चिरौंजी है पेट की इन 4 समस्याओं का रामबाण इलाज, जानें इसके प्रयोग का तरीका

पेट से जुड़ी कई गंभीर समस्या जैसे कब्ज, दस्त, पेचिश आयर डायरिया आदि में चिरौंजी का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद होता है, जानें इसके इस्तेमाल के बारे में।

 
Prins Bahadur Singh
घरेलू नुस्‍खWritten by: Prins Bahadur SinghPublished at: Jul 27, 2021
Updated at: Jul 27, 2021
चिरौंजी है पेट की इन 4 समस्याओं का रामबाण इलाज, जानें इसके प्रयोग का तरीका

चिरौंजी लगभग हर भारतीय रसोई में इस्तेमाल किया जाने वाला एक सूखा मेवा है जिसे मिठाई बनाने से लेकर कई तरह के स्वादिष्ट व्यंजनों को तैयार करने में इस्तेमाल किया जाता है। चिरौंजी (Chironji) का वानस्पतिक नाम Buchanania cochinchinensis (Lour.) M.R. Almedia (बुकैनानिया कोचीनचाइनेन्सिस) Syn-Buchanania latifolia Roxb. Buchanania lanzan Spreng है। दरअसल इस पौधे के फलों की गुठली से चिरौंजी को निकाला जाता है। चिरौंजी के बीजों को बादाम के विकल्प के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है। आयुर्वेद में चिरौंजी को औषधि के रूप में जाना जाता है। इसेमिन मौजूद पोषक तत्व शरीर के लिए जितने फायदेमंद होते हैं उतने ही इसके औषधीय गुणों के कारण इसका बीमारियों के निदान में इस्तेमाल भी फायदेमंद (Chironji Health Benefits) होता है। चिरौंजी का इस्तेमाल तमाम समस्याओं में किया जाता है, आयुर्वेद में इसके औषधीय इस्तेमाल के बारे में विस्तार से वर्णन किया गया है। पेट की समस्याओं के लिए चिरौंजी रामबाण मानी जाती है। आइये आयुर्वेद के हिसाब से जानते हैं कि पेट की किन समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए चिरौंजी का इस्तेमाल किया जा सकता है।

पेट की समस्याओं में चिरौंजी का इस्तेमाल (Chironji Home Remedies for Stomach Problems)

Chironji-Health-Benefits

चिरौंजी के छोटे-छोटे बीज अनेकों पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। इसके बीज को सिरदर्द से लेकर मुहं के छाले, खांसी, बांझपन, कब्ज, सांस से जुड़ी बीमारी और स्किन से जुड़ी समस्याओं में इस्तेमाल किया जा सकता है। चिरौंजी का इस्तेमाल कर आप पेट से जुड़ी गंभीर समस्याएं जैसे कब्ज, पेचिश, डायरिया आदि में फायदा पा सकते हैं। भारत में प्राचीन काल से ही इसका इस्तेमाल पारंपरिक चिकित्सा में किया जा रहा है। आइये जानते हैं पेट की समस्याओं में से चिरौंजी के इस्तेमाल के बारे में।

इसे भी पढ़ें: निप्पल पियर्सिंग के बाद इंफेक्शन के इलाज लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

1. कब्ज की समस्या में चिरौंजी का इस्तेमाल (Chironji for Constipation)

अगर आपको कब्ज जैसी गंभीर समस्या है तो आप इससे छुटकारा पाने के लिए चिरौंजी का इस्तेमाल कर सकते हैं। चूंकि कब्ज एक ऐसी समस्या है जिसका असर पूरे स्वास्थ्य पर पड़ता है इसलिए इसे नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिये। कब्ज की समस्या में चिरौंजी औषधि के रूप में काम करती है। सूखी दाल की तरह दिखने वाला यह ड्राई फ्रूट कब्ज के लिए रामबाण माना जाता है। इसका सेवन करने से पाचन तंत्र में मौजूद गन्दगी और विषाक्त पदार्थ भी दूर होते हैं। आंतों की अंदरूनी परत को साफ कर यह कब्ज की समस्या में राहत देता है। इसका नियमित सेवन कब्ज की समस्या को जड़ से खत्म कर सकता है। आप कब्ज की समस्या से बचने के लिए रोजाना रात को चिरौंजी का सेवन करें।

Chironji-Health-Benefits

इसे भी पढ़ें: चिरौंजी : चेहरे को गोरा बनाने के साथ अनचाहे बाल भी हटाएं

2. पेचिश की समस्या में चिरौंजी का इस्तेमाल (Chironji for Dysentry)

दस्त के साथ खून आने की समस्या को पेचिश की समस्या काहा जाता है। पेचिश या अतिसार में चिरौंजी का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। आप बार-बार दस्त के साथ खून आने की समस्या को अधिक समय के लिए नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं। इस समस्या का तुरंत इलाज किया जाना चाहिए। पेचिश की समस्या में आप चिरौंजी की छाल को बकरी के दूध के साथ पीसकर उसमें शहद खाएं। इससे पेचिश की समस्या में फायदा मिलेगा। इसके आलावा आप चिरौंजी के पत्ते और जड़ को पीसकर उसमें मक्खन मिला दें और फिर इसका सेवन करें। इससे भी दस्त और पेचिश की समस्या में फायदा मिलेगा।

इसे भी पढ़ें:  इन 5 समस्याओं में फायदेमंद होता है महुआ के तेल, जानें इस्तेमाल का तरीका

Chironji-Health-Benefits

3. डायरिया की समस्या में चिरौंजी (Chironji for Diarrhoea)

डायरिया की समस्या में चिरौंजी का इस्तेमाल बहुत फायदेमंद माना जाता है। डायरिया की समस्या में चिरौंजी के तेल का इस्तेमाल रामबाण की तरह काम करता है। आप डायरिया की समस्या में चिरौंजी के तेल से बनी खिचड़ी, दलिया आदि का सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा दस्त और डायरिया जैसी गंभीर समस्या से बचने के लिए रोजाना इसके तेल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। चिरौंजी के पाउडर को दूध में मिलाकर पीने से भी दस्त और डायरिया में फायदा मिलता है।

4. पाचन में सुधार और मल त्याग से जुड़ी समस्या में फायदेमंद (Chironji Improves Digestion And Regularises Bowel Movement)

चिरौंजी के बीज का नियमित सेवन आपके पाचन तंत्र को बहुत फायदा देता है। चिरौंजी का सेवन करने से पाचन तंत्र और आंत में मौजूद गंदगी और विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं। इसके बीजों में मौजूद कसैले गुण मल त्याग करने से जुड़ी समस्याओं में फायदेमंद माने जाते हैं। चिरौंजी के तेल की कुछ बूंदे ओआरएस के घोल में मिलाएं और पी लें, इससे आपको ढीले मल की समस्या में फायदा मिलेगा।

Chironji-Health-Benefits

इसे भी पढ़ें: दूध के साथ करें चिरौंजी का सेवन, बॉडी होगी डिटॉक्स और मिलेंगे कई अन्य फायदे

चिरौंजी का सेवन सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। आयुर्वेद में बताई गयी मात्रा के अनुसार इसका सेवन शरीर के लिए सुरक्षित और तमाम लाभों से युक्त होता है। अगर आप चिरौंजी के पाउडर का इस्तेमाल कर रहे हैं तो इसका सेवन करने से पहले किसी डॉक्टर की सलाह जरूर लें क्योंकि ऐसा माना जाता है कि इसके पाउडर का सेवन करने से भूख से जुड़ी दिक्कतें हो सकती हैं।

Read More Articles on Home Remedies in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK