• shareIcon

    भाई की राशि के हिसाब से ही बांधे इन रंगों की राखियां

    त्‍यौहार स्‍पेशल By Pooja Sinha , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 26, 2015
    भाई की राशि के हिसाब से ही बांधे इन रंगों की राखियां

    शुभ रंगों से युक्त राखियां जीवन में सुख-समृद्धि और खुशियां लेकर आती हैं, आइए जानें, राशि के अनुसार आपके भाई की कलाई पर कौन से रंग की राखी बांधना शुभ होगा...

    भाई-बहन का रिश्ता सबसे पवित्र माना गया है और इसके लिए एक विशेष त्योहार रक्षाबंधन बना है। भाई-बहन के पावन प्रेम के प्रतीक रक्षाबंधन का इंतजार हर किसी को है। और रक्षाबंधन के इस त्‍योहार पर यदि बहनें, अपने भाईयों को उनकी राशि के अनुसार राखियां बांधती हैं, तो इस त्योहार का महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है। ज्योतिष के अनुसार शुभ रंगों से युक्त राखियां जीवन में सुख-समृद्धि और खुशियां लेकर आती हैं। आइए जानें, राशि के अनुसार आपके भाई की कलाई पर कौन से रंग की राखी बांधना शुभ होगा...

     

    मेष राशि

    अगर आपका भाई मेष राशि का है तो आपको अपने लाड़ले भाई को लाल रंग की राखी बांधनी चाहिए। यह आपके भाई को एनर्जी देगा। और इससे उनके जीवन में उत्साह बरकरार रहेगा। इसके अलावा आप केसरिया या पीली रंग की राखी भी बांध सकती हैं। साथ ही अपने भाई को केसर का तिलक लगाएं।


    वृषभ राशि

    अगर आपके भाई की राशि वृषभ है तो अपने भाई की कलाई पर सफेद या सिल्‍वर रंग की राखी बांधें। साथ ही रोली में चावल मिलाकर तिलक लगाये। इससे भाई का मन शांत और प्रसन्‍न रहेगा।


    मिथुन राशि

    मिथुन राशि के भाईयों के लिए हरे रंग या चंदन से बनी राखी विशेष रूप से शुभ होती है। हरे रंग की राखी के साथ ही अपने लाड़ले भाई को हल्‍दी का तिलक लगाये। इससे भाई में आत्मविश्‍वास बढ़ेगा।


    कर्क राशि

    भाई की राशि कर्क होने पर आपको उसकी कलाई पर सफेद रेशमी धागे या मोतियों से बनी राखी बांधनी चाहिए। साथ ही चंदन तिलक भाई के माथे पर लगाना बेहतर होगा। इससे भावनात्‍मक रिश्‍ते में मजबूती आयेगी और भाई का मन भी हमेशा शांत बना रहेगा।


    सिंह राशि

    इस राशि के भाई की कलाई पर गोल्‍डन, पीली या गुलाबी रंगी की राखी और माथे पर हल्‍दी मिश्रित रोली का तिलक लगाना बहुत शुभ रहता है। इससे भाई का भाग्‍यवर्धन होता है।


    कन्या राशि

    कन्‍या राशि के भाई की कलाई पर सफेद रेशमी रंग की या हरे रंग की राखी बांधना शुभ रहता है। साथ ही हल्दी व चंदन के मिश्रण से बना तिलक लगाना भी भाई के लिए शुभ माना जाता है। इससे भाई के जीवन की रक्षा होती है।


    तुला राशि

    भाई की राशि तुला होने पर उसके माथे पर केसर का तिलक लगाने के साथ कलाई पर सफेद, क्रीम या हल्‍के नीले रंग की राखी बांधनी चाहिए। यह वर्ष भर भाइयों पर आने वाले नकारात्मक प्रभावों को उनसे दूर रखेगा। और उसे न्‍याय करने की शक्ति प्रदान करेगा।

    rakhi for brother in hindi

    वृश्चिक राशि

    यदि आपके भाई की राशि वृश्चिक है तो अपने आप अपने भाई को लाल या गुलाबी रंग की चमकीली राखी या रक्षासूत्र बांधें। साथ ही अपने भाई को रोली का तिलक लगाये और लाल रंग की मिठाई भी खिलाये। यह पूरे साल उनके जीवन में खुशियां लेकर आएगा और उनके क्रोध को शांति एवं रोग से मुक्ति प्रदान करती है।


    धनु राशि

    आप अपने भाई के लिए पीले रेशमी रंग की राखी का प्रयोग करना शुभ रहता है। चंदन की राखियां जीवन को महकाती हैं। और साथ ही भाई को हल्दी व कुमकुम का तिलक करने से उसको मानसिक शांति मिलेगी और भाई के अध्‍ययन और व्‍यवसाय में तरक्‍की होगी।


    मकर राशि

    मकर राशि के अपने लाड़ले भाई की कलाई में गहरे रंग की राखी जैसे नीले या गहरे नीले रंग की राखी बांधना और भाई को केसर का तिलक लगाना बहुत ही शुभ रहता है। इससे उसे हर कार्य में सफलता मिलेगी।


    कुंभ राशि

    कुंभ राशि वाले भाई की कलाई पर पीले रंग या रुद्राक्ष से निर्मित राखी बांधना बहुत ही शुभ और फलदायी रहता है। साथ ही आप अपने भाई के माथे पर हल्दी का तिलक लगाये। इससे उन्‍हें अच्छा व्यक्तित्व और मजबूत मनोबल प्रदान होगा और भाई का भाग्‍य भी चमकेगा।


    मीन राशि

    यदि भाई की राशि मीन है तो सुनहरे पीले रंग की राखी बांधने और हल्‍दी का तिलक लगाने से उनका मन स्वस्थ रहता है और भाई के जीवन में शुभता आती है।

    इस तरह से राशि के अनुसार भाई की कलाई पर राखी बांधने से त्योहार का महत्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है।



    इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कमेंट कर सकते हैं।

    Image Source : Getty
    Read More Articles on Festival Special in Hindi

    Disclaimer

    इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

    This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK