लिवर के हिस्से में दर्द होने के क्या कारण हो सकते हैं? जानें कैसे रखें लिवर को स्वस्थ

Updated at: Jul 13, 2020
लिवर के हिस्से में दर्द होने के क्या कारण हो सकते हैं? जानें कैसे रखें लिवर को स्वस्थ

सभी बीमारियों से लड़ने की शक्ति शरीर को लीवर से ही मिलती है। अगर लीवर ही अच्छे से काम नही करेगा तो हम बहुत सी बीमारियों के शिकार हो सकते हैं।

सम्‍पादकीय विभाग
अन्य़ बीमारियांWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jul 13, 2020

लीवर हमारे शरीर का बहुत महत्वपूर्ण अंग है। इसके बिना हमारा शरीर कुछ भी नहीं। यह हमारी शरीर के सारे जरूरी काम करता है।  हमारा खाना पचाने, खून को साफ करने जैसे बहुत से कार्य अकेला लीवर ही करता है। लीवर के बिना हमारा जीना संभव नही है। यह बहुत सी बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करता है। लीवर का दर्द हमारे लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकता है।

लीवर में दर्द  के कारण

liver pain

पीलिया होना

पीलिया का कारण लीवर पर सूजन है। पीलिया होने पर लीवर काम करना बंद कर देता है।और हमारी त्वचा और आँखे पीली पड़ने लगतीं हैं। भूख लगनी भी बंद हो जाती है।यह हमारे लीवर में गर्मी होने के कारण होता है।

बाजार की खुली रखी चीजे खाने पर :-

बाजारों में खुली रखी हुई चीजें खाने से ओर बासी चीजे खाने से भी हमारा लीवर खराब हो सकता है।बाजार की बासी ओर खुली रखी हुई चीजो पर मक्खी भिनभिनाती रहती है। जिस से वह खाना दूषित हो जाता है। अगर वही दूषित चीजे खायीं जायें तो, हमारे लीवर में वायरस चले जाते हैं ।जिस वजह से पेट मे दर्द ,लूज़ मोशन लिवर इंफेक्शन जैसी समस्यायें हो जाती हैं।

वजन बढ़ना

यदि खान-पान पर ध्यान ना दिया जाए और जंक फूड जैसी चीजों का सेवन ज्यादा किया जाएं तो हमारा वजन बढ़ने लगता है। हमें मोटापे की समस्या घेर लेती है। मोटापे के कारण लीवर पर बहुत ज्यादा असर पड़ता है। ज्यादा मोटापे के कारण हम जो भी काम करते हैं जल्दी ही थक जाते हैं। लीवर में दर्द होने लगता है। अगर हम लगातार दौड़ लेते है तो भी हमारी पसलियों के नीचे दर्द होने लगता है।

इसे भी पढ़ें: लिवर को अच्छी तरह साफ करने का काम करते हैं ये 5 फूड्स, इन्हें खाएं और लिवर फंक्शन बेहतर बनाएं

एल्कोहोलिक हेपेटाइटिस

एल्कोहोलिक हेपेटाइटिस तब होता है जब बहुत अधिक शराब का सेवन लीवर को ओवरटेक कर लेता है। इस वजह से  वजन कम हो जाता है।  भूख कम हो जाती है व, मतली हो सकती है। बहुत से केस में हलका बुखार  और थकान और कमजोरी महसूस होती है।

पोर्टल वेन थ्राम्बोसिस

शरीर में पोर्टल वेन आंतों से लीवर में रक्त लाने का काम करतीं है। लेकिन अगर रक्त का थक्का blod clot हो जाए तो यह नस को अवरुद्ध कर देता है। इस वजह से आपको अपने लीवर द्वारा अपने पेट के ऊपरी दाहिने हिस्से में अचानक दर्द महसूस हो सकता है। आपके पेट में सूजन और बुखार भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: लिवर कैंसर से बचना है तो रोजाना कीजिए एक्सरसाइज, मोटापे और टाइप-2 डायबिटीज का खतरा भी होगा कम

पित्ताशय की पथरी

आपका पित्ताशय की थैली ठीक लीवर के नीचे होती है। पित्ताश्य में पथरी (पाचन रस जो कठोर हो जाते हैं) आपके लीवर के दर्द का कारण बनती हैं। आपको अचानक बहुत तेज दर्द हो सकता है। ये स्टोन पेन आपके कंधे के ब्लेड के बीच, या आपके दाहिने कंधे में, आपके ऊपरी पेट के दाहिने भाग में हो सकता है।

प्लास्टिक के पैकेट में बंद जूस पीने पर :-

बाजार में प्लास्टिक के बंद पैकेट में जूस आते है उनका उपयोग करने से भी लीवर में बीमारिया हो सकती है प्लास्टिक की थैली, बोतल , पैकेट में बंद चीजो का उपयोग हमे नही करना चाहिए इनसे हमारे शरीर के अंदर जो प्लास्टिक चला जाता है वो लीवर पर बहुत बुरा असर डालता है जिस से लीवर में दर्द होता है।

लीवर कैंसर होने पर

लीवर का कैंसर होने पर बहुत सी बीमारियां जैसे वजन कम होना , भूख कम लगना, उल्टी, बुखार, पेट मे सूजन, हाथ और आँखें पीले होना, हो जातीं हैं।  शुगर बढना, लीवर पर मोटापा होना, शराब और सिगरेट का अधिक इस्तेमाल करना ये सब लीवर कैंसर के कारण होते हैं।

जरूरी सलाह

यदि आपको जल्दी-जल्दी लिवर पेन होता है या ज्यादा देर तक लिवर पेन रहता है तो आपको तुरंत चिकित्सा उपचार की आवश्यकता है। इसके अलावा पीलिया,बुखार,ठंड लगना,उलटी अथवा मितली होने पर भी डॉक्टर से सलाह लें!

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK