सिर्फ Vitamin C से नहीं बूस्ट होती इम्यूनिटी शरीर के लिए प्रोटीन भी बहुत जरूरी! खाएं ये प्रोटीन वाले सस्ते फूड

Updated at: Jul 28, 2020
सिर्फ Vitamin C से नहीं बूस्ट होती इम्यूनिटी शरीर के लिए प्रोटीन भी बहुत जरूरी! खाएं ये प्रोटीन वाले सस्ते फूड

अगर आप इम्यूनिटी को बूस्ट करने के लिए सिर्फ विटामिन सी पर निर्भर हैं तो जरा रुकिए, आपके शरीर के लिए प्रोटीन भी बहुत जरूरी है। जानें स्त्रोत।  

Jitendra Gupta
स्वस्थ आहारWritten by: Jitendra GuptaPublished at: Jul 28, 2020

ऐसे समय में जब दुनिया कोरोनावायरस महामारी से जूझ रही है और हमारे पास इसका कोई इलाज या टीका भी नहीं है, तो हमारे पास सबसे प्रभावी तरीका यही है कि बीमारी के खिलाफ अपने शरीर की सुरक्षा को बढ़ाएं। बीमारी से लड़ने के लिए एक नियमित एक्सरसाइज रूटीन और एक उचित डाइट बहुत जरूरी है।  हालांकि, गतिहीन जीवन शैली और गलत खान-पान के कारण इम्यूनिटी को मजबूत बनाने में सबसे बड़ी बाधा रही है और प्राकृतिक रूप से खुद को इस बीमारी से बचाए रखने का एकमात्र तरीका है अपने इम्यून सिस्टम को बूस्ट करें। इम्यूनिटी यानी प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने के सर्वोत्तम तरीकों में से एक है अपनी डाइट में फलों और सब्जियों को शामिल करना है, जो आपके शरीर को प्रोटीन और विटामिन की सही खुराक देते हैं।

protien

हमारे शरीर को प्रोटीन और विटामिन की सही खुराक की आवश्यकता क्यों है?

कोरोना के कारण बहुत से लोग अभी भी घरों तक ही सीमित हैं, लेकिन जरूरी है कि हम एक नियमित दिनचर्या बनाए रखें जिसमें दैनिक व्यायाम, संतुलित आहार खाना, हाइड्रेटेड रहना, अच्छी आंत स्वास्थ्य बनाए रखना, पर्याप्त नींद लेना और तनाव के स्तर का प्रबंधन करना शामिल है। हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली रोग पैदा करने वाले सूक्ष्मजीवों के खिलाफ अग्रिम पंक्ति के तंत्र के रूप में काम करती है और हमारे शरीर के संपर्क में आने वाले सभी वायरस और रोगाणुओं से हमारी रक्षा करती है। एक स्वस्थ जीवन शैली के साथ-साथ सभी आवश्यक मैक्रो और माइक्रोन्यूट्रेंट्स युक्त एक अच्छी तरह से संतुलित आहार प्रतिरक्षा प्रणाली के इष्टतम कामकाज और रखरखाव के लिए महत्वपूर्ण है।

इसे भी पढ़ेंः शरीर में आयरन और कैल्शियम की कमी पूरी करेंगे ये 12 शाकाहारी फूड्स, FSSAI के अनुसार सभी को खाना चाहिए इन्हें

क्या प्रोटीन है इतना जरूरी?

प्रोटीन एक बहुमुखी मैक्रोन्यूट्रिएंट है, जो जीवन को बनाए रखता है और इम्यूनिटी को बढ़ाने में विशेष रूप से महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। हालांकि हम सभी प्रोटीन के महत्व के बारे में जानते हैं, लेकिन हम भारतीय प्रोटीन के सेवन में कमी करते हैं। प्रति व्यक्ति औसतन शरीर के वजन के हिसाब से 0.8-1.0 ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है। हालांकि ये कई कारकों के आधार पर अलग-अलग हो सकता है जैसे कि शारीरिक गतिविधि, आयु, रोग आदि। 2015 में किए गए सामान्य उपभोक्ता सर्वेक्षण (PRODIGY) के अनुसार, हमारी जनसंख्या की 73 प्रतिशत आबादी में प्रोटीन की कमी है जबकि 93 प्रतिशत लोग तो  अपने डेली प्रोटीन की जरूरत के बारे में जानते ही नहीं है। 

foods

इम्यून सिस्टम को अपने सबसे अच्छे रूप में कार्य करने के लिए प्रतिदिन अच्छी मात्रा में और प्रोटीन की गुणवत्ता का उपभोग करना महत्वपूर्ण है। हर भोजन पर हमारी प्लेट का एक चौथाई प्रोटीन होना चाहिए। एक अच्छी गुणवत्ता वाला प्रथम श्रेणी का प्रोटीन उच्च पाचनशक्ति वाला होता है और इसमें शरीर के लिए आवश्यक सभी आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं। इसके स्रोत हैं: 

सभी पशु उत्पाद जैसे 

अंडे

मांस

मछली 

चिकन 

दूध 

दूध से बने उत्पाद जैसे दही, पनीर, मट्ठा। 

इसे भी पढ़ेंः त्योहारों के मौसम में इम्यूनिटी को स्ट्रांग करने के लिए घर पर बनाएं 3 तरह के लड्डू, सर्दी-खांसी से रहेंगे दूर

प्रोटीन, जिसमें आंशिक रूप से एक या एक से अधिक आवश्यक अमीनो एसिड की कमी होती है उनमें, अनाज और दाल शामिल हैं इनमें अधूरा प्रोटीन होता है। इसके अलावा इडली, डोसा, पोंगल, खिचड़ी, दाल चावल आदि जैसे 4: 1 अनुपात में अनाज की दाल के साथ खाद्य पदार्थों का संयोजन शाकाहारी भोजन में प्रोटीन की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद करता है। अगर  आप आहार के माध्यम से अपनी प्रोटीन की आवश्यकताओं को पूरा करने में असमर्थ हैं, तो प्रोटीन अंतर को पाटने के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले प्रोटीन वाले पाउडर शामिल किए जा सकते हैं। आप अपने प्रोटीन और पोषक तत्वों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए डाइट विशेषज्ञ से भी सलाह कर सकते हैं।

मजबूत प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए मसाले और जड़ी-बूटियां

लहसुन, सौंफ, अदरक, लौंग, तुलसी, हल्दी और नारियल के तेल जैसे आसानी से हमारे रसोईघर में उपलब्ध होती हैं। इन एंटी-वायरल खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल कर हम अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बना सकते हैं। संक्रमण से लड़ने में मदद करने के लिए प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले पोषक तत्वों को शामिल करके अपने आहार में सरल बदलाव लाएं। अंत में, नियमित रूप से हाथ धोना, स्वच्छता बनाए रखना, सोशल डिस्टेंसिंग रखना और मास्क पहनना न भूलें।

Read More Articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK