• shareIcon

ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द से कैसे निपटें

कैंसर By Pooja Sinha , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Oct 03, 2012
ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द से कैसे निपटें

आइए जानें ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द को कम करने के क्‍या करें।

breast cancer ke dard se kaise nipatein

कैंसर जिसका नाम सुनते ही बदन में सिहरन दौड़ जाती है। कैंसर के साथ हमें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। और इसके दर्द का सामना करना सबसे ज्‍यादा मुश्किल काम है। ब्रेस्‍ट कैंसर में दर्द अक्सर ब्रेस्‍ट कैंसर की स्‍टेज पर निर्भर करता है, और यह कैंसर के इलाज में साइड इफेक्ट भी पैदा कर सकता है। ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द को कम करने के तरीके अलग-अलग होते है जो आकार, प्रकार, स्‍थान, स्‍टेज पर निर्भर करते है। आइए जानें ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द को कम करने के क्‍या करें। लेकिन इससे पहले हम ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द के कारण्‍ा जान लेते है।

[इसे भी पढ़े : स्‍तन कैंसर क्‍या है]

 

ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द कारण

  • बड़े ट्यूमर द्वारा ब्रेस्‍ट की दीवार के अन्‍दर त्‍वचा पर या नसों पर दबाव डालना।
  • ब्रेस्‍ट कैंसर जो हड्डियों में फैल गया हो।
  • कीमोथेरैपी और अन्य दवाएं, हड्डी में दर्द का कारण हो सकती है।
  • कैंसर की वजह से रक्त वाहिकाओं में रुकावट।
  • रक्‍त थक्‍के कैंसर के प्रभाव के कारण।
  • सर्जरी से संबंधित दर्द।
  • कीमोथेरैपी के साइड प्रभाव के कारण्‍ा पेट दर्द, मतली और उल्टी, कब्ज या दस्त, मुंह, गले आदि में।
  • कीमोथेरैपी के प्रकार के कारण अक्‍सर तंत्रिका, हाथ या पैर में दर्द।
  • संक्रमण
  • गतिविधि की कमी के कारण पीठ, गर्दन, और अन्य क्षेत्रों की मांसपेशियों में दर्द।

 

[इसे भी पढ़े : स्‍तन कैंसर के लक्षण]


ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द का अनुभव हर किसी को नही होता है, और प्रत्येक ब्रेस्‍ट कैंसर के मरीज को दर्द का अनुभव अलग होता  है। ब्रेस्‍ट कैंसर में दर्द का अनुभव आपके शरीर में कही भी हो सकता है यह इस बात पर निर्भर करता है कि ब्रेस्‍ट कैंसर कहॉ पर है। यदि मस्तिष्क, कूल्हे, रीढ़, या जिगर में कैंसर है, तो वहां पर दर्द महसूस करने की उम्मीद ज्‍यादा होती हैं।


ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द का उपचार

यह एक अच्छी खबर है कि अधिकांश कैंसर दर्द, दर्द प्रबंधन तकनीकों, दवाओं, या कैंसर के उपचार के माध्यम से दूर किए जा सकते है। बेस्‍ट कैंसर के दर्द के लिए कुछ वर्तमान दर्द प्रबंधन तकनीक हैं जैसे-

1. ट्यूमर को हटाने की सर्जरी।

2. कीमोथेरैपी या रेडियेशन पद्धति द्धारा ट्यूमर को हाटना या ट्यूमर को नष्ट करने की चिकित्सा, रेडियेशन चिकित्सा विशेष रूप से उपयोगी हो सकती है हड्डी मेटास्टेसिस के दर्द के लिए।

3. तंत्रिका को अस्‍थायी रूप से ब्‍लॉक कर के एक विशेष क्षेत्र में दर्द रोकना।

4. ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द को आप दवाओं से भी कम कर सकते है।

5. थैरेपी, परामर्श के रूप में चिकित्सा, मनोचिकित्सा या किसी सहायता समूह में शामिल होकर आप विभिन्न ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द से निपटने के लिए तरीके खोजने में उनकी मदद ले सकते है।

6. ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द से निपटने के लिए पूरक दर्द प्रबंधन तकनीकों का परंपरा दृष्टिकोण में इस्तेमाल किया जाता है, इनमें मालिश, विश्राम तकनीक और एक्यूपंक्चर शामिल होता है।

 

[इसे भी पढ़े : ब्रेस्ट कैंसर के इलाज के बाद सावधानियां]

 

ब्रेस्‍ट कैंसर के दर्द के अलग अलग प्रकार और कारण हैं, पर इसके उपचार के लिए विभिन्‍न प्रकार के तरीकें और तकनीक उपलब्ध हैं। दर्द को ब्रेस्‍ट कैंसर या उसके उपचार का एक हिस्सा होना जरूरी नहीं है। लेकिन आप अपनी परेशानियों के बारे में अपने डॉक्टर से कहें। विशेष रूप में, कीमोथेरपी के साइड इफेक्ट जिनके कारण आपको दर्द होता है। दर्द प्रबंधन के तरीके के बारे में पूछने के लिए दर्द प्रबंधन विशेषज्ञ अधिकांश अस्पतालों में उपलब्ध होते हैं और वह आमतौर पर इलाज के तरीकों के सफल संयोजन के बारे में आपको बता सकते हैं।

किसी भी स्तन कैंसर के उपचार का एक महत्वपूर्ण भाग है दर्द प्रबंधन के बारे में सोचना, और मेडिकल टीम के साथ बात कर सुनिश्चित करना अपने समग्र स्तन कैंसर की योजना की रिकवरी के बारे में।

 

Read More Articles on Breast Cancer in hindi.

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK