• shareIcon

रंगों में छिपा सेहत का राज

एक्सरसाइज और फिटनेस By Pooja Sinha , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Feb 14, 2013
रंगों में छिपा सेहत का राज

अलग-अलग रंगों के फल और सब्जियां खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। उनमें मौजूद रंगों में ऐसे पोषक पदार्थ पाए जाते हैं,

हमारे जीवन में रंगों का बहुत प्रभाव है। अगर यह कहा जाय कि रंगों के बिना जीवन की कल्पना नहीं की जा सकती है, तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। इस बात का प्रमाण अब तक हुए कई शोधों से भी सामने आया है। शोधों के अनुसार, फलों और सब्जियों में मौजूद रंग हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद और लाभकारी हैं। अलग-अलग रंगों के फल और सब्जियां खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। उनमें मौजूद रंगों में ऐसे पोषक पदार्थ पाए जाते हैं, जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं और बीमारियों के खतरे को कम करते हैं। पेश है फलों और सब्जियों के रंगों के कारण उनमें मौजूद पोषक पदार्थो की जानकारी:

colourful in hindi
फलों और सब्जियों के रंगों में मौजूद पोषक तत्‍व 

लाल : लाल रंग के फल और सब्जियां जैसे टमाटर, सेब गाजर, तरबूज, स्ट्राबेरी, प्याज आदि में लाइकोपिन, इलेगिक एसिड, क्वेरसिटीन और हेस्पिरीडिन सरीखे पोषक तत्व होते हैं। ये पदार्थ शरीर में प्रोस्टेट कैंसर, निम्न रक्तचाप के खतरों को कम कर देते हैं। इसके अलावा ट्यूमर बनने और कोलेस्ट्राल का स्तर बढ़ने की आशंका भी कम हो जाती है। ये ऊतकों को जोड़ने में भी मददगार होते हैं।

नारंगी और पीला: आम, संतरा, मौसमी, पपीता, आड़ू में बीटा केरोटिन, जिआजेंथिन, फ्लेवोनायड, लाइकोपिन, पोटेशियम और विटामिन सी होता है। ये पोषक पदार्थ आंखों की रोशनी बढ़ाते हैं और प्रोस्टेट कैंसर एवं ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखते हैं। इसके अलावा मैग्नीशियम और कैल्शियम के साथ मिलकर हड्डियों को मजबूत बनाते हैं।

हरा: पालक, मटर, बन्दगोभी, मेथी, हरे अंगूर, हरी प्याज, ब्रोकोली आदि में क्लोरोफिल, फाइबर, ल्यूटिन, जिआजेंथिन, कैल्शियम, फोलेट और बीटा केरोटिन होता है। ये पोषक पदार्थ पाचन शक्ति बढ़ाने के साथ ही कैंसर और निम्न रक्तचाप के खतरों को भी कम करते हैं। यह आंखों की रोशनी बढ़ाने के अलावा रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि करते हैं।


नीला और बैंगनी: काले अंगूर, ब्लैक बेरी, ब्लूबेरी, बैंगनी बंद गोभी, में ल्यूटिन, जिआजेंथिन, रेसवराट्रोल, विटामिन सी, फाइबर, फ्लेवोनायड, इलेगिक एसिड और क्वेरसिटीन होत हैं। शरीर को मजबूती देने के साथ ही याददाश्त को बढ़ाता है। कैल्शियम और अन्य पदार्थो की अवशोषण क्षमता बढ़ाता है। पाचन तंत्र सुदृढ करने के अलावा कैंसर सेल्स को बढ़ने से रोकता है।


सफेद: केला, लहसुन, अदरक मशरूम, शलजम, आलू आदि में मौजूद बीटा ग्लूकेन्स और लिगनेन्स रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। यह स्तन कैंसर के खतरों को रोकने के अलावा हार्मोन में भी संतुलन बनाए रखता है।

इस तरह फलों और सब्जियों में मौजूद रंगों के इस्‍तेमाल से आप स्‍वस्‍थ जीवन जी सकते हैं।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

Image Source : Getty 

Read More Articles On Diet and Nutrition In Hindi

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।