• shareIcon

स्तनपान करवाने वाली मांओं के लिए फायदेमंद होता है अजवायन का हलवा, जानें इसे बनाने की विधि

महिला स्‍वास्थ्‍य By सम्‍पादकीय विभाग , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 15, 2019
स्तनपान करवाने वाली मांओं के लिए फायदेमंद होता है अजवायन का हलवा, जानें इसे बनाने की विधि

अजावइन को खाने के कई फायदे हैं। गैस और अपच के अलावा स्तनपान करवाने वाली मां भी अजवाइन का विभिन्न रूप में इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे ब्रेस्टफीड करवाले वाली मांओं के दूध में बढ़ोतरी होती है।

अजवायन को पेट के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। आयुर्वेद में अजवाइन को औषधि के रूप इस्तेमाल किया जाता है।  पारंपरिक तौर पर यह माना जाता है कि अजवायन न केवल गैस और अपच में राहत देती है बल्कि यह स्तनदूध के उत्पादन बढ़ाने और गर्भाशय को संकुचित करने में भी मदद करती है। आयुर्वेद के अनुसार अजवाइन ब्रेस्टफीड करवाने वाली मांओं के लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। दरअसल अजवाइन में एंटीऑक्सीडेंट, एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीसेप्टिक तत्व पाए जाते हैं। इन्हीम गुणों के वजह से ही अजवाइन बच्चे के जन्म के बाद ब्रेस्टफीडिंग मांओं को खिलाया जाता है। ऐसे में अक्सर गर्भावस्था के बाद बेस्टफीड करवाने वाली मां को अजवाइन का पराठा, लड्डू और हलवा बना कर खिलाया जाता है। आइए हम आपको बताते हैं अजवाइन का हलवा बनाने की रेसिपी।

सामग्री

    आधा चम्मच अजवायन का पाउडर

    चुटकी भर सोंठ पाउडर

    चुटकी भर इलायची पाउडर

    3 चम्मच काजू-बादाम

    200 ग्राम गेहूं का आटा

    100 मिली घी

    3-4 चम्मच गुड़ का पावडर (या चीनी)

इसे भी पढ़े : प्रेग्‍नेंसी के दौरान फिट रहने के लिए सिर्फ एक्‍सरसाइज ही नहीं, इन 5 बातों का ख्‍याल रखना भी है जरूरी

अजवाइन का हलवा बनाने की विधि

  • अजवाइन का हलवा बनाने के लिए पहले एक  कड़ाही में घी गर्म करें। इसमें गेहूं का आटा डालें। फिर इसे मध्यम आंच पर तब तक पकाएं, जब तक कि इसका रंग सुनहरा ना हो जाए।
  • अब इसमें अजवायन पाउडर और सोंठ पाउडर मिलाएं। अगर आप इस अजवाइन पाउडर को घर में ही पीस कर तैयार करें तो यह ज्यादा फायदेमंद होगा। 
  • इसके लिए आप अजवाइन को खरीदने के बाद अच्छे से धूप लगाएं और साफ कर लें। फिर उसे गर्म तवे पर डालकर हल्का सा गर्म करें और मिक्सर में डालकर पीस लें।
  • फिर इस अजवाइन पाउडर को आटे में मिलाकर 2 मिनट तक चलाते हुए पकाएं। फिर इसमें मिठास के लिए गुड़ पाउडर या चीनी मिलाएं।
  • जब लगे कि यह सुनहरा हो रहा है तो हलवे को पकाने के लिए इसमें एक गिलास पानी डाल दें
  • हलवे को पकने तक बीच-बीच में चेक करते रहें। 4-5 मिनट इसे बार-बार चलाते रहें और फिर जब हलवा गाढ़ा होने लगे तो गैस बंद कर दें।
  • अब इस हलवे में इलायची पाउडर और ड्राई फ्रूट्स को मिलाएं।

इस तरह तैयार हो जाएगा आपका अजवाइन का हलवा। इस हलवे को ब्रेस्टफीड करने वाली मां रोज सुबह एक हेल्दी नाश्ता के रूप में खा सकती हैं। इसके अलावा भी ब्रेस्टफीड करवाने वाली मां अदवाइन को साबूत रूप में भी खा सकती हैं।

अजवाइन सिरप से भी बढ़ता है मां का दूध

आपको जानकर यह हैरानी होगी कि अजवाइन आपके गर्भाशय को भी साफ कर सकती है। इसके लिए आप एक चम्मच अजवाइन और सौंफ को एक लीटर पानी में डालकर उबाल लें। इस पानी को तब तक उबालें जब तक यह जल कर आधा न हो जाए। फिर इसे ठंडा कर लें और एक बोतल में बंद करके रख लें। फिर इसे रोज आधा ग्लास पानी के साथ मिलाकर सुबह और शान पिएं। इस तरह यह काफी प्रभावशाली ढंग से स्तन दूध को बढ़ाने में मदद करेगी। 

इसे भी पढ़े :  प्रेग्नेंसी में हल्की-फुल्की भूख सताए तो खाएं ये 6 स्नैक्स, शिशु के बेहतर विकास के लिेए मिलेंगे पोषक तत्व

मासिक धर्म में भी लाभदायक

महिलाओं के लिए स्तनदूध बढ़ाने के अलावा भी अजवाइन पीरिएड्स के लिए भी काफी लाभदायक होता है। अगर किसी को मासिक धर्म यानी पीरिएड्स में दर्द या अनियमितता की शिकायत है, तो आप अजवाइन का सेवन कर सकती हैं। इसके लिए आप मिट्टी के बर्तन में पानी भरकर एक मुट्ठी अजवाइन डालकर रातभर के लिए छोड़ दें। फिर इसे अगली सुबह पीसकर पी लें। इससे पीरिएड्स में होने वाली अनियमितता और दर्द दोनों से छुटकारा मिलेगा।

Written by Pallavi Kumari

Read more articles on Womens in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK