• shareIcon

गर्भनिरोधक गोलियों के हैं कई फायदे

Updated at: Feb 19, 2015
सभी
Written by: Shabnam Khan Published at: Feb 19, 2015
गर्भनिरोधक गोलियों के हैं कई फायदे

अनचाहे गर्भ से बचने के लिए अधिकतर महिलायें गर्भनिरोधक गोलियों को अधिक तरजीह देती हैं। गर्भनिरोधक गोलियों में संश्लेषित स्त्री हॉर्मोन, एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्ट्रोन होते हैं। इसके कुछ अन्य लाभ भी होते हैं जिनके बारे में लोगों को आमतौर पर नहीं पता हो

गर्भनिरोधक गोलियां महिलाओं को अनचाहे गर्भ से छुटकारा दिलाने का एक कारगर उपाय माना जाती हैं। बहुत सी महिलाएं इसका इसी वजह से सेवन करती हैं। लेकिन, उनमें से ज्यादातर महिलाओं को इस बात की जानकारी नहीं होती की ये गर्भनिरोधक गोलियां सिर्फ अनचाहे गर्भ से ही राहत नहीं दिलातीं, बल्कि इन गोलियों के सेवन से महिलाओं की बहुत सारी स्वास्थ्य समस्याओं से भी छुटकारा पाया जा सकता है।

गर्भनिरोधक गोलियां गर्भनिरोधन के अलावा भी महिलाओं के लिए काफी फायदे पहुंचाती हैं। आइये जानते हैं वो कौन से फायदे हैं-

मासिकधर्म चक्र को नियंत्रित करना

अधिकतर गर्भनिरोधक के पैकेट में 28 गोलिया होती हैं। 21 एक्टिव पिल (हार्मोन्स सहित) और 7 इनैक्टिव पिल्स (हार्मोन्स रहित) होती हैं। आपको आमतौर पर पीरियड्स तब होते हैं जब आप इनैक्टिव पिल्स पर होती हैं। इसलिए, और अधिक ऐक्टिव पिल्स लेकर आप अपने पीरियड्स आगे बढ़ा सकती हैं।

 

Contraceptives Pills in Hindi

 

पीरियड्स के दर्द को ठीक करना

यूट्रस द्वारा एक हार्मोन स्रावित होता है प्रोस्टैग्लैंडिंग। इस हार्मोन का उच्च स्तर पीरियड्स में दर्द का कारण बनता है। यह हार्मोन गर्भाशय के संकुचन का कारण बनता है, जिससे क्रैंप्स होते हैं। गर्भनिरोधक गोलियां खाने से ओव्यलैशन कम होता है और प्रोस्टैग्लैंडिंग का स्राव कम हो जाता है। ऐसा होने से दर्द में राहत मिलती है।

कैंसर का खतरा कम

रिटिश जर्नल ऑफ कैंसर में प्रकाशित इस अध्ययन के अनुसार, गर्भनिरोधक गोलियां और गर्भावस्था जैसे कारक शरीर में हारमोन के स्तर को बदलकर कैंसर होने के जोखिम पर असर डाल सकते हैं। अध्ययन की अनुसंधानकर्ता और आक्सफोर्ड विश्वविद्यालय की नाओमी एलन ने कहा, ‘‘डिम्बाशय के कैंसर का पता लगा पाना काफी मुश्किल होता है और इसलिए इस रोग से बचने के लिए बचाव ही एकमात्र तरीका है।’’ बीबीसी ने एलन के हवाले से कहा, ये परिणाम महत्वपूर्ण हैं क्योंकि अधिकांश महिलाओं को यह जानकारी नहीं होती कि गर्भनिरोधक गोलियों को लेने या गर्भवती होने से उनके बाद के जीवन में डिम्बाशय के कैंसर के खतरे को कम करने में मदद मिलती है।

 

woman in hindi

 

मुंहासे और त्वचा से जुड़ी अन्य समस्याएं दूर

मुंहासों की समस्या की सबसे आम वजह शरीर में हार्मोन का असंतुलित होना है। गर्भनिरोधक गोलियां शरीर में हार्मोन्स को नियंत्रित करने का काम ही करती हैं। इसके अलावा, इनकी वजह से एस्ट्रोजेन्स कम स्रावित होते हैं। इन वजहों से मुंहासे की समस्या अपने आप ही दूर हो जाती है।

इस तरह से, गर्भनिरोधक गोलियां महिलाओं के लिए कुछ अन्य फायदे भी कर सकती हैं।


Image Source - Getty Images

Read More Articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer

इस जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी ओन्लीमायहेल्थ डॉट कॉम की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy. OK