• shareIcon

Health Benefits Of Corn Silk Tea: बॉडी डिटॉक्‍स करने के साथ किडनी स्‍टोन से राहत दिलाती है ये गुणकारी चाय

आयुर्वेद By Atul Modi , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Sep 20, 2019
Health Benefits Of Corn Silk Tea: बॉडी डिटॉक्‍स करने के साथ किडनी स्‍टोन से राहत दिलाती है ये गुणकारी चाय

Corn Silk Tea Benefits: कॉर्न सिल्‍क टी या मकई के रेशम की चाय में कई औषधिय गुण छिपे हैं। एक्‍सपर्ट की मानें तो इसमें मकई से ज्‍यादा फायदे हैं। आप रोजाना इस चाय को पी सकते हैं।

Corn Silk Tea Benefits: समुद्र तट के किनारे हॉट रोस्‍टेड कॉर्न (Hot Rosted Corn) खाना आपके लिए यादगार हो सकता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके ऊपर लगा रेशमी आवरण, जिसे कॉर्न सिल्‍क (Corn silk) कहते हैं, मकई की तुलना में अधिक स्वास्थ्य लाभ होते हैं। आप अपनी शाम की चाय में पोषक तत्वों और एंटीऑक्सिडेंट से लाभ के लिए उपयोग कर सकते हैं। इसमें पोटेशियम, कैल्शियम और विटामिन बी 2, सी और के जैसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व शामिल हैं।

कॉर्न सिल्‍क या मकई रेशम (Corn silk) लंबे, रेशमी धागे होते हैं जो मकई या मक्‍के के दानों के ऊपर उगते हैं। एक आयुर्वेदिक उपचार के रूप में, मकई रेशम का उपयोग चीन और अमेरिका के पारंपरिक चिकित्‍सा के रूप में सदियों से किया गया है। यह अभी भी चीन, फ्रांस, तुर्की और संयुक्त राज्य अमेरिका सहित कई देशों में आज भी उपयोग किया जाता है। लोग चाय भी बनाकर पीते हैं, जिसे कॉर्न सिल्‍क टी (Corn silk Tea) या मकई रेशम की चाय कहा जाता है।

 

आज हम आपको कॉर्न सिल्‍क टी से होने वाले फायदों के बारे में बता रहे हैं: 

वजन कम करने के साथ शरीर की गंदगी बाहर करे

मकई रेशम की चाय (Corn silk Tea) का उपयोग स्वाभाविक रूप से शक्तिशाली मूत्रवर्धक एजेंट के रूप में किया गया है, जो शरीर से अतिरिक्त पानी और अपशिष्ट को बाहर निकालने में मदद करता है, जो नाटकीय रूप से आपके शरीर पर जमा अतिरिक्‍त चर्बी को कम करने में मदद करता है। यदि आप कम समय में अपनी चर्बी से छुटकारा पाना चाहते हैं, तो यह एक सुपर ट्रिक है, जो वाटर रिटेंशन से जुड़ी जटिलताओं को भी कम करता है। मूत्रवर्धक कई स्वास्थ्य संबंधी खतरों से छुटकारा पाने में मदद करता है जिसमें लंबे समय तक हृदय की विफलता (Heart Failure) और गुर्दे की बीमारियां (Kidney Diseases) शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें: बिना जिम और सप्‍लीमेंट के भी कर सकते हैं वजन कम, रोजाना की डाइट में करें ये बदलाव

ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित करे

कॉर्न सिल्क की चाय पीने से ब्लड शुगर की समस्या से पीड़ित लोगों को मदद मिलती है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ बायोलॉजिकल मैक्रोमोलेक्यूल्स में 2012 में प्रकाशित एक अध्ययन से पता चला है कि डायबिटीज पर कॉर्न सिल्क के अर्क का असर था। प्रयोगशाला में डायबिटीज से पीड़ित चूहों पर अध्ययन किया गया था, और खकों ने कहा कि मकई रेशम पॉलीसेकेराइड्स की मदद से रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद की।

हाई ब्लड शुगर से स्ट्रोक, किडनी की समस्या और डायबिटीज जैसी कई बीमारियां होती हैं। एक और अध्ययन जो 2009 में न्‍यूट्रीशन और मेटाबॉलिज्‍म मैग्‍जीन में प्रकाशित किया गया था, उससे पता चला है कि मानव शरीर में मकई रेशम की चाय इंसुलिन का निर्माण करती है।

इसे भी पढ़ें: सुबह एक ग्‍लास दूध पीने से दिनभर रहेगा आपका ब्‍लड शुगर कंट्रोल: शोध

किडनी स्टोन बनने से रोकता है

कॉर्न सिल्‍क यूरिन के फ्लो को बढ़ाता है किडनी में मैल के इकट्टठा होने की संभावना को कम करता है, जिससे किडनी स्‍टोन होने की संभावना खत्‍म हो जाती है। हालांकि, यह एक योग्य चिकित्सक के उचित मार्गदर्शन में किया जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: पेशाब के साथ बाहर निकल जाएगा किडनी स्‍टोन, अपनाएं ये आसान उपाय

मकई रेशम की चाय बनाने का तरीका- How to make corn silk tea

सामाग्री

  • सूखा या ताजा मकई रेशम
  • पानी
  • नींबू का रस
  • शहद

बनाने का तरीका

  • पानी को कुछ देर उबालें।
  • उबलते पानी में मकई रेशम के ऊपर डालें।
  • इसे कुछ मिनटों तक उबलने दें और कुछ मिनटों के लिए छोड़ दें।
  • इसे आप ठंडा या गर्म, दोनों फॉर्म में पी सकते हैं। 
  • अगर आप इसे मीठा चाहते हैं तो आप नीबू या शहद की कुछ बूंदें डाल सकते हैं।

Read More articles On Ayurveda In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK