• shareIcon

संबंधों में घनिष्ठता ना होने के कारण

मैरिज By अनुराधा गोयल , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Jan 16, 2012
संबंधों में घनिष्ठता ना होने के कारण

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि संबंधों में घनिष्ठता ना होने के कारण क्या हैं, जिससे आप अपने रिश्ते में आने वाली दूरी को समय रहते दूर कर सकें।

sambandho me ghanishthata na hone ka kaaran

विवाह एक ऐसा बंधन है जिससे आपके रिश्ते कई बार बहुत जटिल हो जाते हैं तो कई बार संबंधों में घनिष्ठता भी आ जाती है। किसी ने सच ही कहा है या तो आपके रिश्ते बहुत अच्छे हो रहे होते हैं या फिर बहुत खराब। जहां रिश्तों में यह समझ आना बंद हो जाएं कि आपके रिश्ते आगे की और बढ़ रहे हैं या आपको पीछे की ओर धकेल रहे हैं तो आपको समझ लेना चाहिए कि अब आपके संबंधों में घनिष्ठता खत्म हो गई है। संबंधों में घनिष्ठता ना होने के कई कारण है। इसके लिए कई बार व्यक्ति खुद जिम्मेदार होता है तो कई बार परिस्थतियों के कारण ऐसा हो जाता है। लिहाजा, आपके लिए यह जानना जरूरी है कि संबंधों में घनिष्ठता ना होने के कारण क्या हैं, जिससे आप अपने रिश्ते में आने वाली दूरी को समय रहते दूर कर सकें।

  • एक-दूसरे की पसंद ना मिलना- आपको अपनी साथी की च्वाइस बिल्कुल अच्छी नहीं लगती और ठीक ऐसे ही आपके साथी को आपकी कोई बात, आपकी कोई आदत या च्वाइस अच्छी नहीं लगती है, कई बार ये नापसंद झगड़े का कारण भी बन जाता है। यदि आप अपने साथी के लिए कुछ लेना भी चाहते हैं तो यह सोचकर नहीं ले पाते की आपका साथी इसे नापसंद कर देगा, ऐसे में आपके बीच मन ही मन मनमुटाव होने लगता है और आप इस बात से अनजान रहते हैं।
  • छोटी-छोटी बातों पर झगड़ा- कई बार आपकी छोटी-छोटी नोंक-झोंक आपके लिए परेशानी का सबब बन जाती है। छोटी-छोटी बातों पर लड़ना झगड़ना, एक-दूसरे से रूठने से आपके संबंधों में खट्टास पैदा होनी शुरू हो जाती है, जो बाद में बढ़कर खतरनाक रूप ले सकती है।
  • असंतोष होना- कई बार आपको अपने साथी से या आपके साथी को आपसे हमेशा किसी ना किसी बात को लेकर शिकायत रहती है जिससे धीरे-धीरे आप अपने साथी से दूर होने लगते हैं। हर समय आपके मन में ये ही ख्याल आता है कि आपका साथी तो कंप्लेन बॉक्स है।
  • अंतरंग रिश्तों में समस्या- जब आप और आपके साथी के बीच अंतरंग संबंधों में समस्या आने लगती है तो उसका प्रभाव संबंधों की घनिष्ठता पर भी पड़ता है। यानी संबंधों में घनिष्ठता बरकरार रखने के लिए मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से आपसी समझ और संतुष्टि होना बहुत जरूरी है।
  • अतीत के कारण- कई बार आपका अतीत आपके सामने आ जाता है या फिर आपने अपने पार्टनर को अतीत को कोई ऐसी बात बताई है जिससे आपके रिश्तों में कड़वाहट आ जाए तो भी चाहे-अनचाहे आपका साथी आपसे दूरी बनाने लगता हैं।
  • डर के कारण- कई बार आप अपने साथी से उसके गुस्से या फिर उसके व्यवहार से डरने लगते हैं जिससे आप कोई भी बात बताने से अपने साथी से डरने लगते हैं, इतना ही नहीं ऐसे में आपका आपके साथी से प्यार में कमी होना जायज है। आप जो भी करेंगे अपने साथी से डरकर, भय और तनाव दूर करने के कारण डरेंगे। ऐसे में संबंधों की घनिष्ठता में कमी आना जायज है।
  • ऐसे कितने ही और कारण है जिनसे संबंधों में घनिष्ठता नहीं आ पाती। जैसे आपके पसंद का पार्टनर ना होने के कारण, आपका आपके साथी को प्यार ना करने के कारण, आप दोनों के विचार ना मिलना इत्यादि छोटे-छोटे कारण रिश्तों की प्रागढ़ता को नुकसान पहुंचाते हैं।

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK