेफड़ों के कैंसर की पहचान

हाल ही में हुए शोध के मुताबिक शुरुआती अवस्था में फेफड़ों के कैंसर की पहचान के लिए ब्लड टेस्ट मददगार साबित हो सकता है। ज्यादा जानकारी के लिए पढ़े ये खास खबर।

एजेंसी
लेटेस्टWritten by: एजेंसीPublished at: Sep 19, 2013

blood testअक्सर फेफड़ों के कैंसर के बारे में अगर शुरुआती अवस्था में बचा लग जाए तो रोगी को आसानी से बचाया जा सकता है। हाल ही में हुए शोध में पाया गया है कि अब ब्लड टेस्ट के जरिए इसका पता लगाना आसान हो जाएगा।  

वैज्ञानिकों ने एक नए अध्ययन में पाया है कि फेफड़े के कैंसर से पीड़ित लोगों के खून में एक खास तरह के प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है। यह खोज सामने आने के बाद इस बीमारी की जांच के लिए साधारण सा ब्लड टेस्ट विकसित करने का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

शोधकर्ताओं ने पाया कि फेफड़ों के कैंसर से ग्रसित लोगों में आईसोसिट्रेट डी हाइड्रोजिनेज (आइडीएचआइ) प्रोटीन काफी उच्च मात्र में पाया जाता है। प्रमुख शोधकर्ता और बीजिंग में चाइनीज एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेस के निदेशक जाइ हे ने कहा कि यह पहला शोध है जिसने आइडीएचआइ की पहचान की है। इस बीमारी का पता काफी देर से चल पाता है।

यही वजह से कि दुनियाभर में तेजी से फैल रही इस बीमारी की मृत्युदर अभी काफी ज्यादा है। 2007 से 2011 के बीच 943 मरीजों के रक्त के नमूनों की जाच कर शोधकर्ता इस निष्कर्ष पर पहुंचे। यह शोध अमेरिकन एसोसिएशन फॉर कैंसर रिसर्च के जर्नल क्लीनिकल कैंसर में प्रकाशित हुआ है।

 

Read More Health News In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK