Healthier Sugars For Diabetics: शुगर से ज्यादा मीठे लेकिन ब्लड शुगर नहीं बढ़ाते ये 4 हेल्दी शुगर, जानें फायदे

Updated at: Apr 03, 2020
Healthier Sugars For Diabetics: शुगर से ज्यादा मीठे लेकिन ब्लड शुगर नहीं बढ़ाते ये 4 हेल्दी शुगर, जानें फायदे

Healthier Sugars For Diabetics: शुगर कंट्रोल करने के चक्कर में हम अक्सर मीठा खाना छोड़ देते हैं, लेकिन आप ये 4 हेल्दी तरीके अपना सकते हैं। 

 

Jitendra Gupta
डायबिटीज़Written by: Jitendra GuptaPublished at: Apr 03, 2020

डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है, जिसमें किसी व्यक्ति के खून में शुगर की मात्रा ज्यादा हो जाती है। डायबिटीज से पीड़ित लोगों को अधिक और विशेष देखभाल की जरूरत होती है ताकि उनका ब्लड शुगर बढ़ने से रोका जा सके।  तंत्रिका क्षति (nerve damage) और हृदय संबंधी बीमारी (cardiovascular illness) सहित मधुमेह (diabetes) की गंभीर जटिलताओं को दूर करने के लिए ब्लड शुगर की सही जांच बेहद ही जरूरी है। डायबिटिक लोगों को अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देने की जरूरत होती है और साथ ही उन्हें कम से कम शुगर वाली चीजों का सेवन करना चाहिए। कुछ डायबिटिक लोग ऑल्टरनेटिव स्वीटरन का विकल्प चुनते हैं, जिसमें कृत्रिम मिठास वाले खाद्य  व पेय पदार्थ शामिल होते हैं। ये कृत्रिम मिठास भोजन और पेय में ताजगी बनाए रखने का एक साधन है। लेकिन, सभी वैकल्पिक मिठास वाली चीजें डायबिटिक लोगों के लिए अच्छे विकल्प नहीं होते हैं। बाजार में बिकने वाले कुछ सिरप शुगर की तुलना में अधिक कैलोरी प्रदान करते है। इसलिए आपको वैकल्पिक शुगर का इस्तेमाल करते वक्त विशेष ध्यान देना चाहिए। इस लेख में हम आपको शुगर के विकल्प में रूप में 4 ऐसे हेल्दी स्वीटनर के बारे में बता रहे हैं, जो आपका न तो ब्लड शुगर बढ़ाएंगे बल्कि आपको फिट भी रखेंगे। 

sugar

डायबिटीज वालों के लिए इस लेख में हम कुछ बेहतरीन लो-कैलोरी वाले स्वीटनर के बारे में बता रहे हैंः 

स्प्लेंडा  (Splenda)

स्प्लेंडा,  सुक्रालोज का हाल ही में रखा गया नाम है, जो एक गैर-पोषक ( non-nutritive) या कृत्रिम स्वीटनर (artificial sweetener) है। ये स्वीटनर विशेष रूप से टाइप 2 डायबिटीज वाले लोगों के लिए बहुत अच्छी मानी जाती है। स्प्लेंडा शुगर की तुलना में 600 गुना अधिक मीठा होती है लेकिन इसके सेवन से आपके ब्लड शुगर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। इसके अलावा, स्प्लेंडा आपके पूरे सिस्टम में नाममात्र अवशोषण के साथ गुजरता है।

इसे भी पढ़ेंः डायबिटीज पेशेंट के लिए कितना फायदेमंद है सुबह 30 मिनट तक पैदल चलना, जानें सुबह की सैर से मिलने वाले अचूक फायदे

ज़ाइलिटोल  (xylitol)

ज़ाइलिटोल को शुगर की शराब कहा जाता है, जिसमें शुगर के समान मिठास होती है। इसकी एक ग्राम में 2.4 कैलोरी होती है, और इसकी लगभग दो तिहाई शक्कर बिल्कुल खराब होती है।  Xylitol दंत स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद मानी जाती है, जो दांतों में सड़न और मसूड़ों के नुकसान के जोखिम को कम करता है। एक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है कि यह चूहों में बोन डेंसिटी में भी सुधार कर सकता है, इतना ही नहीं ये ऑस्टियोपोरोसिस को रोकने में भी मदद कर सकता है। इसके साथ ही  Xylitol ब्लड शुगर या ग्लूकोज के स्तर को नहीं बढ़ाता है। इतना ही नहीं अन्य शुगर एल्कोहल की तरह इसका अधिक सेवन आपके पाचन तंत्र पर दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है। 

sugarblood

याकोन सिरप (Yacon Syrup)

याकोन सिरप एक और असाधारण स्वीटनर है। इसे याकोन के पौधे से काटा जाता है, जो दक्षिण अमेरिका के एंडीज में मूल रूप से पाया जाता है। यह स्वीटनर हाल ही में फैट कम करने वाले सप्लीमेंट के रूप में लोकप्रिय हो गया है। एक अध्ययन में पाया गया कि इस स्वीटनर ने अधिक वजन वाली महिलाओं को वजन कम करने में बहुत मदद की है। यह fructooligosaccharides में अधिक होती है, जो घुलनशील फाइबर के रूप में काम करता हैं और आंत में अच्छे बैक्टीरिया को खिलाने का काम करता है। याकोन सिरप कब्ज से राहत दिलाने में मदद कर सकता है और घुलनशील फाइबर की उच्च मात्रा के कारण इसके कई फायदे होते हैं।

इसे भी पढ़ेंः Ayurvedic Treatment Of Diabetes: आयुर्वेद से ठीक हो सकती है डायबिटीज? जानें डायबिटीज फ्री होने के आसान टिप्स

अस्पार्तामे (aspartame)

अस्पार्तामे को न्यूट्रास्वीट नाम से भी जाना जाता है। ये एक गैर-पोषक ( non-nutritive) स्वीटनर है, जो शुगर से 200 गुना अधिक मीठा होता है। अन्य किसी भी अलग कृत्रिम मिठास की तरह इसमें भी शून्य कैलोरी नहीं होती है लेकिन इसमें कार्ब्स की मात्रा काफी कम होती है।

Read More Articles On Diabetes In Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK