Prevention of Heat Stroke: डायटीशियन से जानें गर्मियों में हीट स्‍ट्रोक से बचाव के लिए 10 बेस्‍ट सुपर फूड्स

Updated at: May 29, 2020
Prevention of Heat Stroke: डायटीशियन से जानें गर्मियों में हीट स्‍ट्रोक से बचाव के लिए 10 बेस्‍ट सुपर फूड्स

यहां डायटीशियन स्‍वाती बता रही हैं कि कैसे इन 10 सुपर फूड्स की मदद से आप गर्मियों में हीट को बीट कर सकते हैं। 

Sheetal Bisht
स्वस्थ आहारReviewed by: डॉ. स्वाती बाथवाल, इंटरनैशनल स्पोर्ट्स डायटीशियनPublished at: May 29, 2020Written by: Sheetal Bisht

क्या आपको पता जब तक आप प्‍यासे हो, तो आपका शरीर पहले से ही डिहाइड्रेट है? पूरे दिन पानी की घूंट पीना डिहाइड्रेशन को रोकने के लिए एक आदर्श रणनीति होती है। लेकिन जब डिहाइड्रेशन अपने चरम पर होता है, तो इससे हीट स्ट्रोक हो सकता है। उच्च तापमान में लंबे समय और गर्म हवाओं के संपर्क में रहने के परिणामस्वरूप हीट स्ट्रोक हेाता है, जो एक मेडिकल कंडीशन है। इससे शरीर का तापमान 104 F या इससे भी अधिक हो जाता है। ऐसे में एक अनुपचारित हीट स्ट्रोक हमारे महत्वपूर्ण अंगों जैसे मस्तिष्क, किडनी और मांसपेशियों को नुकसान पहुंचा सकता है। 

हीट स्ट्रोक और गर्मी लगने के बीच आपको भ्रमित नहीं होना चाहिए। हीट स्‍ट्रोक इससे अलग है - तापमान में वृद्धि के साथ शरीर सूख जाता है, जिससे मतली, उल्टी, भ्रम और तेज हार्ट बीट का अनुभव होता है। हीट स्ट्रोक में कोई पसीना नहीं आता है, जबकि गर्मी लगने पर आपको पसीना आता है शरीर का तापमान नहीं बढ़ता है।

यहां कुछ ऐसे समर-स्‍पेशल फूड्स हैं, जिन्‍हें आपको गर्मियों में खाना चाहिए, यह आपको हीट स्‍ट्रोक से बचने में मदद करेंगे। 

गोंद कतीरा 

यह समर-स्‍पेशल गोंद कतीरा गोंद से अलग है। इसे त्रिगाकांत गम भी कहा जाता है और गर्मियों में यह काफी आवायक होता है। गोंद कतीरा और गोंद दोनों खाने योग्य हैं लेकिन शरीर पर गोंद का गर्म प्रभाव पड़ता है, जबकि गोंद कतीरा पाचन में मदद करता है और शरीर को ठंडा करने में मदद करता है। यह कब्ज के लिए भी एक उपाय है। आप 1 बड़ा चम्मच गोंद कतीरा 2 चम्मच पानी में भिगोएँ और इस जेल को अपनी स्मूदी, लस्सी, जूस और शेक में मिलाएं। गुलकंद मिल्कशेक में गोंद कतीरा मेरी भी पसंदीदा ड्रिंक है और यह गर्मी प्यास बुझाने के लिए है और  हीटस्ट्रोक को रोकने के लिए एक आदर्श संयोजन है। 

कच्चे आम का आम-पन्ना

Aam panna

आम के अचार के बिना गर्मी अधूरी होती और आम का अचार और ड्रिंक गर्मियों में काफी पसंद किया जाता है। कच्चे आम हमें गर्मी से बचाते हैं और शरीर को हाइड्रेट रखते हैं। आप कच्‍चे आम से आम-पन्‍ना बना सकते हैं, इसमें में काला नमक, जीरा पाउडर और शक्कर जैसी चीजें इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बनाए रखने में मदद करते हैं। इस ड्रिंक में नमक और चीनी के बारे में चिंता नहीं करनी चाहिए, क्योंकि यह आपके शरीर के इलेक्ट्रोलाइट्स को संतुलित रखने के लिए महत्वपूर्ण है। जब आप अपने शरीर को अत्यधिक तापमान पर रखते हैं, तो आपके इलेक्ट्रोलाइट संतुलन बिगड़ जाता है। हालांकि, कोई गुड़ पाउडर या खांड के साथ शक्कर को स्वैप कर सकते हैं। 

बेल शर्बत या वुड एप्‍पल  

बेल शर्बत एक स्वादिष्ट और विभिन्‍न प्रकार पोषक तत्वों का एक पावरहाउस है। इस फल का रस हमें हीट स्ट्रोक से बचाने में मदद करता है। हम भगवान शिव और पार्वती की पूजा बेल के पत्तों से करते हैं। यह हिंदू संस्कृति में पवित्र माना जाता है और आयुर्वेद में बेल को पेप्टिक अल्सर, हीट स्ट्रोक, पीलिया, ब्‍लड शुगर को कंट्रोल करने और कई अन्य लाभों के लिए अच्‍छा माना जाता है। गर्मियों के मौसम में हर दिन 1 गिलास बेल शर्बत का सेवन करना चाहिए। इसके स्वास्थ्य लाभ के लिए आप गुड़ के साथ चीनी को स्वैप करें लेकिन याद रखें कि गुड़ की भी अधिकता हानिकारक हो सकती है। 

इमली या कोकम

Tamarind or Kokum

यह अद्भुत फल है, जो न केवल स्वाद में अच्‍छा है, बल्कि इसमें बहुत अधिक हर्बल गुण होते हैं। इसका उपयोग आप चटनी, रसम, सांभर के रूप में उपयोग करें। इमली हीट स्ट्रोक से बचाता है। आप कोकम या इमली का शर्बत भी बना सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:  चिलचिलाती गर्मी में राहत दिलाएंगे ये 5 कूलिंग हर्ब्‍स, हीट को बीट करने में मिलेगी मदद

गुलकंद या गुलाब की पंखुड़ियाँ

अगर गर्मी के कारण नाक से खून निकलता है, तो 1 चम्मच गुलकंद को एक गिलास दूध या गुलकंद शेक के साथ लें, जो शरीर के आंतरिक तापमान को नियंत्रित करने में कारगर होता है। यह पेट की गर्मी को कम करता है और शरीर के मुख्य तापमान को कम करता है। इसके अलावा, यह मुंह के छालों और कब्ज से बचाता है। हीट स्ट्रोक से बचाव के लिए दिन में 1 चम्मच गुलकंद का सेवन करें।

कच्चा प्याज

Onion

शरीर के तापमान को कम करने के लिए भारत में कच्चे प्याज का इस्तेमाल पारंपरिक रूप से किया जाता रहा है। सलाद के तौर पर कच्चे प्याज का उपयोग करें। आप उन्हें चटनी में जोड़ें और अपने शरीर के तापमान को शांत करने के लिए अपने माथे पर कच्चे प्याज का रस लगाएं।  

तुलसी के बीज

ये बीज पौष्टिक होते हैं और इनमें जल धारण क्षमता होती है। तुलसी के बीज सुपरफूड हैं। उन्हें अलग-अलग नामों से बुलाया जाता है, जैसे कि सबजा, तुकमारिया, तुलसी के बीज और कई अन्य नामों से। इन बीजों का 1 बड़ा चम्मच अपने शेक, लस्सी में मिलाएं या बस इन्हें पानी में भिगोकर पिएं। 

Loading...

जौ का पानी और नारियल का पानी

उबलते पानी में जौ डालें और इसे कुछ देर रहने दें। पानी के ठंडा होने के बाद इसमें नींबू का रस, काला नमक, चीनी जोड़ें और दिन भर इन पानी की घूंट लेते रहें। जौ का पानी गर्मियों में एक टॉनिक है। इसके अलावा, दिन में 2-3 बार ताजा नारियल पानी पीने से भी हमारा इलेक्ट्रोलाइट्स संतुलित रहता है और हमें हीट स्ट्रोक से बचाने में मदद मिलती है। 

फल और सब्जियां 

फल और सब्जियां आपको गर्मियों में हाइड्रेट रहने में मदद कर सकती हैं। जिसमें आप तरबूज, खीरा, ककड़ी, पुदीना, लौकी, स्प्राउट्स, ताजा अदरक, नींबू का रस आदि लें। इनके हाइड्रेटिंग गुण आपको गर्मियों में हीट स्‍ट्रोक से बचाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: शरीर के बढ़ते तापमान की वजह से हो सकता है हीट स्‍ट्रेस, जानें बॉडी हीट को कम करने के घरेलू उपाय

Vegetables & Fruits

इन सुझावों का पालन करें लेकिन धूप में बाहर जाने से पहले अपने चेहरे और सिर को ढंकना याद रखें, हाइड्रेटेड रहें, ठंडी फुहारें लें और माथे पर चंदन का लेप लगाएं। ये टिप्स हमारे शरीर के तापमान को ठंडा करने में मदद करते हैं।  हीट स्ट्रोक से पीड़ित व्यक्ति को हीट स्ट्रोक से बचाव के लिए दिशा निर्देशों के ऊपर तत्काल ध्यान देने की आवश्यकता होती है, हीट स्ट्रोक के मामले में कृपया चिकित्सक से सलाह लें और इस गर्मियों के मौसम में गर्मी और COVID-19 से सुरक्षित रहें। 

Read More Article On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK