• shareIcon

आर्टरी के लिए बहुत फायदेमंद हैं ये 6 सूपरफूड्स, कम होता है हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा

स्वस्थ आहार By Rashmi Upadhyay , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Apr 10, 2019
आर्टरी के लिए बहुत फायदेमंद हैं ये 6 सूपरफूड्स, कम होता है हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा

आर्टरी जिन्हें धमनियां भी कहते हैं ये ऐसी रक्त वाहिकाएं होती हैं जो हृदय से रक्त को शरीर के विभिन्न भागों में ले जाती हैं। धमनियां ऑक्सीजन युक्त रक्त पहुंचाती हैं जो शरीर के विभिन्न अंगों द्वारा आवश्यक होता है। ध

"

आर्टरी जिन्हें धमनियां भी कहते हैं ये ऐसी रक्त वाहिकाएं होती हैं जो हृदय से रक्त को शरीर के विभिन्न भागों में ले जाती हैं। धमनियां ऑक्सीजन युक्त रक्त पहुंचाती हैं जो शरीर के विभिन्न अंगों द्वारा आवश्यक होता है। धमनियां पूरे शरीर को मस्तिष्क से पैर की उंगलियों तक कवर करती हैं। प्रत्येक धमनी चिकनी मांसपेशियों के साथ एक पेशी ट्यूब होती है और इसमें विभिन्न परतें होती हैं। स्वस्थ धमनी रक्त को उनके माध्यम से आसानी से गुजरने की अनुमति देती है।

हालांकि, पट्टिका नामक पदार्थ धमनियों की आंतरिक दीवारों पर बनता है, जिसके परिणामस्वरूप धमनियों में दरारें होती हैं। प्लेग वसा, कोलेस्ट्रॉल, सेलुलर अपशिष्ट और फाइब्रिन जैसे विभिन्न पदार्थों से बना होता है। भरी हुई धमनियां रक्त को आसानी से नहीं गुजरने देती हैं। यह रक्त के प्रवाह को कम करता है और यदि बिल्ड-अप बहुत अधिक बढ़ता है, तो यह रक्त के प्रवाह में रुकावट भी पैदा कर सकता है।

बंद या रुकावट वाली धमनियों से दिल का दौरा, स्ट्रोक का खतरा बढ़ सकता है और यहां तक कि मृत्यु भी हो सकती है। कुछ कारक जो धमनियों में पट्टिका के जमाव को बढ़ा सकते हैं उनमें शामिल हो सकते हैं:

  • खराब कोलेस्ट्रॉल में वृद्धि
  • धूम्रपान
  • मधुमेह
  • उच्च रक्त चाप
  • मोटापा
  • तनाव
  • आसीन जीवन शैली
  • और कभी-कभी पारिवारिक इतिहास 

ऐसे कई तरीके हैं जो आपकी धमनियों को साफ करने में आपकी मदद कर सकते हैं। आपका आहार आपकी धमनियों को साफ करने में आपकी मदद कर सकता है। बस कुछ खाद्य पदार्थों को जोड़कर आप अपनी धमनियों को शुद्ध कर सकते हैं। अपनी धमनियों को स्वस्थ रखने के लिए आपको दूषित खाद्य पदार्थों से बचना चाहिए और निम्न आहारों को अपने आहार में शामिल करना चाहिए:

हल्दी

हल्दी एक बहुत ही लाभदायक मसाला है जिसका उपयोग विभिन्न बीमारियों को ठीक करने के लिए उम्र से किया जाता रहा है। हल्दी का उपयोग धमनियों को साफ करने के लिए भी किया जा सकता है। इसमें कर्क्यूमिन नामक एक घटक होता है। हल्दी धमनियों में निर्माण को कम करने और रक्त वाहिकाओं को आराम देने के लिए कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन के स्तर को कम कर सकते हैं। आप हल्दी को अपने विभिन्न व्यंजनों में शामिल कर सकते हैं या आप हल्दी की चाय का भी सेवन कर सकते हैं।

ओट्स

ओट्स बेहद हेल्दी हैं। आप ओट्स को अपने आहार में आसानी से शामिल कर सकते हैं। यह घुलनशील फाइबर में समृद्ध है जो खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है। जई भी एंटीऑक्सिडेंट के साथ भरी हुई हैं। नियमित रूप से जई का सेवन आपके रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित कर सकता है और आपको वजन कम करने में भी मदद करेगा। ओट्स बहुत ही भरा हुआ होता है जो आपको अधिक भोजन लेने से रोकता है और आपको स्वस्थ वजन बनाए रखने में मदद करता है।

ब्रोकोली 

ब्रोकोली एक ऐसी सब्जी है जिसके काफी पोषक तत्व होते हैं। यह विटामिन के और सी, फोलिक एसिड, पोटेशियम और फाइबर का एक बड़ा स्रोत है। ब्रोकली रक्तचाप को कम करती है और तनाव को कम करती है। ब्रोकली कोलेस्ट्रॉल के ऑक्सीकरण को भी रोकता है।

इसे भी पढ़ें: गुर्दे की बीमारियों में रोजाना खाएं ये 5 फूड, जल्‍दी मिलेगा रोग से छुटकारा

तरबूज

तरबूज धमनी के लिए बेहद अनुकूल फल है। आप गर्मियों के दौरान तरबूज आसानी से पा सकते हैं। तरबूज बेहद स्वस्थ हैं। यह अमीनो एसिड का एक प्राकृतिक स्रोत है जो शरीर के अंदर नाइट्रिक एसिड के उत्पादन को बढ़ाता है। नाइट्रिक ऑक्साइड धमनियों के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह धमनियों को आराम देता है और सूजन को कम करता है। तरबूज आपके रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदद करेगा।

Buy Online: Lipton Loose Green Tea, 250g, MRP: 225/- and Offer price: 213/-

ग्रीन टी

एंटीऑक्सीडेंट हृदय के लिए बेहद फायदेमंद होते हैं। ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है। यह आपको मुक्त कणों से लड़ने में मदद करता है। ग्रीन टी कोलेस्ट्रॉल को कम करती है और आपके दिल को स्वस्थ रखती है। अपनी धमनियों को स्वस्थ रखने के लिए आप दो कप ग्रीन टी पी सकते हैं। ग्रीन टी आपको वज़न कम करने और स्वस्थ रहने में भी मदद करेगी।

Read More Articles On Diet & Nutrition In Hindi

"

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK