ब्रेस्टफीडिंग करता है महिलाओं में हार्ट अटैक का खतरा कम

ब्रेस्टफीडिंग करता है महिलाओं में हार्ट अटैक का खतरा कम

ब्रेस्टफीडिंग केवल शिशुओं को ही स्वस्थ रखने का काम नहीं करता अपितु ये महिलाओं में भी हार्ट अटैक का खतरा कम करता है। 

ब्रेस्टफीडिंग शिशु के लिए अमृत समान होता है। इससे शिशुओं की हड्डियां और प्रतिरोधक क्षमता मजबूत बनती हैं। लेकिन आपको शायद ये नहीं मालुम कि ब्रेस्टफीडिंग केवल शिशुओं के लिए ही नहीं अपितु महिलाओं के लिए भी काफी फायदेमंद है। एक नए शोध में पुष्टि हुई है कि ब्रेस्टफीडिंग करना वाली महिलाओं में हार्ट अटैक का खतरा 10 गुना तक कम हो जाता है।


यह शोध यूनिवर्सिटी ऑफ ऑक्सफर्ड के शोधकर्ताओं ने की है। शोधकर्ता सैनी पीटर्स ने कहा, 'ब्रेस्टफीडिंग से मां को स्वास्थ्य लाभ होता है। गर्भावस्था के बाद मां के मेटाबॉलिज़्म को ये तेजी से ठीक करने में मदद करता है। एक महिला के मेटाबॉलिज़्म में गर्भावस्था के दौरान काफी बदलाव होता है और इसी से महिला का शरीर बच्चे के विकास के लिए आवश्यक ऊर्जा प्राप्त करने के लिए फैट एकत्र करता है और प्रेग्नेंसी के बाद ब्रेस्टफीडिंग इसी फैट को तेजी से और पूरी तरह से समाप्त करने में मदद करता है।'

 

breastfeeding

 


यह शोध 'जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट असोसिएशन' में प्रकाशित हुई है। इस तरह करे कई शोध पहले भी सामने आ चुके हैं जिसमें ब्रेस्टफीडिंग के फायदों के बारे में बताया गया है। कई शोध में तो ये भी पुष्टि हुई है कि ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा भी कम हो जाता है।

 

Read more Health news in Hindi.

 
Disclaimer:

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।