किस उम्र में बच्चों के लिए टूथपेस्ट करना सही? जानें शिशु से लेकर बढ़ते बच्चों को कितनी बार करना चाहिए टूथपेस्ट

Updated at: Jul 27, 2020
किस उम्र में बच्चों के लिए टूथपेस्ट करना सही? जानें शिशु से लेकर बढ़ते बच्चों को कितनी बार करना चाहिए टूथपेस्ट

अक्सर लोग बच्चों को जल्दी से ब्रश नहीं पकड़ाते क्योंकि उन्हें लगता है कि कहीं वे अपने मसूड़े और दांत को नुकसान न पहुंचा दें। जानें  क्या है सही उम्र। 

Jitendra Gupta
बच्‍चे का स्‍वास्‍थ्‍यWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Jul 27, 2020

हमारा मुंह सभी प्रकार के बैक्टीरिया का एक प्रजनन स्थल है, यही वजह है कि इसे दूर करने के लिए बरसों से हमारे दांतों को दिन में कम से कम दो बार ब्रश करने की सलाह दी जाती है। इतना ही नहीं हर दिन कुछ देर के लिए फ्लॉसिंग करने को भी कहा जाता है। अफसोस की बात है कि मौखिक स्वच्छता यानी की मुंह की सफाई को उतना महत्व नहीं दिया जाता, जितना की मिलना चाहिए जिसके कारण अवांछित दर्द, अस्वास्थ्यकर मसूड़ों और खराब दांतों का स्वास्थ्य जैसी समस्या रहती है। बचपन से ही स्वस्थ दंत-आदतों का पालन करना, वास्तव में भविष्य में दांतों की सड़न और छिद्रों को रोकने में एक लंबा रास्ता तय करता है। इसलिए, अपने बच्चे की मौखिक स्वच्छता का ख्याल रखना अन्य स्वास्थ्य मापदंडों के अलावा हर माता-पिता की सर्वोच्च चिंता होनी चाहिए। हम यह सुनिश्चित करने के कुछ तरीकों के बारे में आपको बता रहे हैं, जिसके जरिए आपके बच्चे के पास हर उम्र में स्वस्थ मसूड़े और दांत रहेंगे। तदो आइए जानते हैं कैसे रखें अपने बच्चों के दंत स्वास्थ्य का ख्याल। 

brush

शिशुओं के लिए चिकित्सकीय स्वच्छता

अपने बच्चे को उसके दंत स्वच्छता की देखभाल करने के लिए शुरुआती होने की प्रतीक्षा न करें। बैक्टीरिया से छुटकारा पाने के लिए खिलाने के बाद अपने शिशु के मसूड़ों को पोंछने के लिए एक नरम, साफ कपड़े का उपयोग करें। जब आपका बच्चा दांतों का विकास करना शुरू कर देता है, तो 6 से 12 महीने की उम्र के बीच, आप उन्हें नरम टूथब्रश (विशेष रूप से बच्चों के लिए बनाया गया) के साथ ब्रश करना शुरू कर सकते हैं।

इसे भी पढे़ंः बच्चों की फिटनेस को बेहतर बनाने के लिए अपनाएं ये 5 तरीके, लंबे समय तक रह सकेंगे स्वस्थ

टूथपेस्ट के सिर्फ एक दाने का उपयोग करना सुनिश्चित करें, जो विशेष रूप से शिशुओं के लिए एक मोती के आकार होगा और इसे ब्रश करने के लिए ही डिज़ाइन किया गया है। इसके अलावा, बच्चे को अपने मुंह में बोतल रखकर सोने न दें, क्योंकि तरल पदार्थ उसके दांतों के आसपास जमा हो सकता है, जिसके परिणामस्वरूप  मसूड़े और दांत सड़ सकते हैं।

brushhabits

दो और उससे अधिक उम्र के बच्चों के लिए चिकित्सकीय स्वच्छता

जब आपके बच्चे दो साल या उससे बड़े हो जाते हैं, तो आप उन्हें ब्रश करने के लिए फ्लोराइड टूथपेस्ट दे सकते हैं, क्योंकि उन्हें सीखना चाहिए कि अब तक टूथपेस्ट को कैसे थूकना चाहिए। सुनिश्चित करें कि वे टूथपेस्ट के मटर के आकार की मात्रा से अधिक का उपयोग नहीं करते हैं और इसे निगला नहीं करते हैं। अब दिन में दो बार अपने दांत ब्रश करने की आदत को बढ़ाने का समय है। अपने बच्चे के मौखिक स्वास्थ्य की देखभाल के लिए अधिक मार्गदर्शन के लिए आप एक दंत चिकित्सक से भी सलाह ले सकते हैं। वास्तव में, अमेरिकन डेंटल एसोसिएशन के अनुसार, बच्चों को उचित ब्रश करने और फ्लॉसिंग तकनीकों को समझने के लिए अपने पहले जन्मदिन पर एक दंत चिकित्सक को देखना चाहिए। वह दांतों की परेशानी के लक्षण भी जल्दी देख सकता है।

इसे भी पढे़ंः कहीं आपकी तरह आपका बच्चा भी तो नहीं कोरोनावायरस एंग्जाइटी का शिकार, 4 संकेतों से जानें कैसी है बच्चे की हालत

बढ़ते बच्चों के लिए चिकित्सकीय स्वच्छता

सुनिश्चित करें कि आपका प्रीहार्ट अपने दांतों को कम से कम दो मिनट, दिन में दो बार बिना नाक के ब्रश करे। दांतों की सड़न और छिद्रों को रोकने के लिए उन्हें नियमित रूप से फ्लॉसिंग शुरू करना चाहिए। अब समय है कि वे अपने दैनिक मौखिक स्वच्छता की आदतों के बारे में उत्साहित हों क्योंकि उनके स्थायी दांत आने शुरू हो जाएंगे।

यदि आपका बच्चा ओवरबाइट है या उसके दांतों का गलत तरीके से विकास हो जाता है तो आपका दंत चिकित्सक ब्रेसिज़ की भी सिफारिश कर सकता है। इसलिए, यदि आपका बच्चा ब्रेसिज़ पहनता है, तो हर दिन फ्लॉसिंग अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है। बाजार में बच्चे के अनुकूल टूथपेस्ट और टूथब्रश देखें, जो विशेष रूप से छोटों को अपील करने के लिए तैयार किए गए हैं! यह आपके बच्चे को ब्रश करने की आदत विकसित करने के लिए प्रेरित करेगा।

Read More Article On Children's Health In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK