• shareIcon

तलाक या ब्रेकअप के बाद भी अच्छे दोस्त हैं ये बॉलीवुड स्टार, जानें क्या है इसका सीक्रेट

Updated at: Jan 14, 2019
डेटिंग टिप्स
Written by: Rashmi UpadhyayPublished at: Jan 14, 2019
तलाक या ब्रेकअप के बाद भी अच्छे दोस्त हैं ये बॉलीवुड स्टार, जानें क्या है इसका सीक्रेट

आजकल के रिलेशनशिप पहले जितने मजबूत और बुनियादी नहीं रह गए हैं। चाहे ब्वॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड का रिश्ता हो या फिर पति और पत्नी का रिश्ता हो, आजकल रिश्तों में गलतफहमी और लड़ाई झगड़े आम हो गए हैं। अक्सर आम लोगों के रिलेशनशिप में जब ब्रेकअप हो या जात

आजकल के रिलेशनशिप पहले जितने मजबूत और बुनियादी नहीं रह गए हैं। चाहे ब्वॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड का रिश्ता हो या फिर पति और पत्नी का रिश्ता हो, आजकल रिश्तों में गलतफहमी और लड़ाई झगड़े आम हो गए हैं। अक्सर आम लोगों के रिलेशनशिप में जब ब्रेकअप हो या जाता है या तलाक हो जाता है तो वह एक दूसरे के दोस्त बनना तो दूर दुश्मन बन जाते हैं। जबकि अगर हम बॉलीवुड सेलेब्स की बात करें तो वहां कई कपल्स ऐसे हैं जो तलाक या ब्रेकअप के बाद भी एक अच्छे फ्रेंड की तरह रहते हैं। इस लिस्ट में दीपिका पादुकोण, रणबीर कपूर, सलमान खान, अनुराग कश्यप और कटरीना जैसे कई बड़े स्टार शामिल हैं। आखिर ऐसा क्या कारण हैं ये कि ये लोग अलग होने के बाद भी एक दोस्त की तरह रहते हैं? आज हम आपको इसी से संबंधित कुछ जरूरी टिप्स बता रहे हैं। सबसे पहले हम यह जानते हैं कि ऐसे कौन कौन से सेलेब्स हैं जो रिश्ता टूटने के बाद भी एक फ्रेंडशिप के रिलेशन में है।

तलाक या ब्रेकअप के बाद भी दोस्त हैं ये बॉलीवुड सेलेब्स

  • ऋितिक रोशन और सुजैन खान
  • सैफअली खान और अमृता सिंह
  • कल्कि कोचिलिन और डायरेक्टर अनुराग कश्यप
  • मालाइका अरोड़ा खान और अरबाज खान
  • आमिर खान और रीना दत्ता
  • रघुराम और सुगंधा  

किसी तरह का हक न जमाएं

आम लोगों के रिलेशनशिप जब खत्म भी हो जाते हैं यानि कि ब्रेकअप या तलाक हो जाता है तो उन्हें लगता है कि उनका पार्टनर जो भी करें वह उसके मुताबिक होना चाहिए। या अगर उनका पार्टनर किसी और के साथ रिलेशनशिप में आता है या शादी कर लेता है तो वह उसका दुश्मन बन जाता है। जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। आपको हमेशा यह बात ध्यान रखनी चाहिए कि अब आप उनके साथ रिलेशन में नहीं है। इसलिए अब वह जो चाहे कर सकते हैं। सामने वाले की फीलिंग्स को हमेशा सम्मान दें। अगर आप इस सोच के साथ आगे बढ़ेगे तो यकीन मानिए आप अपने एक्स के साथ हमेशा दोस्ती के रिश्ते में रह सकते हैं।

उसे परेशान या हर्ट न करें

कुछ लोग अलग होने के बाद अपने पार्टनर को परेशान या हर्ट करने का मन रखते हैं। इसके लिए वह उन्हें अननोन नंबर से मैसेज भेजते हैं, कॉल आदि करते हैं, या कुछ लोेगों को भेजकर उसके साथ मारपीट कराते हैं। यकीन मानिए अगर आप ऐसा करते हैं तो इससे यह साबित नहीं होगा कि आप उससे बहुत प्यार करते थे, बल्कि आपके एक्स को यह अहसास जरूर होगा कि वह आपके साथ जितने साल भी रिलेशन में थे वह उसकी जिंदगी का सबसे खराब वक्त था। इसलिए रिलेशनशिप खत्म होने के बाद अगर आप अपने एक्स से कहीं मिलते हैं तो प्यार से हॉय-हैलो करें। या पीठ पीछे आपकी जितनी मदद हो सके वह करें।

इसे भी पढ़ें : इस सवाल के जवाब में अगर ब्वॉयफ्रेंड हां कहे, तो आंख बंद कर के कर लें शादी

बच्चों को दें विशेष महत्व

पति-पत्नी के रिश्ते में बच्चे पुल का काम करते हैं। कई बातों को लेकर उनके बीच मतभेद या झगड़े हो सकते हैं पर बच्चों की भलाई के मुद्दे पर दोनों हमेशा एकमत होते हैं। इस संबंध में लखनऊ की चांदनी कहती हैं, 'जब मैं बारहवीं कक्षा में पढ़ती थी, तभी मेरी शादी हो गई थी। दो बच्चों के जन्म के बाद छोटी-छोटी बातों के लेकर होने वाले झगड़े बड़े होते गए। तब हम दोनों में ही समझदारी नहीं थी। इसलिए अंतत: मामला तलाक तक पहुंच गया। कुछ वर्षों के बाद धीरे-धीरे हम दोनों पुराने कड़वे अनुभवों को भूलने लगे और हमें अपनी गलतियों का भी एहसास हुआ। ऐसा लगने लगा कि हमारे इस अलगाव का बच्चों पर बुरा असर पड़ रहा है। फिर इस मुद्दे पर मैंने अपने पति से बात की और पुरानी कड़वाहट भुलाकर हमने एक-दूसरे के साथ एक नया दोस्ताना रिश्ता कायम किया। भले ही हम अलग फ्लैट्स में रहते हों पर जब भी हम मिलते हैं तो हमारे बीच बच्चों से जुड़ी ढेर सारी बातें होती हैं। अब तला$क का दर्द भूलकर मैं अपनी जि़ंदगी  से पूरी तरह संतुष्ट हूं कि मेरे बच्चों को माता-पिता दोनों का प्यार मिल रहा है।  

लोगों का संकुचित दृष्टिकोण

आज के ज़माने में भी लोग अकेली या तलाकशुदा स्त्री को शककी दृष्टि से देखते हैं। इस संबंध में दिल्ली की डॉ. शंपा चौधरी कहती हैं, 'हमारे समाज में आज भी तलाक बहुत बड़ा टैबू है। रिश्ता टूटने के बाद दोबारा पति-पत्नी के बीच दोस्ती की बात को लोग सहजता से स्वीकार नहीं पाते। पढ़ाई के दौरान ही मैंने अपने बैचमेट से शादी कर ली लेकिन दुर्भाग्यवश वह रिश्ता चल नहीं पाया। एक स्थिति ऐसी भी आई, जब हमारा साथ रहना मुश्किल हो गया, तब हमने आपसी सहमति से बिना तलाक के ही अलग रहने का निर्णय लिया। साथ ही हमने यह भी तय किया कि हम इस रिश्ते को शालीनता के $खत्म करेंगे ताकि मेरी छह साल की बेटी पर इसका कोई बुरा असर न पड़े। चूंकि हम दोनों एक ही शहर में रहते हैं। इसलिए आपस में मिल-बांटकर बेटी की जि़म्मेदारियां निभा लेते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप

Read More Articles On Dating In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK