• shareIcon

दिल्‍ली में नहीं बिकेगा गुटखा

एक्सरसाइज और फिटनेस By ओन्लीमाईहैल्थ लेखक , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 11, 2012
दिल्‍ली में नहीं बिकेगा गुटखा

जाने, गुटखा के नुकसानों और उस पर लगे प्रतिबंधों के बारे में।

delhi me nahi bikega guthka

तंबाकू के खिलाफ सरकारी जंग तेज होती जा रही है। देश की राजधानी दिल्‍ली भी अब उन राज्‍यों की श्रेणी में शुमार हो गयी है जहां गुटखा और तंबाकू नहीं बिकेगा। लोगों के स्‍वास्‍थ्‍य को ध्‍यान में रखकर लिए गए फैसले का स्‍वागत किया जाना चाहिए। गौरतलब है कि मुंह के कैंसर की सबसे बड़ी वजह गुटखा और पान मसाला ही है।

गुटखा का सेवन करके कई लोग मुंह के कैंसर और फेफड़े के कैंसर का शिकार होते हैं। गुटखा और पान मसाला में निकोटीन और तंबाकू होता है जो कि स्‍वास्‍थ्‍य के लिए हानिकारक है। दिल्‍ली में मुंह के कैंसर के बढ़ रहे रोगियों के कारण सरकार ने यह कदम उठाया।

इसे भी पढ़े- (दृढ़ इच्छाशक्ति हो तो छोड़ सकते हैं धूम्रपान)

फैसले के मुताबिक खाद्य सुरक्षा एवं मानक नियम, 2011 के तहत जो भी इस नियम का उल्‍लंघन करेगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। इस कानून में सात साल तक की सजा और 10 लाख रुपये तक जुर्माने का प्रावधान है। स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधियों का कहना है कि राजधानी दिल्‍ली में तंबाकू सेवन करने के कारण फेफड़ों के कैंसर और मुंह के कैंसर के मरीजों की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है।

इसे भी पढ़े- (विश्व तम्बाकू निषेध दिवस)

दिल्ली में अब गुटखा न बिकेगा और न ही बनेगा। सरकार ने गुटखा और उससे जुड़ी चीजों के उत्पादन, बिक्री, प्रदर्शन, परिवहन और भंडारण पर पाबंदी लगा दिया है।
इससे पहले पड़ोसी राज्य हरियाणा ने भी 15 अगस्त को ही गुटखा को हरियाणा में प्रतिबंधित किया था। इसके अलावा मध्य प्रदेश, केरल, हरियाणा, बिहार, महाराष्ट्र, हिमाचल प्रदेश, राजस्थान व गोवा में तंबाकू उत्पादों की बिक्री पर रोक लगाई जा चुकी है।

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।