मोटापे से ग्रस्‍त लोगों के शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पर असर डाल रही है कोरोनावायरस महामारी: शोध

Updated at: Jun 13, 2020
मोटापे से ग्रस्‍त लोगों के शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य पर असर डाल रही है कोरोनावायरस महामारी: शोध

हाल में हुए शोध के अनुसार, कोरोनावायरस महामारी मोटे लोग में सबसे अधिक शाररिक और मानिसक स्‍वास्‍थ्‍य को प्रभावति कर सकती है। 

Sheetal Bisht
लेटेस्टWritten by: Sheetal BishtPublished at: Jun 13, 2020

पूरा देश कोरोनावायरस की इस जंग से लड़ रहा है और कुछ लोग इससे संक्रमित होकर अपनी जान गवां बैठ रहे हैं। वहीं कुछ लोगों में ये म‍हामारी शारीरिक और मानिसक स्‍वास्‍थ्‍य दोनों को प्रभावति कर रही है। हाल में हुए एक अध्‍ययन में पाया गया है कि मोटे लोगों इस महामारी में खराब मानिसक स्‍वास्‍थ्‍य और वजन बढ़ना जैसी समस्‍याओं का सामना कर रहे हैं। यह अध्‍ययन जर्नल क्लिनिकल ओबेसिटी में प्रकाशित हुआ, जिसमें शोधकर्ताओं ने 123 रोगियों के वजन का प्रबंधन करने के लिए सर्वेक्षण किया और उनका शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य का विश्लेषण किया। 

क्‍या कहती है रिसर्च?

Obesity and Corona Virus Effect

जर्नल क्लिनिकल ओबेसिटी में प्रकाशित इस अध्‍ययन को शोधकर्ताओं ने 15 अप्रेल से 31 मई के बीच आयोजित, एक ऑनलाइन प्रश्नावली के परिणामों का विश्लेषण किया। जिसमें 51 की औसत उम्र के साथ, प्रतिभागियों में लगभग 87% महिलाएं थीं। इन रोगियों में औसत बॉडी मास इंडेक्स 40 था।

इसे भी पढ़ें: खुश रहने से हो सकती हैं गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्‍याएं दूर, शोध में हुआ खुलासा

इस अध्‍ययन के ऑनलाइन प्रश्नावली के परिणामों के विश्लेषण के बाद शोधकर्ताओं ने पाया, इनमें से लगभग 70% व्यक्तियों को अपने वजन घटाने के लक्ष्यों को प्राप्त करने में अधिक कठिनाई का सामना करना पड़ा, जबकि 48% ने कम समय व्यायाम का अभ्यास किया था, और लगभग 56% ने कम तीव्रता वाले वर्कआउट किए। 

Coronavirus Pandemic Affecting Physical And Mental Health

अध्ययन के लेखक Jaime Almandoz ने कहा: "इस अध्ययन का  प्रमुख लक्ष्‍य यह है कि कोविड -19 महामारी ने मोटापे से ग्रस्‍त लोगों के स्वास्थ्य व्यवहार को कैसे प्रभावित किया है।"

इसे भी पढ़ें: किशोरावस्‍था में बेहतर डाइट पैर्टन बनाए रखने में मददगार है बचपन में रोजाना फ्रूट जूस पीना: शोध में हुआ खुलासा

अध्‍ययन के परिणाम 

अध्ययन के परिणामों में पाया गया कि लगभग 73% रोगियों ने चिंता का अनुभव किया और 84% डिप्रेशन के करीब हाने का खतरा बढ़ गया था। मोटे लोगों में अनियंत्रित डायबिटीज, हाई ब्‍लड प्रेशर और अन्य मोटापे से संबंधित बीमारियां हो सकती है, जो कोरोनावायरस के उच्च जोखिम के साथ, इस दौरान मानसिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर रहा है।  इस महामारी के दौरान मोटे लोगों का जीवन निश्चित रूप से हिट हुआ है। हेल्‍थ एक्‍सपर्ट इस अध्ययन का उपयोग मोटापे से ग्रस्त लोगों के बीच कोविड -19 से शारीरिक और मनोसामाजिक स्वास्थ्य प्रभावों को कम करने के लिए प्रभावी रणनीति खोजने के लिए कर सकते हैं।

Read More Article On Health News In Hindi 

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK