• shareIcon

Diabetes Exercise: डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है 'वाइब्रेशन' वाली एक्सरसाइज, घटता है ब्लड शुगर

लेटेस्ट By अनुराग अनुभव , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग / Aug 06, 2019
Diabetes Exercise: डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है 'वाइब्रेशन' वाली एक्सरसाइज, घटता है ब्लड शुगर

डायबिटीज (Diabetes) रोगियों के खून में घुली शुगर (Blood Sugar) को घटाने के लिए वाइब्रेशन वाली एक्सरसाइज (Exercise) बहुत फायदेमंद होती हैं। इन एक्सरसाइज से शरीर में अतिरिक्त ग्लूकोज (Excess Sugar) नहीं बढ़ता है।

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है, जिसके होने पर व्यक्ति का शरीर ग्लूकोज को ठीक से इस्तेमाल नहीं कर पाता है। ग्लूकोज शरीर में ऊर्जा (एनर्जी) का मुख्य स्रोत है। ऐसे में शरीर में सूजन बढ़ने का खतरा हो जाता है। दरअसल डायबिटीज होने के बाद व्यक्ति के शरीर में बनने वाला ग्लूकोज कोशिकाओं (सेल्स) में अवशोषित होने के बजाय, खून में घुलने लगता है। यही कारण है कि डायबिटीज के रोगी में ब्लड शुगर (Blood Sugar) काफी बढ़ जाता है।

क्यों खतरनाक है बढ़ा हुआ ब्लड शुगर? (Blood Sugar Hike Risks)

हम जो भी खाना खाते हैं, वो पेट में जाने के बाद छोटे-छोटे टुकड़ों में टूट जाता है और पाचनतंत्र इन भोजन के टुकड़ों से पोषक तत्व और ग्लूकोज अलग कर लेता है। शरीर इन पोषक तत्वों का इस्तेमाल शरीर के तमाम तरह के फंक्शन करने के लिए और अंगों को स्वस्थ रखने के लिए करता है। जबकि ग्लूकोज का इस्तेमाल शरीर ऊर्जा के लिए करता है। आप इसे ऐसे भी समझ सकते हैं कि ये ग्लूकोज हमारे शरीर के लिए 'डीजल या पेट्रोल' की तरह है, जिससे ये शरीर काम करती है। डायबिटीज रोगियों में ब्लड शुगर (खून में घुलने वाले शुगर) की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। शुगर को ही हम ग्लूकोज भी कहते हैं।

इसे भी पढ़ें:- डायबिटीज मरीज सिर्फ 3 मिनट करें ये आसान एक्सरसाइज, नहीं बढ़ेगा शुगर

शरीर में जरूरत से ज्यादा ग्लूकोज हो जाने पर शरीर में सूजन आने लगती है। शरीर के अंदरूनी अंगों में सूजन (Infllamation) के कारण ये अंग ठीक से काम नहीं कर पाते हैं और व्यक्ति बीमार हो जाता है। इसके अलावा ग्लूकोज बढ़ने के कारण शरीर में इंसुलिन का उत्पादन भी प्रभावित होता है, जो कि डायबिटीज का कारण बनता है।

वाइब्रेशन से घटता है ब्लड शुगर

हाल में हुआ एक शोध बताता है कि शरीर को वाइब्रेट करने वाली एक्सरसाइज से डायबिटीज को बहुत जल्दी कंट्रोल किया जा सकता है। आपने भी ऐसे उपकरण देखे होंगे, जिनपर खड़े होने या बैठने से पूरे शरीर में कंपन्न होने लगता है। आमतौर पर ये वाइब्रेशन मशीनें वजन घटाने के लिए प्रयोग की जाती हैं। मगर इस शोध में बताया गया है कि इससे डायबिटीज के मरीजों को भी काफी फायदा मिल सकता है। इस शोध को International Journal of Molecular Sciences में छापा गया है।

Buy Online @ 53% Discount: Sterling Power Vibration Exercise Machine, For Weight Loss And Diabetes Control,  At Offer Price of: Rs. 7499/-

डायबिटीज में कैसे फायदेमंद है वाइब्रेटर मशीन?

शोध में बताया गया है कि डायबिटीज के मरीज अगर रोजाना थोड़ा समय वाइब्रेटर मशीन पर गुजारते हैं, तो इससे उनका बॉडी ग्लूकोज बढ़ने का खतरा कम हो जाता है। पूरे शरीर में कंपकंपी पैदा करने वाले (Whole body vibration) वाली ये मशीनें बाजार में बहुत कम कीमत पर आसानी से उपलब्ध हैं। अब सवाल उठता है कि ये वाइब्रेटिंग मशीनें डायबिटीज को कंट्रोल करने में कैसे मदद करेंगी?

इसे भी पढ़ें:- इस स्वादिष्ट सब्जी से ब्लड शुगर रहेगा कंट्रोल और मिलेगी डायबिटीज से मुक्ति, जानें रेसिपी

शोधकर्ताओं ने बताया है कि पूरे शरीर के वाइब्रेशन होने पर शरीर ढेर सारे ग्लूकोज का इस्तेमाल एनर्जी के लिए करने लगता है। इससे डायबिटीज के कारण होने वाली सूजन खत्म हो जाती है और अतिरिक्त ग्लूकोज का भी इस्तेमाल हो जाता है।

मशीन नहीं है तो खेल-कूद या डांस करें डायबिटीज के मरीज

डायबिटीज रोगी अगर रोजाना थोड़ी देर कोई खेल खेलें, उछल-कूद वाली एक्सरसाइज करें या थोड़ी देर तेज गानों पर डांस करें तो भी वो खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। दरअसल डांस करने और खेल-कूद के दौरान भी शरीर में प्राकृतिक रूप से वाइब्रेशन (कंपकंपी) होती है और ऊर्जा का इस्तेमाल होता है। इसलिए डायबिटीज मरीजों के लिए ये गतिविधियां फायदेमंद हैं।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK