• shareIcon

डाइबिटीज में करेला खाने के फायदे

स्वस्थ आहार By रीता चौधरी , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / May 16, 2012
डाइबिटीज में करेला खाने के फायदे

डाइबिटीज में करेले के फायदे

Diabetes me karela khane ke faayde

करेले का नाम सुनते ही जीभ में कड़वाहट सी घुल जाती है, पर इसके कड़वेपन पर मत जाइए, औषधीय गुणों के लिहाज से यह किसी भी अन्य सब्जी या फल से कम नहीं। करेला ग्रीष्म ऋतु की सब्जी है। डाइबिटीज के मरीज़ों के लिए भी बहुत फायदेमंद है। इसमें फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है। भोजन आसानी से पचता है, और भूख खुलकर लगती है।

डाइबिटीज में करेला खाने के अनेक फायदे है-


•    करेला रक्तशोधक सब्जी है, इसलिए डाइबिटीज रोगियों को एक चौथाई कप करेले के रस में समान मात्रा में गाजर का रस मिलाकर पीना चाहिए।

•    डाइबिटीज के रोगियों को करेले का रस और सब्जी खानी चाहिए। इससे डाइबिटीज को कम किया जा सकता है।


•    50 ग्राम करेले को 100 ग्राम पानी में उबालकर पीने से डाइबिटीज में फायदा होता है।


•    5 ग्राम करेले का रस रोजाना पीने से डाइबिटीज रोग में लाभ होता है।


•    डाइबिटीज के रोगियों को 15 ग्राम करेले का रस 100 ग्राम पानी में मिलाकर रोज 4 बार लगभग 1 माह तक पीना चाहिए। इससे डाइबिटीज में फायदा होता है।

•    10 ग्राम करेले के रस में शहद मिलाकर रोजाना पीने से शुगर पर नियंत्रण होता है।

•    2 महीने तक 20-25 ग्राम तक ताजे करेले के रस में थोड़ा-सा नमक मिलाकर नाश्ते के बाद पीने से डाइबिटीज रोग ठीक हो जाता है।


•    सूखे करेलों का चूर्ण 6 ग्राम, दिन में 1 बार लेने से मूत्र में शर्करा आना बन्द हो जाता है।


•    करेले को पीसकर इसका 3-3 चम्मच रस सुबह-शाम लेने से डाइबिटीज में लाभ होता है।

•    10 ग्राम करेले का रस और 6 ग्राम तुलसी के पत्तों का रस एक साथ मिलाकर रोजाना सुबह पीने से डाइबिटीज में लाभ होता है।


•    250 ग्राम करेले को आधा किलो पानी में उबाल लें, चौथाई पानी रहने पर छानकर पीयें। इससे डाइबिटीज में लाभ होगा।


•    करेले को सुखाकर महीन चूर्ण बना लें और इसे 4-6 ग्राम की मात्रा में पानी के साथ दिन में 2 बार सेवन करें। इससे डाइबिटीज में लाभ होगा।


•    जिन बच्चें को डाइबिटीज है, उन्हेंक रोजाना करेले की सब्जी खिलाने से बहुत लाभ होता है।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK