इन कारणों से होता है आपके घुटनों में दर्द, जानें किन लोगों को है ज्यादा खतरा

Updated at: May 26, 2020
इन कारणों से होता है आपके घुटनों में दर्द, जानें किन लोगों को है ज्यादा खतरा

वैसे तो चोटों, उम्र, मोटापा, मांसपेशियों में लचीलेपन की कमी आदि घुटने में दर्द के जिम्‍मेदार कारक होते हैं। लेकिन कुछ बीमारियों गठिया, बर्साइटिस और मा

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Jan 09, 2015

बढ़ती उम्र के साथ जोड़ों का दर्द होना एक आम बात है, लेकिन आजकल कि भागदौड़ भरी जिंदगी के बीच हर कोई इसका शिकार हो रहा है। जोड़ों के दर्द में से एक है घुटनों का दर्द जो आपको काफी दर्द दे सकता है साथ ही आपके चलने-फिरने की प्रक्रिया को बुरी तरह से प्रभावित करता है। घुटनों का दर्द ऐसा है जिससे ज्यादातर लोग पीड़ित हैं और इससे छुटकारा पाने की कोशिश करते रहते हैं। लेकिन इससे छुटकारा आपको तभी मिल सकता है जब आप घुटनों के दर्द के पीछे के कारण को समझ पाएं। 

आजकल आपको कई ऐसे नौजवान भी मिल जाएंगे जो अपने घुटनों के दर्द से परेशान रहते हैं। घुटनों के दर्द के कारण ये आपको उठने-बैठने और चलने-फिरने जैसी कई समस्याएं हो सकती है। घुटने का दर्द जरूरी नहीं हर किसी के लिए एक जैसा हो, कई मामलों में ये कुछ दिनों तक ही परेशान करता है और कुछ मामलों में ये कई सालों तक बना रहता है। ऐसे में इसका इलाज करवाना और इससे राहत पाना बहुत जरूरी होता है। आइए इसके इलाज से पहले इसके कारणों को जान लें। 

knee pain

घुटनों के दर्द का कारण (Causes Of Knee Pain In Hindi)

ऑस्टियोआर्थराइटिस: घुटनों में दर्द, सूजन, और हड्डियों की स्थिति बिगड़ने के कारण ये समस्या होती है। 

टन्टीनाइटिस: किसी भी जगह चढ़ते या उतरते समय घुटनों में दर्द के कारण टेन्‍टीनाइटिस की समस्‍या होती है। यह समस्‍या साइकिल चलाने वालों में ज्यादा देखी जाती है। 

बर्साइटिस: घुटनों के दर्द की ये स्थिति बार-बार लगने वाली चोट के कारण और ज्यादा चलने-फिरने वाले लोगों में होती है। 

गाउट: गाउट की स्थिति घुटनों में यूरिक एसिड बनने के कारण होती है। 

मेनिस्कस टियर: घुटनों या किसी भी जोड़ों के कार्टिलेज में एक या उससे ज्यादा बार टूट-फूट होने के कारण ये स्थिति पैदा होती है, जिसके कारण आपके घुटनों में दर्द होना शुरु हो जाता है। 

किन लोगों को है घुटनों के दर्द का ज्यादा खतरा? (Which People Are At Greater Risk Of Knee Pain)

  • जो लोग अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं, वे घुटने की समस्याओं के लिए ज्यादा खतरे में हैं। आपकी ओर से ज्यादा वजन वाले प्रति पाउंड के लिए, आपके घुटने को अतिरिक्त 4 पाउंड अवशोषित करना चाहिए जब आप चलते हैं, दौड़ते हैं, या सीढ़ियों पर चढ़ते हैं तो दबाव का स्रोत। इसके अलावा इन लोगों को भी खतरा हो सकता है, जैसे: 
  • आयु।
  • पिछली या पुरानी चोट।
  • एथलेटिक गतिविधि या शारीरिक व्यायाम करने वाले लोग।

इसे भी पढ़ें: जोड़ों में दर्द और गठिया की समस्या को बढ़ा सकते हैं ये 5 कारक, युवाओं को भी हो सकती है समस्या

बचाव (Preventions) 

फिजिकल एक्टिविटी 

शारीरिक रूप से सक्रिय होने से आपके टिश्यू के स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है, व्यायाम शरीर को जोड़ों के समर्थन के तरीके को भी मजबूत करता है। पैर की मांसपेशियों को मजबूत करना घुटनों के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है। 

वेट लॉस एंड डाइट

अतिरिक्त वजन उठाने से जोड़ों को ज्यादा काम करना पड़ता है। इसे खोने से गठिया के कारण होने वाले दर्द समेत लंबे समय तक घुटने के दर्द को कम करने में मदद मिलती है। इसके साथ ही आपको अपने वजन पर नियंत्रण रखना बहुत जरूरी है। वहीं, आपके लिए एक बेहतर डाइट भी जरूरी है जो आपकी हड्डियों और मांसपेशियों को मजबूत करने का काम करती हो। आपको सभी पोषक तत्वों को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें: हड्डियों-जोड़ों में दर्द है तो न करें नजरअंदाज, जानें क्या है दर्द का कारण और इलाज

मसाज

आपको नियमित रूप से अपने घुटनों और बाकि जोड़ों की मसाज करनी चाहिए, जिससे कि आपकी मांसपेशियां और हड्डियां स्वस्थ रहें। आप मसाज के लिए चाहें तो सरसों का तेल हल्का सा गर्म करके मालिश कर सकते हैं। आपको रोजाना मालिश करने की जरूरत नहीं है आप हफ्ते में एक या दो बार मालिश कर सकते हैं। इसके साथ ही आप गर्म पानी से सिकाई कर सकते हैं। 

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK