• shareIcon

दिल्ली गैंग रेप पीड़िता की मौत

लेटेस्ट By ओन्लीमाईहैल्थ लेखक , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Dec 29, 2012
दिल्ली गैंग रेप पीड़िता की मौत

गैंग रेप पीड़िता के कई मुख्य अंगों ने काम करना बंद कर दिया था जिसकी वजह से उसकी मौत हो गई। 

delhi gang rape pidita ki maut

सिंगापुर/ नई दिल्ली: दिल्ली की चलती बस में गैंग रेप का शिकार हुई छात्रा अब हमारे बीच नहीं रहीं। सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ हॉस्पिटल में शानिवार तड़के उसने आखिरी सांसे ली। पिछले तेरह दिनों से जिंदगी की जंग लड़ रही 23 वर्षीय दामिनी (बदला हुआ नाम) के कई मुख्य अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। शनिवार दोपहर बाद उनके पार्थिव शरीर से को एयर इंडिया के विशेष विमान से भारत लाया जाएगा। उम्मीद है कि देर शाम तक पार्थिव शरीर दिल्ली पहुंच जाएगा और रविवार को  अंतिम संस्कार किया जाएगा।

माउंट एलिजाबेथ हॉस्पिटल के सीईओ डॉ केल्विन लो ने छात्रा की मौत की सूचना दी। उन्‍होंने पीडि़ता की मौत पर दुख जताते हुए कहा कि हमें यह बताते हुए काफी दुख हो रहा है कि मरीज का 29 दिसंबर 2012 स्‍थानीय समयानुसार सुबह 4 बजकर 45 मिनट (भारतीय समयानुसार सुबह दो बजकर 15 मिनट) पर निधन हो गया। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में माउंट एलिजबेथ हॉस्पिटल के डॉक्टर, नर्स और कर्मचारी पीड़ित परिवार के साथ हैं।

गौरतलब है कि दिल्ली के वसंत विहार में रविवार 16 दिसंबर की रात चलती बस में गैंग रेप के बाद लड़की को बुरी तरह पीटा गया था। सफदरजंग हॉस्पिटल से लड़की को 26 दिसंबर की रात एयर ऐंबुलेंस के जरिए सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ हॉस्पिटल ले जाया गया था। सफदरजंग हॉस्पिटल में लड़की के तीन ऑपरेशन हुए थे। वहां इलाज के दौरान ज्यादातर समय उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था। डॉक्टरों ने इन्फेक्शन की वजह से मरीज की छोटी आंत को भी ऑपरेशन कर निकाल दिया था।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK