आंखों के नीचे काले घेरे (Dark Circles) होने की वजह और इसके उपचार के बारे में बता रही हैं डॉक्‍टर हेमा पन्‍त

Updated at: Jun 14, 2020
आंखों के नीचे काले घेरे (Dark Circles) होने की वजह और इसके उपचार के बारे में बता रही हैं डॉक्‍टर हेमा पन्‍त

Dark Circles क्‍या है, डार्क सर्कल क्‍यों होते हैं और इसका उपचार कैसे किया जा सकता है, इन सभी सवालों के बारे में जानिए हमारे एक्‍सपर्ट से

Atul Modi
त्‍वचा की देखभालWritten by: Atul ModiPublished at: Jun 14, 2020

डार्क सर्कल (Dark Circles) पुरुषों और महिलाओं दोनों में बहुत आम है। अगर ये काले घेरे सूजन के साथ गहरे रंग के हो जाते हैं तो इनसे छुटकारा पाना मुश्किल हो जाता है। बेशक, आप इन्‍हें मेकअप से छिपा सकते हैं, मगर ये इसका परमानेंट सॉल्‍यूशन नही हो सकते। इसके लिए जरूरी है कि आप डार्क सर्कल के कारणों को जानें और उसी के अनुसार उनका उपचार करें। ताकि आपको डार्क सर्कल छिपाने के लिए किसी क्रीम का सहारा न लेना पड़े।

दरअसल, डार्क सर्कल उम्र बढ़ने के साथ दिखाई देते हैं। मगर कई बार यह आपकी कुछ गलत आदतों की वजह से भी हो सकते हैं। मसलन, ज्‍यादा देर तक टेलीविजन देखना, मोबाइल और लैपटॉप का इस्‍तेमाल करना, तनाव लेना, पूरी नींद न लेना और कुछ लोगों में ये वंशानुगत होते हैं। अगर आप अपने डार्क सर्कल से परेशान हैं तो आपको किसी अच्‍छे एक्‍सपर्ट की सलाह लेने की आवश्‍यकता है। आपकी डार्क सर्कल की समस्‍याओं के समाधान के लिए हमने काया स्किन क्लिनिक की एक्सपर्ट डॉ. हेमा पन्त से बात की, जिसमें उन्‍होंने डार्क सर्कल से निपटने का बेहरीन तरीका बताया है।

dark-circles

डार्क सर्कल के प्रमुख कारण क्‍या हैं? 

काया स्किन क्लिनिक की एक्सपर्ट डॉ. हेमा पन्त कहती हैं "आजकल डार्क सर्कल बहुत ही कॉमन प्रॉब्‍लम हो गई है। इसके दो प्रमुख कारण हैं। पहला ये कि आंखों का तनाव (Eye Stress) बढ़ गया है। लगातार कंप्‍यूटर, लैपटॉप और मोबाइल पर काम करना आंखों के तनाव की मुख्‍य वजह है। इसके अलावा, कई बार आंखों की बनावट ऐसी होती है जिससे लगता है कि आंखों के नीचे काले घेरे हैं ऐसे में आपको ज्‍यादा ख्‍याल रखने की जरूरत है। इसके अतिरिक्‍त रक्‍त वाहिकाएं भी एक घटक का काम करती हैं। रक्‍त वाहिकाएं बहुत ही सतही होती हैं जिसकी वजह से आपकी आंखों के चारो तरफ की स्किन बहुत पतली होती है। जिसकी अधिक देखभाल की आवश्‍यकता होती है।" 

डार्क सर्कल से बचाव और उपचार  

काया स्किन क्लिनिक की एक्सपर्ट डॉ. हेमा पन्त के अनुसार, जो लोग डार्क सर्कल से परेशान हैं उन्‍हें अपने आहार में गाजर और चुकंदर का सेवन ज्‍यादा करना चाहिए। इसके आलावा आंखों के चारों ओर आप विटामिन K और विटामिन C क्रीम लगाएं। इसके अलावा घरेलू नुस्‍खों की बात करें तो आप आंखों पर खीरा या बर्फ लगा सकते हैं। ऐसे लोगों को मसालों और नमक का सेवन कम करना चाहिए और आहार में सलाद, फ्रूट्स और वेजिटेबल्‍स का सेवन ज्‍यादा करना चाहिए। इससे आंखों के पफ यानी सूजन भी कम होंगे। अपनी आंखों को थकने से बचाएं। गैजेट्स का इस्‍तेमाल कम से कम करें। आंखों की एक्‍सरसाइज करें।

डार्क सर्कल दूर करने के कुछ प्राकृतिक उपाय

कोल्‍ड कंप्रेस 

आप कुछ बर्फ के टुकड़ों को साफ कपड़े में रखें और उन्‍हें अपनी आंखों के नीचे कंप्रेस करें। इसे आप नियमित रूप से कर सकते हैं। कोल्‍ड कंप्रेस आंखों के डार्क सर्कल खत्‍म करने में मदद कर सकते हैं।

भरपूर नींद लें 

अक्‍सर तनाव के चलते आप रातभर नहीं सो पाते हैं। नींद न ले पाने से आंखों की थकान दूर नहीं होती है और धीरे-धीरे आंखों के नीचे काले घेरे बनने लगते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आप तनाव को कम करें और अच्‍छी नींद लें।

इसे भी पढ़ें: पुरुषों के स्किन केयर रूटीन में इन 7 इंग्रेडिएंट्स का होना है बेहद जरूरी, जानें क्या हैं ये

आहार पर ध्‍यान दें 

आपका आहार हमेशा हेल्‍दी होना चाहिए। गलत खानपान आपकी कई समस्‍याओं को बढ़ाता है। डार्क सर्कल भी उनमें से एक है। अगर आप इससे छुटकारा चाहते हैं तो अपने आहार में सलाद, सब्‍जी और फलों को शामिल करें।

इसे भी पढ़ें: सेंसिटिव स्किन की ऐसे करें देखभाल, चेहरा नहीं होगा ड्राई और पैची

योग और प्राणायाम

योग और प्राणायाम तनाव को दूर करने का सबसे अच्‍छा माध्‍यम है। आप नियमित रूप से योग और प्राणायाम की मदद से खुद को तनाव मुक्‍त और स्‍वस्‍थ शरीर दे सकते हैं। यह आपके डार्क सर्कल को कम करने में आपकी मदद करेंगे।

Read More Articles On Skin Care in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK